The Lallantop
Logo
लल्लनटॉप का चैनलJOINकरें

मीराबाई चानू ने 'खेलो इंडिया' वेटलिफ्टिंग टूर्नामेंट में RECORD किया मिस!

मीराबाई चानू ने मिस किया रिकॉर्ड.

post-main-image
मीराबाई चानू (फोटो: ट्विटर)

ओलम्पिक पदक विजेता मीराबाई चानू ने पहले खेलो इंडिया (Khelo India) महिला वेटलिफ्टिंग लीग टूर्नामेंट में गुरुवार 16 जून को गोल्ड मेडल जीत लिया. हालांकि इस जीत के बावजूद वो स्नैच (snatch) में नेशनल रिकॉर्ड बनाने से चूक गईं. टोक्यो ओलम्पिक (Tokyo Olympic) की सिल्वर मेडलिस्ट चानू ने 49 किलो के सीनियर वर्ग में स्नैच और क्लीन एंड जर्क में 191 किलो ( 86 और 105 किलो ) वजन उठाया.  स्नैच के पहले प्रयास में चानू ने 86 किलो और क्लीन एंड जर्क में 105 किलो भार उठाया.

चानू ने स्नैच सेक्शन के अपने पहले प्रयास में 86 किलो वजन उठाकर सफल शुरुआत की. लेकिन दूसरे और तीसरे प्रयास में वो 89 किलो वजन नहीं उठा सकीं.  इस सेक्शन का नेशनल रिकॉर्ड और उनका पर्सनल बेस्ट रिकॉर्ड 88 किलो का है जो उन्होंने 2020 नेशनल चैम्पियनशिप के दौरान उठाया था. चानू अपने स्नैच पर लगातार  काम कर रही हैं. क्योंकि यही उनकी कमज़ोरी मानी जाती है. बात अगर क्लीन एंड जर्क सेक्शन की करें तो उन्होंने अपने पहले प्रयास में 105 किलो वजन उठाया जो की इस सेक्शन में उनके 119 किलो के वर्ल्ड रिकॉर्ड लिफ्ट से काफी कम है. पहले प्रयास के बाद उन्होंने दूसरा प्रयास नहीं लिया. 

पूर्व वर्ल्ड चैम्पियन रही चानू अब अपने तीसरे कामनवेल्थ गेम्स मेडल के लिए तैयारी कर रही हैं. वो काफी समय से 90 किलो के टार्गेट के लिए प्रयास कर रही हैं.  27 साल की मीराबाई चानू के बाद 49 किलो के सीनियर वर्ग में ज्ञानेश्वरी यादव ने 170 किलो उठा कर दूसरा स्थान हासिल किया. उनके बाद एशियाई वेटलिफ्टिंग चैम्पियनशिप में 45 किलो वेट कैटेगरी की पूर्व गोल्ड मेडलिस्ट विजेता झिल्ली डालाबेहरा ने 166 किलो भार उठा कर तीसरा स्थान प्राप्त किया. इसके अलावा ज्ञानेश्वरी यादव ने 49 किलो जूनियर वर्ग में भी स्वर्ण पदक जीता जबकि संजू देवी दूसरे और वी. रितिका तीसरे स्थान पर रही. 49 किलो यूथ इवेंट की बात करें तो इसमें महाराष्ट्र की आरती तत्गुंती ने 148 किलो वजन उठाकर गोल्ड मेडल जीता. जबकि असम की पंचमी सोनोवाल दूसरे और हरियाणा की हिमांशी तीसरे स्थान पर रही. 

पहले खेलो इंडिया महिला वेटलिफ्टिंग लीग टूर्नामेंट से इंडियन वेटलिफ्टिंग फेडरेशन (IWLF) को अपनी नेशनल रैंकिंग बनाने में सहायता मिलेगी और वेटलिफ्टर्स को कम्पीट करने के और अवसर भी मिलेंगे.