Submit your post

Follow Us

मांजरेकर ने सेमीफाइनल में जडेजा के परफॉरमेंस पर ये क्या कह दिया?

‘जडेजा, आपने शानदार खेल दिखाया!😉

– सेमीफाइनल मैच के बाद एक ट्वीट में संजय मांजरेकर

रिकेट वर्ल्ड कप 2019 अपने अंतिम दौर में है. पहला सेमीफाइनल मैच हो चुका है.न्यूज़ीलैंड फाइनल की सीट पक्की कर चुका है. भारत को 18 रनों से हराकर. इस वर्ल्ड कप में मैदान और मैदान के बाहर खूब तमाशे हुए. ट्विटर पर संजय मांजरेकर और रवींद्र जडेजा के बीच का झगड़ा हो या जडेजा को लेकर मांजरेकर और पूर्व इंग्लिश कप्तान माइकल वॉन के बीच हुई बकैती. मांजरेकर ने सेमीफाइनल से पहले दो बार इंडिया की टीम चुनी. पहली बार में जडेजा उनकी टीम में शामिल थे. लेकिन दूसरी बार में उनका मूड बदला और उन्होंने जडेजा को बाहर का रास्ता दिखा दिया. खैर, मांजरेकर की सलाहें धरी की धरी रह गईं. जडेजा टीम में शामिल हुए. और, वे टीम के सबसे बेहतर खिलाड़ी साबित हुए.

sanjay manjrekar on jadeja

संजय मांजरेकर ने अपने ट्वीट में जडेजा की अहमियत को तो स्वीकार लिया, लेकिन एक छुटकी स्माइली के साथ. वह स्माइली किसी बात को तंज में कहने के लिए इस्तेमाल की जाती है. मजाकिया तंज. माने ये कि मांजरेकर ये स्वीकार करना तो नहीं चाहते थे लेकिन नियति के सामने वे बेबस साबित हुए.

रवींद्र जडेजा ने सेमीफाइनल मैच में फील्डिंग, बॉलिंग और बैटिंग, तीनों में उम्दा प्रदर्शन किया. उन्होंने हेनरी निकोल्स को चारों खाने चित्त कर बोल्ड किया. दो खूबसूरत कैच पकड़े. सीधे थ्रो से रॉस टेलर को पवेलियन वापस भेजा. जब स्कोर का पीछा करने उतरी टीम इंडिया मुश्किलों में थी, तब उन्होंने 59 गेंदों पर 77 रन की शानदार पारी खेली. 4 चौकों और 4 छक्कों की मदद से. यूं तो टीम लक्ष्य हासिल करने से तो चूक गई, लेकिन जडेजा का खेल आंखों में बस गया.

संजय मांजरेकर के लिए इस सत्य को झुठलाना बहुत ही मुश्किल था. वे मैच के बाद मैदान में आए. कमेंटेटर के तौर पर मैच का विश्लेषण करने. उनसे जब जडेजा के बारे में पूछा गया, तो उनका चेहरा देखने लायक था.

मांजरेकर ने जवाब दिया- 

“उस टुकड़ों में प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी ने मुझे पूरी तरह से गलत साबित कर दिया. अपनी अद्वितीय प्रतिभा से.”

ऐसा बोलते हुए मांजरेकर के चेहरे की बेचैनी साफ-साफ देखी जा सकती थी.

रिकेट एक खेल है और उसे खेल भावना के साथ जीना चाहिए. हर किसी को, चाहे वो खिलाड़ी हों, अंपायर हों, दर्शक हों या फिर कमेंटेटर. व्यक्तिगत खुन्नस मैदान से दूर ही निपटा लें तो यह खेल के लिए बहुत बेहतर होगा.

बहरहाल, जब जडेजा संजय मांजरेकर के तंजों का जवाब अपने खेल से दे रहे होंगे, तब मांजरेकर जरुर ये मशहूर पंक्तियां गुनगुना रहे होंगे. अपनी आंखें मूंदकर.

झूठ तो ये नहीं मगर, सच भी न हो खुदा करे. 😉


वीडियो: संजय मांजरेकर ने रवींद्र जडेजा को प्लेइंग इलेवन में चुना, तो माइकल वॉन पीछे पड़ गए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

20 अप्रैल से कौन-कौन से लोग अपना काम-धंधा शुरू कर सकते हैं?

और खाने-पीने के सामान को लेकर सरकार ने क्या कहा?

लॉकडाउन के बीच ज़रूरी सामान भेजना है? बस एक कॉल पर हो जाएगा काम

रेलवे अधिकारियों ने शुरू की है 'सेतु' सर्विस.

सड़क पर मजदूरों संग खाना खाने वाले अर्थशास्त्री ने सरकार को कमाल का फॉर्मूला सुझाया है

कोरोना और लॉकडाउन ने मजदूर को कहीं का नहीं छोड़ा.

सरकार की नई गाइडलाइंस, जानिए किन इलाकों में, किन लोगों को लॉकडाउन से छूट

कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन पहले ही बढ़ाया जा चुका है.

टेस्टिंग किट की बात पर राहुल गांधी ने भारत की तुलना किन देशों से की?

कहा, 'हम पूरे खेल में कहीं नहीं हैं.'

चीन से भारत के लिए चली टेस्टिंग किट की खेप अमरीका निकल गयी!

और अभी तक भारत में नहीं शुरू हो पाई मास टेस्टिंग.

कोरोना: मरीजों की खातिर बेड और लैब के लिए कितना तैयार है भारत, PM मोदी ने बताया

लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा पीएम ने क्या-क्या कहा?

15 अप्रैल को लॉकडाउन-2 की जो गाइडलाइंस आनी हैं, उनमें क्या-क्या हो सकता है

पूरे देश में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ चुका है.

सुप्रीम कोर्ट ने बता दिया है कि किन लोगों का कोरोना वायरस टेस्ट फ्री में होगा

प्राइवेट लैब भी नहीं ले सकेंगे इनसे पैसा.

PM CARES Fund पर लगातार उठ रहे सवाल, अब हिसाब-किताब की होगी जांच

वकील ने PM Cares फंड को रद्द करने की मांग की है.