Submit your post

Follow Us

'कौन सी जात की हो, कमरे पर लड़कों को लाओगी?'

वो– देखो बेटा, हमारे यहां कोई परेशानी नहीं होगी.
मैं– ठीक है आंटी, रूम मुझे पसंद है. कब शिफ्ट कर लूं.
वो– ये तो बता दो, कौन सी जात-बिरादरी से हो.
मैं– मतलब? जात से आपको क्या करना है?
वो– नहीं, पता तो होना चाहिए न. (हंसते हुए) मतलब जाट-च## तो नहीं हो न?
मैं– मैं जात नहीं मानती. मीडिया हाउस में काम करती हूं, बस इतना जान लीजिए.
वो– नहीं बेटा, अपनी बिरादरी तो पता होगी तुमको?
मैं– नहीं.
वो– बेटा, वो तो पुलिस वाले भी पूछेंगे.
मैं– पुलिस क्यों पूछेगी?
वो- वेरीफिकेशन के लिए बेटा.
मैं– अच्छा आंटी, नमस्ते.

अब मान लीजिये वो लड़की जाट ही हो, तो उसे कमरा लेकर रहने का हक़ नहीं है? और बहाना ये कि पुलिस वेरीफिकेशन में जात पूछी जाती है.

असल में ऐसे लोगों ने अपनी दुनिया पंद्रह सौ स्कवॉयर फीट से बड़ी होने ही नहीं दी. अपने उसी मकान में जात के पौधे को सींच रहे हैं. सिर्फ यही नहीं, तमाम किस्से सुनने को मिलते हैं जब कमरा ढूंढने वाले को ऐसे वाहियात सवालों के जवाब देने पड़ते हैं.

मेरा दोस्त जॉन एक नए शहर में पहली नौकरी करने पहुंचा. दफ्तर में बड़ी आवभगत हुई. चलो एक क्रिश्चयन आया. कमरा ढूंढने निकला तब उसे पता चला कि उसके कुछ ‘हुनर’ खुद उसे भी नहीं पता थे.

किसी ने कहा, अच्छा ईसाई हो, शराब तो पीते होगे, हमारे यहां नहीं चलता.

कोई बोला,हमारे यहां मांस नहीं पकता.

उसने बताया भी कि मैं शराब नहीं पीता और घर में नॉन-वेज भी नहीं बनाऊंगा.

मगर कोई नहीं माना. किसी ने बताया कि उनके पिता जी नहीं मान रहे तो किसी का खाली कमरा, जॉन का नाम सुनते ही भर गया.

***

शिवानी अपने दोस्त के साथ कमरा ढूंढने गई. सब कुछ पसंद आ गया. फिर आंटी प्यार से बोली, ‘बेटा लड़का तो नहीं आएगा रूम में?’

शिवानी ने कहा, कभी-कभी आएगा पर साथ नहीं रहेगा. शिवानी एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करती है. मतलब एडल्ट है. लेकिन उसे वो कमरा नहीं मिला. हालांकि उस वक़्त उसी कमरे के बगल में एक दूसरा किराएदार रह रहा था जो कि लड़का था. मगर मकान मालिक को ये साथ ‘पसंद’ था.

कभी लड़के-लड़की के रूम में आने की बात पर तो कभी उसके प्रोफेशन के नाम पर. कभी जात और धर्म के नाम पर कमरा ढूंढने वालों को छिपे तरीके से ज़लील किया जाता है.

आसपास बीस लोग लड़ने को तैयार रहते हैं कि अब ये सब कोई नहीं मानता. कहेंगे ये सब गांव वाले सोचते हैं. अरे गांव वाले जात जानने के बाद हो सकता है पानी पूछ भी लें. ये बड़े शहर वाले तो मौन धर लेते हैं. और ठीकरा फोड़ देंगे बूढ़े मां-बाप पर. कि भैया हम तो नहीं मानना चाहते लेकिन इनकी सुननी पड़ती है. और फिर कुछ नाम  गिनवा देंगे कि देखो मेरे तो ये भी दोस्त हैं, वो भी हैं.

अगर आप तथाकथित ऊंची जात के हिंदू नहीं हैं, तो नैतिकता की सीढ़ी पर आपका कोई स्थान नहीं है. किसी तथाकथित ऊंची जात के बैचलर हैं, तो ऊपर वाला कमरा मिल सकता है. जिसपर टीन की छत होगी और कमरे के बाहर टॉयलेट. एक अच्छा, रहने लायक घर आप तभी पा सकते हैं जब आप एक परिवार के साथ रहने वाले ऊंची जात के हिंदू हों. वरना तो आपका लक्ष्य मानों घर-घर घूमकर उनकी प्रॉपर्टी खराब करना है.

स्कूल में ‘कैरेक्टर सर्टिफिकेट’ बना करता था. किसी एडमिशन में तो काम नहीं आया. सोच रही हूं लैमिनेट करवाकर मकानमालिकों के लिए रख लूं.

अम्बेडकर की जयंती मनाने और 25 दिसम्बर को बच्चों के साथ चर्च जाने से दिमाग की सफाई नहीं होगी. कई साल पुराना कचरा साफ़ करने के लिए सोच का डायमीटर बढ़ाना पड़ेगा. वरना आप भी सोचेंगे कि हो सकता है पुलिस वेरीफिकेशन में जात पूछी ही जाती हो.


ये भी पढ़ें: इस एक्टर को घर न मिलने की वजह सिर्फ धर्म नहीं है, लेकिन जो है वो भी कम नहीं है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

आरामकुर्सी

अरूसा आलम: जनरल रानी की बेटी, जिसने हिंदुस्तानी पंजाब की राजनीति के समीकरण बदल दिए

अरूसा आलम: जनरल रानी की बेटी, जिसने हिंदुस्तानी पंजाब की राजनीति के समीकरण बदल दिए

इस कहानी के पात्र हैं- पत्रकार अरूसा आलम, पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और पूर्व ISI चीफ जनरल फैज़ हमीद.

लता ने पल्लू खोंसा और बोलीं, 'दोबारा दिखा तो गटर में फेंक दूंगी, मराठा हूं'

लता ने पल्लू खोंसा और बोलीं, 'दोबारा दिखा तो गटर में फेंक दूंगी, मराठा हूं'

जानिए लता मंगेशकर के उस रूप के बारे में, जिससे बहुत कम लोग परिचित हैं.

यूपी का वो गैंगस्टर, जिसने रन आउट होते ही अंपायर को गोली मार दी

यूपी का वो गैंगस्टर, जिसने रन आउट होते ही अंपायर को गोली मार दी

फिल्मी कहानी से कम नहीं खान मुबारक की जिंदगी?

देश के 13वें उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू देश को इमरजेंसी की देन हैं

देश के 13वें उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू देश को इमरजेंसी की देन हैं

इन्होंने अटल के लिए सड़क बनाई थी और मोदी के लिए किले. अब उपराष्ट्रपति हैं.

मुख़्तार अंसारी, सुनहरा चश्मा पहनने वाला वो 'नेता' जो मीडिया के सामने बैठकर पिस्टल नचाता था

मुख़्तार अंसारी, सुनहरा चश्मा पहनने वाला वो 'नेता' जो मीडिया के सामने बैठकर पिस्टल नचाता था

गैंग्स्टर से नेता बने मुख़्तार अंसारी के क़िस्से.

जैन हवाला केस क्या है, जिसके आरोपों के छींटे बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ के ऊपर पड़ रहे हैं

जैन हवाला केस क्या है, जिसके आरोपों के छींटे बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ के ऊपर पड़ रहे हैं

इस केस में आरोप लगने के बाद आडवाणी को इस्तीफा देना पड़ा था.

इलॉन मस्क, जिसे असल दुनिया का आयरन मैन कहा जाता है

इलॉन मस्क, जिसे असल दुनिया का आयरन मैन कहा जाता है

जो स्कूल में बच्चों से पिट जाता था, वो दुनिया के सबसे अमीर इंसानों की लिस्ट में कैसे पहुंचा.

मेसी: पवित्रता की हद तक पहुंच चुका एक सुंदर कलाकार

मेसी: पवित्रता की हद तक पहुंच चुका एक सुंदर कलाकार

दुनिया के सबसे धाकड़ लतमार के जन्मदिन पर एक 'ललित निबंध'. पढ़िए प्यार से. पढ़िए चपलता से.

जिदान को उस रोज़ स्वर्ग से निष्कासित देवता के आदमी बनने की खुशी थी

जिदान को उस रोज़ स्वर्ग से निष्कासित देवता के आदमी बनने की खुशी थी

सामने की टीम का लड़का उसकी कमीज खींच रहा था, इसने कहा चाहिए क्या मैच के बाद देता हूं..

संजय गांधी: जोखिम का इतना शौक कि चप्पल पहनकर ही प्लेन उड़ाने लगते थे

संजय गांधी: जोखिम का इतना शौक कि चप्पल पहनकर ही प्लेन उड़ाने लगते थे

23 जून 1980 को पेड़ काटकर उतारी गई थी संजय गांधी की लाश.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.