Submit your post

Follow Us

घर-घर खाना पहुंचाने वाली ये कंपनी 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है

ऑनलाइन फूड डिलिवरी करने वाली कंपनी जोमैटो अपने स्टाफ में से 13 फीसदी कर्मचारियों की छंटनी कर रही है. लगभग 600 कर्मचारी. जोमैटो के फाउंडर दीपेंदर गोयल ने एक ब्लॉग पोस्ट के ज़रिये बताया कि कोरोना वायरस के कारण उपजे आर्थिक संकट के बीच पिछले दो महीने में कंपनी के बिज़नेस में काफी बदलाव आए हैं. उसी के चलते ये फैसला लेना पड़ रहा है. कंपनी अब बिज़नेस में नए ट्रेंड खोजने की भी कोशिश कर रही है.

इसके अलावा जो कर्मचारी नौकरी में बने हैं, उनकी भी सैलरी कट की जाएगी. हालांकि गोयल ने पोस्ट में लिखा है कि ये टेंपरेरी है और उन्हें उम्मीद है कि चीज़ें छह महीने में बेहतर होनी चाहिए.

छह महीने तक आधी तनख़्वाह 

दीपेंदर गोयल ने लिखा कि जिन भी कर्मचारियों को निकालने का फैसला लेना पड़ रहा है, उन्हें जल्द ही या तो वे ख़ुद वीडियो कॉल करेंगे. या फिर कंपनी के सीओओ गौरव गुप्ता और फूड डिलिवरी सीईओ मोहित गुप्ता में से कोई कॉल करेगा. कर्मचारियों से बात करके उनके लिए नई नौकरी ढूंढने में मदद की जाएगी. अगले छह महीने तक इन कर्मचारियों को उनकी आधी तनख़्वाह मिलती रहेगी. इसके अलावा कर्मचारियों को जो हेल्थ इंश्योरेंस दिया गया था, वो बरकरार रखा जाएगा. ये दोनों बातें अगले छह महीने तक या नई नौकरी मिलने तक लागू रहेंगी.

रिमोट वर्किंग पर ज़ोर

कंपनी अब रिमोट वर्किंग के मॉड्यूल पर काम करने की तैयारी कर रही है. अभी जोमैटो के 150 से ज़्यादा ऑफिस हैं. इन्हें कम करके सारा काम ऑनलाइन शिफ्ट किया जाएगा. इसके अलावा हायपरलोकल लेवल यानी दूर-दराज़ के क्षेत्रों में डिलिवरी पर भी फोकस किया जाएगा.

जोमैटो ने पिछले साल भी करीब 500 कर्मचारियों की छंटनी की थी.


जोमैटो के डिलीवरी बॉय का वीडियो वायरल, गुरुग्राम ट्रैफिक पुलिस भी खेल में उतर आई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

म्यांमार ने 22 आतंकी भारत को सौंपे, विशेष विमान से असम लाया गया

ये आतंकी असम और मणिपुर में हिंसा करने वाले संगठनों से हैं.

IPL या वर्ल्डकप? बहुत से लोग कहेंगे ये क्या बोल गए रवि शास्त्री!

रवि शास्त्री ने आईसीसी तक को सलाह दे डाली.

भारत के साथ क्रिकेट खेलने को बेताब इस देश ने लिखी BCCI को चिट्ठी

BCCI ने अभी नहीं दिया है कोई जवाब.

तमिल सिनेमा के डायरेक्टर की मौत, पहली फिल्म की रिलीज़ का कर रहे थे इंतजार

एवी अरुण को वेंकट प्रक्कर के नाम से जाना जाता था.

चेन्नई से बिहार पैदल जा रहे मजदूरों के आगे 'कार नंबर 1' रुकी और उनकी मुराद पूरी हो गई!

मजदूरों के दुख-दर्द के बीच ये खबर राहत देती है.

एक एक्टर की फोटो दिखाकर 'विराट भाई' से क्या पूछ रहे हैं आमिर?

इमरान की अपील पर जो सीरियल पूरा पाकिस्तान देख रहा है, उसमें विराट दिखे!

पीटरसन ने बताया, क्यों सचिन का ये खास रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाएंगे विराट कोहली

KP ने गिनाए कई फैक्टर.

फिल्ममेकर सुभाष घई ने मंदिरों से सोना दान करने को कहा, ट्विटर पर लोगों ने घेर लिया

सुभाष घई को तुरंत तरह-तरह के 'सुझाव' मिलने लगे.

लॉकडाउन में काम नहीं मिला, बच्चों को खाना नहीं खिला सका, तो इस तरह जान दे दी

राशन कार्ड भी कैंसिल हो गया था, पैसे नहीं थे.

छंटनी के खतरे के बीच इस कंपनी का फैसला जानने के बाद आप कहेंगे कि काश यहीं जॉब करता!

अपने कर्मचारियों का मनोबल उठाने के लिए कंपनी ने शानदार काम किया है.