Submit your post

Subscribe

Follow Us

चुनाव के वक़्त अपने किन वीडियोज के वायरल होने से डर रहे हैं कुमार विश्वास

कुमार विश्वास भी भावना आंटी के आहत होने से परेशान हैं. तो लाइव आए, फेसबुक लाइव बहुत सही चीज है. आदमी कंबल ओढ़े-ओढ़े पीएम से पूछ सकता है, इस साल की गजक मीठी काहे नहीं है जी? लेकिन कुमार विश्वास लाइव जाएं तो बड़ी बात होती है. काहे के वो बड़े आदमी हैं. उनके फेसबुक पेज पर लाइक बहुत ज्यादा हैं, उसके आठ गुना कम वोट पाकर राहुल गांधी अमेठी से चुनाव जीत गए थे. जित्ते कुमार विश्वास की अपडेट पर लाइक आ जाते हैं उतने तो खुद कुमार विश्वास को वोट नहीं मिले थे.

तो तमाम बातों के बीच एक बात उनने कही, बताया मैं सालों से शो करता आया हूं. लेकिन जैसे ही चुनाव आते हैं. भावना आहत होने लगती है. ऐसे वीडियोज आना शुरू हो जाते हैं जिससे लोग ऑफेंड होने लगते हैं. और जाहिर सी बात है, ऐसे तमाम वीडियोज कटे-पिटे होते हैं. पुराने होते हैं. कुमार बताइन पहले 48 और 52 सेकंड के आते थे. अब 8 और 10 सेकंड के आने लगे हैं. तो हमने खोजा वो कौन से वीडियो हैं, जिन्हें खोद कर निकाला जाता है और भावनाएं आहत कराई जाती हैं. आखिर कउन से हैं वो वीडियो जिनकी बात कुमार विश्वास कर रहे थे.

एक ये वीडियो, जिसके जरिये कहा जाता है कुमार विश्वास ने इस्लाम और हुसैन साहब का अपमान किया है. भावनात्मक लोग चाहें तो सेव कर लें.

ये वीडियो जिसमें उन्होंने केरल से आई नर्सों पर टिप्पणी की थी.

और ये वो वाला जो सबसे ऑफेंडिंग माना जाता है, जिसमें उन्होंने शंकर जी पर टिप्पणी की थी.

एक ये वाला जिसमें वो तमाम अवॉर्ड्स के लिए कुछ कह रहे हैं, हालांकि इससे लोग ज्यादा आहत नहीं हुए, काहे के वो अवॉर्ड पाए लिखने-पढने वालों और अवॉर्ड्स लौटाने वालों से पहले ही आहत हुए रहते हैं.

एक ये जो हाल में ही चढ़ा है, तेरह सेकंड का है, और इसमें पंजाबियों पर चुटकुला है. पंजाब में चुनाव है और शायद इसी वीडियो की बात कुमार कर भी रहे थे.

तो ये वीडियोज हैं मोटा-मोटी. और कुछ आपके हाथ लगें तो आप भी साझा कीजिए. हम स्टोरी में जोड़ेंगे.भगत-सनेही अपनी श्रद्धा से शेयर करें. डाउनलोड करें व्हाट्सएप पर फैलाएं. आआपा कार्यकर्ता इसे डिफेंड हेतु ले जाएं, काउंटर लॉजिक दें. कांग्रेस के कार्यकर्ता क्या करें कि… बताएं. बताएं ये कि कांग्रेस में कार्यकर्ता भी होते हैं?


 

ये भी पढ़ें 

दिल्ली के अपने विधायक को पंजाब में चुनाव लड़ाने ले जा रहे केजरीवाल

ट्विटर पर कुमार विश्वास और रिजिजू के बीच ‘भभ्भड़’ मच लिया!

AAP लोग प्लीज सोशल मीडिया ट्रेनिंग ले लो, लोग मजाक उड़ाते हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

दुनिया भर के शहर फेल हैं हिंदुस्तान के इन गांवों के आगे

दुनिया भर में अनोखे हैं ये सब के सब.

10 मौके जब नेताओं ने जूते, माइक और कुर्सियां चलाकर हमारी छाती चौड़ी की

तमिलनाडु विधानसभा में जो हुआ वो पहली बार नहीं है. और भी मंजर आए हैं ऐसे.

अब सुरक्षा के लिए विधानसभा में स्पीकर हेलमेट पहनकर बैठेंगे

तमिलनाडु में कुर्सियां तोड़कर विधायकों ने बताया उन्हें कुर्सियों का कोई मोह नहीं है.

फिल्म अग्निपथ की वो 10 बातें, जो फिल्म की कहानी से भी रोचक हैं

आज फिल्म को रिलीज हुए 27 साल हो गए हैं.

'जब ये नेता पैदा हुआ तो आसमान में दो-दो इंद्रधनुष निकले थे'

हरकतें ऐसी कि 'रजनीकांत' छोटे पड़ जाएं. आज बड्डे है.

स्लैप डे मनाने वाले भी नहीं जानते होंगे थप्पड़ के दस रूप

लप्पड़-थप्पड़, फोहा-चमाट, कंटाप-टीप-लाफा. पड़ा तो होगा ही. पर फर्क पता है इनके बीच का?

लड़कियां अपना टॉप क्यों ऊपर खींचें, कांख क्यों ढंकें?

देखिए 4 नए ऐड, जो हमारी आंखें खोल देंगे.

खुशनसीब थे ग़ालिब जो फेसबुक युग में पैदा न हुए

आज के दिन दुनिया से रुखसत हुए थे. पढ़िए 2017 के गालिब की शायरी.

ग़ालिब हम शर्मिंदा हैं, ग़ज़ल के क़ातिल ज़िंदा हैं

15 फरवरी को दुनिया से रुखसत हुए चचा को कुछ लोग रोज़ मार डालते हैं.

कुमार विश्वास के वो जोक्स जिन पर पब्लिक आज भी तालियां बजाती नहीं थकती

आज कुमार विश्वास का हैप्पी बड्डे है. तो पढ़ लो.

पोस्टमॉर्टम हाउस

इस ऐड ने मुझे बताया, मेरे पापा आदर्श पापा नहीं हैं

क्योंकि उन्होंने मेरा 'बेस्ट' नहीं चाहा.

फिल्म रिव्यू : रनिंग शादी से डॉट कॉम हटवाने वालों पे रोना आया

न ये बहुत अच्छी है न बहुत बुरी. न ये पकाती है, न ये बहुत ही क्लास है. न ये बहुत स्लो है, न उबाऊ.

ये नया ऐड देख लिया तो आप एक बार फिर उल्लू बन गए हैं

हीरा है सदा के लिए? या सदा हमें बेवकूफ बनाने के लिए?

मुगले-आजम आज बनती तो Hike पर पिंग करके मर जाता सलीम

जब अनारकली ने इयरफोन निकाल कहा 'एक्सक्यूज मी. आई वॉज चेकिंग माय व्हाट्सएप.'

फ़िल्म रिव्यू - जॉली LLB 2

जनता का हीरो अक्षय कुमार!

'फिल्लौरी' का ट्रेलरः अनुष्का का रोल एेसा है कि हीरोइन्स के करियर खत्म हो जाते हैं

क्या उनके लिए भी ये करियर सुसाइड साबित होगा?

बस पांडू हवलदार नहीं थे भगवान दादा: 34 बातें जो आपको ये बता देगी!

हिंदी सिनेमा का डीएनए तैयार करने वाले शुरुआती दिग्गजों में से एक थे भगवान अभाजी पलव. 1 अगस्त 1913 को जन्मे भगवान दादा 4 फरवरी 2002 में गुजर गए. आज उनकी बरसी है. उन्हें याद कर रहे हैं.

‘सिर्फ मदरसों में ही पढ़ कर अल्लाह से मुहब्बत की जा सकती है?'

मुस्लिम समाज की सबसे बुनियादी समस्या को छूती फिल्म 'अलिफ़' के बारे में पढ़ें.

फिल्म रिव्यू: रईस

देखकर दिमाग उड़ी उड़ी जाए.