Submit your post

Follow Us

यो यो हनी सिंह का बड़ा बयान- ''नशे की वजह से कभी नहीं गया रिहैब सेंटर''

यो यो हनी सिंह. एक दौर में इंडियन रैप इंडस्ट्री का पोस्टर बॉय. लेकिन वो दौर गुज़र गया. खबरें बनीं, लोगों ने कहा, हनी सिंह ने इतना नशा कर लिया कि रिहैबिलिटेशन सेंटर जाना पड़ा. रिहैबिलिटेशन सेंटर मतलब पुनर्वास केंद्र. अचानक से हनी सिंह और उनके नशे से जुड़ी चर्चा इसलिए छिड़ी क्योंकि उनका नया गाना आया है. ‘लोका’. यूट्यूब पर गाने में गदर मचा दिया है. 24 घंटे में 22 मिलियन यानी 2 करोड़ 20 लाख से ज़्यादा बार देख जा चुका है. लेकिन इनके गाने से फिर से लोगों को वही शिकायत है, जो हमेशा से रही है. एल्कोहल कल्चर को बढ़ावा देने का. मतलब गानों में शराब पीने-पिलाने की बात करने का. उनके नए गाने ‘लोका’ की शुरुआती कुछ लाइनें आप नीचे बढ़ेंगे, फिर हम आगे बढ़ेंगे-

मैं हूं पीता सुन लो सेनोरिटा
अपनी मर्ज़ी से ज़िंदगी जीता
मैं हूं पीता सुन लो सेनोरिटा
अपनी मर्ज़ी से ज़िंदगी जीता
स्टेप 1
अपना पेग बनाओ
स्टेप 2
सोडा-कोक मिलाओ
स्टेप 3
यो यो का म्यूज़िक बजाओ
मुझे कोई मेरा इलाज बताओ.

अब आ गए हैं, तो ये गाना भी सुन लीजिए. सारा टॉर्चर हम अकेले क्यों झेलें. आपनी नज़र ‘लोका’-

पहले हनी सिर्फ अपनी बात करते थे, ‘चार बोटल वोडका, काम मेरा रोज का’. लेकिन अब उन्होंने एडवाइज़री जारी कर दी है. ये गाना कम, शराब पीने का ऑडियो ट्यूोरियल ज़्यादा लग रहा है. लगने से याद आया, उनके गानों के ऐसे ही लिरिक्स की वजह से कई बार उनके खिलाफ मामले-वामले दर्ज करवाए जा चुके हैं. अगर हनी सिंह सलमान खान होते, तो शराब उनका ब्लैक बक होता. खैर, बकबक बंद करते हुए हम काम की बात पर आते हैं. आज कल म्यूज़िक वीडियोज़ का प्रोडक्शन तो बड़े लेवल पर होता ही है, उनके प्रमोशन वगैरह पर भी खूब पैसे खर्चे जाते हैं. किसी फिल्म की तरह उन गानों को भी मीडिया के सामने लॉन्च किया जाता है. तो ‘लोका’ की भी लॉन्चिंग हो रही थी. 3 मार्च को. मीडिया की नज़रों से दूर मगर खबरों में बने रहने वाले हनी सिंह यहां उनके सामने थे. सवाल ऐसे बरस थे, जैसे सावन में मोहब्बत बरसता है.

यहां यो यो हनी सिंह से पूछा गया कि भइया ये सब क्या है. जिस चीज़ से लोगों को दिक्कत है, आप वही चीज़ें करते जा रहे हैं. किसी ने पूछा कि आप तो खुद नशे से बाहर आने के लिए रिहैब वगैरह जा चुके हैं. फिर क्यों करते हैं ये सब. इसके जवाब में हनी सिंह ने ये नहीं कहा-

मेमे किंग.
मेमे किंग.

उन्होंने मीडिया के सामने खुद से जुड़े सबसे बड़े झूठ का पर्दाफाश किया. हनी सिंह बताते हैं-

”मुझे पता है कि मेरे और मेरी लाइफ के बारे में बहुत सारी खबरें सर्कुलेट हुई हैं. लेकिन मैं कभी रिहैब नहीं गया. और अब मैं शराब भी नहीं पीता. खैर, आप जब भी पार्टी करते हैं, तो इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह होती है शराब. आप उससे नहीं बच सकते. इन फैक्ट हमारी सरकार खुद शराब की दुकानें खोलने के लिए लाइसेंस देती है. जिस दिन वो ये करना बंद कर देंगे, मैं भी अपने गानों में शराब की बात करना बंद कर दूंगा.”

नहीं-नहीं उनका ये जवाब सिर्फ आपको बकवास नहीं लग रहा. वाकई में बकवास है. आप सरकार और लाइसेंस वाली बात छोड़िए. फोकस करिए उनके रिहैब जाने वाली बात पर. हनी के कई जानकार और करीबी लोग इस बात की पुष्टि कर चुके हैं कि यो यो हनी सिंह एक दौर में नशे के इतने आदी हो गए थे कि उनसे शराब छूट नहीं रही थी. करियर दांव पर लग गया था. फाइनली उन्हें खुद को नशे से बाहर निकालने के लिए रिहैबिलिटेशन सेंटर का सहारा लेना पड़ा. इसी बेसिस पर कई मीडिया रिपोर्ट्स छपीं. बयान लिए-दिए गए. लेकिन अब हनी खुद अपने बारे में कह रहे हैं कि वो कभी रिहैब नहीं गए. अब क्या सही और क्या गलत है? इसका फैसला करने वाले हम तो कोई होते नहीं. हम तो माध्यम हैं. बाकी जब यो यो हनी सिंह लल्लनटॉप अड्डे पर पधारेंगे, हम उनके ये बात पूछकर आपको बता देंगे. तब तक हनी सिंह के ‘लोका’ और ऐसे किसी भी धोखा से बचकर रहिए.


वीडियो देखें: जब हनी सिंह काम मांगने गिप्पी ग्रेवाल के पास जाते थे और वे खाली हाथ भेजते थे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

एंटी-CAA प्रोटेस्ट को उकसाने के आरोप में कपल गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- ISIS से लिंक हो सकता है

दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से प्रोटेस्ट चल रहा है.

सबसे ज्यादा रणजी मैच और सबसे ज्यादा रन, इस खिलाड़ी ने 24 साल बाद लिया संन्यास

42 की उम्र तक खेलते रहे, अब बल्ला टांगा.

लखनऊ में CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान 'तोड़फोड़ करने वाले' 57 लोगों के होर्डिंग लगाए

होर्डिंग पर पूर्व IPS एसआर दारापुरी और कांग्रेस कार्यकर्ता सदफ ज़फर जैसे लोगों का नाम.

दिल्ली दंगे के 'हिन्दू पीड़ितों' की मदद के लिए कपिल मिश्रा ने जुटाये 71 लाख, खुद एक पईसा नहीं दिया

अब भी कह रहे हैं, 'आप धर्म को बचाइये, धर्म आपको बचायेगा'

कांग्रेस सांसद का आरोप : अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो संसद में मुझ पर हमला कर दिया गया

कांग्रेस सांसद ने कहा, 'मैं दलित महिला हूं, इसलिए?'

निर्भया केस: चार दोषियों की फांसी से एक दिन पहले कोर्ट ने क्या कहा?

राष्ट्रपति ने पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है.

कश्मीर : हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनवाने वाला IAS अधिकारी कैसे धरा गया?

हर लाइसेंस पर 8-10 लाख रूपए लेता था!

गृहमंत्री अमित शाह की रैली में आई भीड़ ने लगाया देश के गद्दारों को गोली मारो... का नारा!

ये नारा डरावना है, उससे भी डरावना है इसका गृहमंत्री की रैली में लगाया जाना.

दिल्ली के बाद मेघालय में भी हिंसा भड़की, दो की मौत, कई जिलों में इंटरनेट बंद

मामला CAA प्रोटेस्ट से जुड़ा है.

एक्टिंग छोड़ बीजेपी जॉइन की थी, अब कपिल मिश्रा और अनुराग ठाकुर की वजह से पार्टी छोड़ दी

बीजेपी नेता ने अपनी पार्टी के नेताओं पर बड़ा बयान दिया है.