Submit your post

Follow Us

राम रहीम की सज़ा पर सबसे सही बात इस आदमी ने बोली है!

vineet singh विनीत दी लल्लनटॉप के रीडर और पक्के वाले दोस्त हैं. बलिया से हैं. जहां से चंद्रशेखर प्रधानमंत्री बने थे. उन्हीं ने देवस्थली विद्यापीठ स्कूल खोला था जिस स्कूल में पढ़े हैं विनीत. आजकल मुंबई में रहते हैं और वहीं से दुनिया देख रहे हैं. अपने देखे सुने का तमाम एक्सपीरिएंस लल्लन के साथ भी बांटते हैं. अपने दोस्त मकालू से परेशान रहते हैं, उसके किस्से भेजते हैं. आप भी पढ़िए.


makalu 1

कई दिनों से टीवी पर, अख़बारों में, फेसबुक पर, हर जगह एक ही शख्स की बात चल रही है .

इसका नाम जितना लंबा हैं, उसका कारनामा उससे भी कहीं ज्यादा लंबा है. बाबा डॉक्टर गुरुमीत राम रहीम सिंह जी ‘इंसान’- ऐसा मैं नहीं कहता, ऐसा मुझे मेरे दोस्त मकालू ने बताया.

आज चौराहे पर मिल गया. मैंने पूछा- मकालू, ये कौन से बाबा हैं जिनकी वजह से इतनी अफरा तफरी मची हुई है? सुना कि बाबा रेप के जुर्म में सजा पा गए हैं और उनके भक्त उन पर नाराज होने के बजाय उल्टे अपना और दूसरों का नुक़सान करने पर उतारू हैं, सुना काफी लोग भी मारे भी गए.

गुरमीत राम रहीम
ऐसे हाथ जोड़कर खड़े रहे कोर्ट में, फिर भी किसी ने न सुनी :(

मकालू बोला- गुरु तुम किस दुनिया में रहते हो? बाबा राम रहीम को नहीं जानते? दुनियादारी की कुछ तो खोज खबर रखा करो. तुमने कभी इनका महामंत्र “You are the Love charger” भी नहीं सुना?

नहीं.

उनके डेरे के बारे में तो सुना होगा?- मकालू ने फिर पूछा.

बहुत बड़े वाले हो यार, जब कह रहा हूं कि बाबा को नहीं जानता तो समझ लो न कि कुछ भी नहीं जानता इनके बारे में. मुझे मकालू इरिटेट कर रहा था.

मकालू बोला- गुरु तुम्हारे जैसे लोग ही ऐसे बाबाओं के भक्त बनते हैं. जिन्हें दुनियादारी की कोई खबर नहीं होती. फिर कभी जीवन में थोड़ी ऊंच नीच हुई नहीं कि पहुंच जाते हो बाबाओं के डेरे पर कृपा लेने. और जब ऐसे बाबे पकड़ कर किसी भक्त की बैटरी चार्ज कर देते हैं तब समझ में आता है कि डेरा सच्चा सौदा नहीं बल्कि गलत सौदा हो गया डेरे पर.

मेरा मन हुआ की मकालू को पकड़ कर कूट दूं. मैंने कहा- कभी मुझसे तमीज से भी बात कर लिया करो. और भला जनता कि क्या गलती है इसमें? क्या पब्लिक साधु-संतों की इज्जत करना छोड़ दे?

काश किसी जज को भी 'चार्ज' किया होता
काश किसी जज को भी ‘चार्ज’ किया होता

मकालू को मेरे गुस्से से कभी भी फर्क नहीं पड़ता था. अभी भी नहीं पड़ा. बोला- गुरु कितनी बार तुम्हें समझाऊं कि साधु और संत होने में फर्क होता है. एक वेशभूषा विशेष को साधु कहते है जबकि संत होना एक आध्यात्मिक अवस्था है. तुमने अभी गेरुआ कपड़ा पहना नहीं कि बन गए साधु लेकिन संत तो शायद पूरी जिंदगी में भी न बन पाओ और ये बाबा तो साधु वाली वेशभूषा में भी नहीं रहता था.

मुझे मकालू की बात थोड़ी ठीक लगी, मैं थोड़ा नार्मल हो गया. मैंने पूछा- एक आखिरी बात बताओ मकालू, ये बाबा अपने नाम के साथ इंसान क्यों लगाता है?

ताकि उसकी फिल्मों और उसकी हरकतों से जब भी हैरत हो कि आखिर ये कौन सी प्रजाति से है तो नाम पढ़ कर लोगों का यकीन बना रहे कि इंसान ही है.

बाकी इस महागुरु ने प्यार, शांति और सौहार्द्र का जो पाठ अपने भक्तों को सिखाया है उसका प्रदर्शन देख ही रहे हो.

मेरे मन की जिज्ञासा शांत हो गई थी. लेकिन मकालू का ज्ञान बिना किसी कमर्शियल ब्रेक के लगातार जारी था- गुरु गलती लोगों की है, गलती मेरी और तुम्हारी है. दरअसल हम बहुत जल्दी किसी को भी अपना राजनैतिक या आध्यात्मिक गुरु बना लेते हैं. हम उनके कर्रे वाले भक्त और फिर उनके अघोषित लठैत बन जाते हैं. उनका किया हर कारनामा हमें सिर्फ और सिर्फ सही लगता है. हम कभी भी उन पर कोई भी सवाल नहीं खड़ा करते. बल्कि उल्टे सवाल खड़ा करने वालों का मुंह नोचने पर उतारू हो जाते हैं. और ऐसे चालाक लोग हमारी बेवकूफी का तब तक फायदा उठाते रहते हैं जब तक हम ऐसी ही किसी अफरा तफरी में कभी मारे नहीं जाते.

कुछ और पूछना है? मकालू ने पूछा.

मैं इसके आगे क्या पूछता, मकालू के उठाए कई सवाल खुद मेरे सामने ही खड़े हो गए थे जिनका जवाब मुझे खुद ढूंढना था.
मैंने मकालू से सलाम दुआ किया और आगे बढ़ लिया.

जाते जाते ये काम का वीडियो देखते जाओ.


ये भी पढ़ें:

‘बराला कांड’ पर सबसे सही बात इस आदमी ने कही है!

 गाय दूध देना बंद कर दे तो उसका क्या होता है?

घर और काम की टेंसन से मुक्ति चाहिए तो बाबा के पास नहीं, मेरे साथ ‘बी बा’ चलो: मकालू

क्या पीएम मोदी सच में कभी छुट्टी नहीं लेते?

भौकाली अप्रेजल लपकना है तो ‘मकालू कोचिंग’ जॉइन करो

सोशल मीडिया पर गालियों से बचना है तो ‘बच्चन अन्ताब’ बन जाओ

सूट बूट पहना के बिठा देने से कोई पत्रकार नहीं हो जाता: मकालू

अगर आप भी सिगरेट और चाय उधार की पीते हैं तो ये पढ़िए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.