Submit your post

Follow Us

16 साल की उम्र में इंदिरा गांधी ने फिरोज़ का पहला प्रपोज़ल ठुकरा दिया था

54.71 K
शेयर्स

देश की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के अपने पति से रिश्ते अच्छे नहीं थे. इंदिरा ने गुजराती पारसी फिरोज गांधी से शादी की थी, लेकिन उसके बाद जो हालात बने, उन्होंने दोनों के रिश्ते में खटास पैदा कर दी.

इंदिरा इलाहाबाद से ही फिरोज को जानती थीं, लेकिन ब्रिटेन में रहने के दौरान दोनों की अकसर मुलाकात होती. 12 सितंबर, 1912 को पैदा होने वाले फिरोज उस वक्त वहां लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में पढ़ रहे थे.

16 साल की उम्र में ही इंदिरा फिरोज का पहला प्रपोजल ठुकरा चुकी थीं. लेकिन इसके तीन साल बाद 1936 में मां की मौत ने उन्हें बहुत उदास कर दिया. तब उन्हें फिरोज के कंधों का सहारा मिला और दोनों में करीबी बढ़ी.

देहरादून जेल में इंदिरा ने अपने पिता (नेहरू) को फिरोज से शादी करने के अपने फैसले के बारे में बिना भावुक हुए बताया. नेहरू ने कोई तर्क करना ठीक नहीं समझा. उन्होंने काफी संयम बरतते हुए इंदिरा को याद दिलाया कि डॉक्टरों ने उन्हें इतने कमजोर स्वास्थ्य के मद्देनजर प्रेग्नेंसी के खिलाफ सावधान किया था.

पिता नेहरू के साथ इंदिरा. फोटो: इंडिया टुडे
पिता नेहरू के साथ इंदिरा.                                                                         

इंदिरा मानी नहीं. उन्होंने पिता से कहा कि वह चकाचौंध से दूर तनावमुक्त जिंदगी चाहती हैं. शादी करना, बच्चों को पालना चाहती हैं और ऐसा घर चाहती हैं जिसमें पति हो, संगीत हो, दोस्त और किताबें हों.

नेहरू यह सुनकर हैरान रह गए. अपनी डायरी में नेहरू ने लिखा है, ‘वह इतनी अपरिपक्व थी- या शायद मुझे ऐसा लगता है- इसीलिए वह चीजों को सतही तौर पर देख पाती है. उसे उनकी गहराई में जाना चाहिए, इसमें वक्त लगेगा. मेरा ख्याल है कि उस पर दबाव ज्यादा नहीं है, वरना झटके लग सकते हैं.’

माना जाता है कि नेहरू इंदिरा और फिरोज से बहुत खुश नहीं थे, लेकिन उन्होंने अपनी निराशा छिपा ली थी. इलाहाबाद में 1942 में दोनों ने शादी कर ली. 1944 में इंदिरा को पहली संतान हुई, नाम रखा गया राजीव. लेकिन शादी के बाद जब इंदिरा राजनीति में सक्रिय होने लगीं और पिता की सहायक की भूमिका में आ गईं तो यह रिश्ता कमजोर पड़ने लगा.

इंदिरा की बायोग्राफी में पुपुल जयकर लिखती हैं, ‘पिता की जरूरतों के मद्देनजर आनंद भवन, इलाहाबाद और पति को छोड़ पिता के पास जाकर रहने का फैसला बड़ा फैसला था.’

इस बीच फिरोज ने अखबार ‘नेशनल हेरल्ड’ का कार्यभार संभाल लिया. इस अखबार की स्थापना 1937 में नेहरू ने की थी. पुपुल ने लिखा है कि इंदिरा से अलग होकर फिरोज लखनऊ में एक मशहूर-जमींदार मुस्लिम परिवार की एक महिला के प्रेम में पड़ गए. इंदिरा तक जब यह बात पहुंची, तब वो दोबारा गर्भवती थीं और दिसंबर 1946 के अंत में डिलीवरी होने वाली थी.

फिरोज़ के साथ इंदिरा.
फिरोज़ के साथ इंदिरा.

पति-पत्नी के संबंध और बिगड़ते गए. दोनों राजनीति में आगे बढ़े, लेकिन निजी और राजनैतिक मतभेद भी बढ़े. सितंबर 1958 में इंदिरा पिता के साथ भूटान दौरे पर गईं. इंदिरा ने वर्षों बाद घर और राजनीति के तनाव से निजात पाई थी. लेकिन सफर के बीच में ही उन्हें संदेश मिला कि फिरोज को दिल का दौरा पड़ा है. जब तक इंदिरा लौटीं, फिरोज खतरे से बाहर हो गए. इसके बाद दोनों में समझौता हो गया. पुरानी यादें सजीव हो उठीं. दोनों बेटों के साथ वे एक महीने की छुट्टी पर श्रीनगर चले गए. इंदिरा ने पति की प्यार से सेवा की, लेकिन दिल्ली आते ही यह करीबी फिर दूरी में तब्दील हो गई.

कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष के तौर पर इंदिरा का नाम प्रस्तावित किया गया. फिरोज को अपने शादी के रिश्ते पर यह आखिरी प्रहार लगा. वह अपने घर में सिमट गए और प्रधानमंत्री के घर आना-जाना बंद कर दिया. 2 फरवरी को 41 की उम्र में इंदिरा कांग्रेस अध्यक्ष चुन ली गईं.

फिरोज अपने 48वें जन्मदिन से पहले ही चल बसे. इंदिरा भावशून्य हो गईं. दोनों के कई साल लड़ते-झगड़ते बीते थे, लेकिन इसके बावजूद मीठी यादें शेष थीं, जिन्होंने इंदिरा को उदास कर दिया. उनकी मां की मौत के समय फिरोज ने उन्हें जो सहारा दिया, उसकी वह हमेशा एहसानमंद रहीं.

डोरोथी नॉरमन को उन्होंने 24 सितंबर को लिखा, ‘क्या यह अजीब बात नहीं है कि जब आप भरे-पूरे होते हैं तो हवा की तरह हल्का महसूस करते हैं और जब खाली होते हैं तो हताशा घेर लेती है.’

अपने दामाद के साथ नेहरू के कभी अच्छे संबंध नहीं रहे थे. फिरोज को श्रद्धांजलि देने आए लोगों की भीड़ देखकर वह हैरान थे.

स्रोत: पुपुल जयकर की लिखी इंदिरा गांधी की बायोग्राफी


ये स्टोरी ‘दी लल्लनटॉप’ के लिए कुलदीप ने की थी.


लल्लनटॉप वीडियो देखें: 


ये भी पढ़ेंः

एक अदना कार्टूनिस्ट जो खूंखार बाल ठाकरे, इंदिरा गांधी को मुंह पर सुना देता था

अटल बिहारी ने किसे किताब में रख भेजा था प्रेमपत्र. 5 नए किस्से

वो एक्ट्रेस जिनकी फिल्म ने इंदिरा गांधी को डरा दिया था

फेसबुक पर महिला का दावा, संजय गांधी मेरे बाप हैं

दोस्त दोस्त न रहा: बिहार सरकार ने इंदिरा गांधी को कहा तानाशाह

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गंदी बात

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

उस अंधेरे में बेगम जान का लिहाफ ऐसे हिलता था, जैसे उसमें हाथी बंद हो.

PubG वाले हैं क्या?

जबसे वीडियो गेम्स आए हैं, तबसे ही वे पॉपुलर कल्चर का हिस्सा रहे हैं. ये सोचते हुए डर लगता है कि जो पीढ़ी आज बड़ी हो रही है, उसके नास्टैल्जिया का हिस्सा पबजी होगा.

बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

मां-बाप और टीचर बच्चों को पीट-पीट दाहिने हाथ से काम लेने के लिए मजबूर करते हैं. क्यों?

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

और बिना बैकग्राउंड देखे सेल्फी खींचकर लगाने वाली अन्य औरतें.

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

पढ़िए फिल्म 'पिंक' से दर्जन भर धांसू डायलॉग.

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

ऐसा क्या हुआ, कि सरे राह दौड़ा-दौड़ाकर उसकी हत्या की?

हिमा दास, आदि

खचाखच भरे स्टेडियम में भागने वाली लड़कियां जो जीवित हैं और जो मर गईं.

अलग हाव-भाव के चलते हिजड़ा कहते थे लोग, समलैंगिक लड़के ने फेसबुक पोस्ट लिखकर सुसाइड कर लिया

'मैं लड़का हूं. सब जानते हैं ये. बस मेरा चलना और सोचना, भावनाएं, मेरा बोलना, सब लड़कियों जैसा है.'

ब्लॉग: शराब पीकर 'टाइट' लड़कियां

यानी आउट ऑफ़ कंट्रोल, यौन शोषण के लिए आमंत्रित करते शरीर.

औरतों को बिना इजाज़त नग्न करती टेक्नोलॉजी

महिला पत्रकारों से मशहूर एक्ट्रेसेज तक, कोई इससे नहीं बचा.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.