Submit your post

Follow Us

पड़ताल: इसराइल-फ़लस्तीन तनाव के बीच अल-अक्सा मस्जिद पर हमले की है ये तस्वीर?

दावा

इसराइल-फ़लस्तीन के बीच तनाव जारी है. दोनों देशों ने एक-दूसरे पर रॉकेट दागे हैं. इसराइल की ओर से किए गए हमलों से फ़लस्तीन के गाज़ा पट्टी इलाके में कई इमारतें ध्वस्त हो गई हैं. यूं तो इसराइल-फ़लस्तीन तनाव दशकों पुराना है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से पूर्वी जेरूसलम में कुछ फ़लस्तीनी परिवारों को इसराइल की ओर से बलपूर्वक निकालने की कोशिश हुई, जिसका फ़लस्तीनियों ने विरोध किया.

रमज़ान माह के आखिरी शुक्रवार (7 मई 2021) को अल-अक्सा मस्जिद (इस्लाम का तीसरा सबसे पवित्र स्थल) में फ़लस्तीनियों और इसराइल सुरक्षा बलों के बीच टकराव हुआ. इसमें कइयों को चोटें आईं. तब से दोनों ओर से आक्रामक हमले लगातार जारी हैं. तमाम खौफ़नाक तस्वीरें और वीडियोज़ इसकी तस्दीक करते हैं.

इस बीच इसराइल-फ़लस्तीन तनाव और अल-अक्सा मस्जिद को जोड़ती एक तस्वीर वायरल हो रही है. इसे दिखाकर दावा किया जा रहा है कि इसराइली सुरक्षा बलों ने अल-अक्सा मस्जिद को तोड़ दिया है.

फेसबुक पर ‘श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या धाम’ नाम के ग्रुप में यूज़र प्रशांत जायसवाल ने ये दावा किया है. (आर्काइव)

वायरल दावा.
वायरल दावा.

ऐसे कई दावे फेसबुक पर वायरल हैं.

ट्विटर पर भी ये तस्वीर शेयर की जा रही है

पड़ताल

हमारी पड़ताल में ये दावा भ्रामक निकला. सोशल मीडिया पर वायरल हो रही ये तस्वीर जेरूसलम में स्थित अल-अक्सा मस्जिद की नहीं है. ये गाज़ा पट्टी में साल 2014 में इसराइल की ओर से किए गए हमले की तस्वीर है. हालांकि 7 मई 2021 को अल-अक्सा मस्जिद के परिसर में इसरायली सेना और फ़लस्तीनियों के बीच झड़प हुई थी.

सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल रिवर्स इमेज सर्च का इस्तेमाल किया. हमने पाया कि ये तस्वीर 29 जुलाई 2014 की है. फ़लस्तीनी संगठन हमास और इसराइली सेना के बीच उन दिनों भी तनाव चरम पर था.

ये तस्वीर ‘यूरोपियन प्रेसफोटो एजेंसी (EPA)’ की है. ‘द वॉल स्ट्रील जर्नल’ की 29 जुलाई 2014 की एक रिपोर्ट में ये तस्वीर छपी है. रिपोर्ट में बताया गया-

इसराइल ने गाज़ा के इकलौते पावर प्लांट को निशाना बनाया था. इससे गाज़ा की 18 लाख की आबादी में से ज्यादातर अंधेरे में डूब गए थे. गाज़ा के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, 8 जुलाई से 29 जुलाई 2014 के बीच हुए इन हमलों में 1200 फ़लस्तीनियों की जान चली गई थी. वहीं इसराइल के 53 सैनिक और 3 नागरिकों की मौत हुई थी.

'द वॉल स्ट्रीट जर्नल' की रिपोर्ट.
‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ की रिपोर्ट.

EPA की ये फोटो- ‘बीबीसी‘, ‘न्यू यॉर्क पोस्ट‘ वेबसाइट पर भी प्रकाशित हुई थी.

आज यानी साल 2021 में भी फ़लस्तीन और इसराइल के बीच तनाव जारी है. इसराइल ने गाज़ा के रिहाइशी इलाकों को निशाना बनाया है. जवाबी कार्रवाई में फ़लस्तीन ने सैकड़ों रॉकेट इसराइल की ओर छोड़े हैं. ताजा तस्वीरें आप इस लिंक पर देख सकते हैं.

नतीजा

वायरल हो रही तस्वीर अल-अक्सा मस्जिद की नहीं है. ये 2014 में इसराइल की ओर से गाज़ा पट्टी में पावर प्लांट को निशाना बनाकर किए गए हमले की तस्वीर है. हालांकि, फ़लस्तीन-इसराइल के बीच तनाव चरम पर है और ऐसी कई ख़ौफनाक़ तस्वीरें सामने लगातार सामने रही हैं.

पड़ताल अब वॉट्सऐप पर. वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.


वीडियो: क्या होम्योपैथिक दवा ASPIDOSPERMA Q वाकई ऑक्सीजन लेवल बढ़ा देती है?

पड़ताल: इसराइल-फ़लस्तीन तनाव के बीच अल-अक्सा मस्जिद पर हमले की है ये तस्वीर?
  • दावा

    इसराइल ने अल-अक्सा मस्जिद तोड़ दी.

  • नतीजा

    तस्वीर साल 2014 में इसराइल-फलस्तीन तनाव की है जिसमें इज़रायल ने गाज़ा पट्टी के पावर प्लांट को निशना बनाया था.

अगर आपको भी किसी जानकारी पर संदेह है तो हमें भेजिए, padtaalmail@gmail.com पर. हम पड़ताल करेंगे और आप तक पहुंचाएंगे सच.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पड़ताल

पड़ताल: नाक में नींबू का रस डालने से कोरोना वायरस ठीक नहीं होता, वायरल वीडियो भ्रामक है

स्वास्थ्य मंत्रालय और AIIMS, दिल्ली के डॉक्टर ने इस बारे में जो बताया, यहां पढ़िए!

पड़ताल: फिटकरी का पानी पीने से कोरोनावायरस नहीं मरेगा, उल्टा दिक्कत हो सकती है

अख़बार की कटिंग वायरल कर दावा, 'बिहार के कई लोग इससे ठीक हुए.'

पड़ताल: होम्योपैथिक दवा ASPIDOSPERMA-Q से ऑक्सीजन लेवल नहीं बढ़ेगा, दावा भ्रामक है

इससे पहले आर्सेनिक एल्बम नाम की होम्योपैथिक दवा को भी इलाज बताया गया था.

पड़ताल: इस पर्चे में वैक्सीन के बारे में लिखे दावे भ्रामक हैं, पढ़िए पूरी सच्चाई

कोरोना को षड्यंत्र मानने और मास्क जलाने की बातें करने वालों ने ये पर्चा जारी किया है.

पड़ताल: क्या राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने इस "मंदिर को दरगाह बनाने की कोशिश की?"

सोशल मीडिया पर वायरल हनुमानगढ़ के 'शिला पीर' की सच्चाई क्या है?

पड़ताल: हिंदू ने तोड़ी मंदिर की मूर्तियां, सुदर्शन टीवी और सुरेश चव्हाणके ने मुस्लिमों को निशाना बनाया

नवरात्रे शुरू होने से पहले द्वारका, दिल्ली के ककरौला में मूर्तियां खंडित मिली थीं.

पड़ताल: पुलिसवाले ने गुस्से में दो लोगों को सरेराह गोली मार दी? जानिए इस वीडियो का सच

वीडियो में गोली चालते शख़्स ने हमें खुद बताई सच्चाई.

पड़ताल: क्या किसी चीज़ को छूने पर करंट 5G रेडिएशन की वजह से लग रहा है?

किसी चीज़ या शख़्स को छूने पर करंट लगने के मामलों में बढ़ोतरी की बातें सोशल मीडिया यूज़र्स लिख रहे हैं.

पड़ताल: उत्तराखंड के जंगलों में भीषण आग लगी है, पर ये दर्दनाक तस्वीर वहां की नहीं

ये तस्वीर पहले तुर्की और ब्राज़ील के नाम पर वायरल हो चुकी है.

पड़ताल: गुजरात में 'आतंकी पकड़ने' का वीडियो लाखों बार देखा गया, पर सच्चाई कुछ और है

गुजरात के दाहोद स्टेशन में आतंकी पकड़ने का दावा करता वीडियो भ्रामक है.