Submit your post

Follow Us

रजनीकांत ने किस नियम का हवाला देकर छह लाख के प्रॉपर्टी टैक्स में छूट मांगी थी?

सुपरस्टार रजनीकांत. प्रॉपर्टी टैक्स विवाद को लेकर मद्रास हाईकोर्ट पहुंच गए थे. 14 अक्टूबर को मामले की सुनवाई हुई. कोर्ट ने उन्हें कोर्ट का समय बर्बाद करने के लिए फटकार लगाई. इसके बाद रजनीकांत ने अपनी याचिका वापस ले ली.

क्या है मामला?

ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन ने नोटिस भेजकर रजनीकांत के मैरिज हॉल, श्रीराघवेंद्र कल्याण मंडपम का 6.5 लाख रुपए का प्रॉपर्टी टैक्स जमा करने के लिए कहा था. रजनी ने कहा कि ऐसा कैसे? इसे लेकर वो हाईकोर्ट पहुंच गए. कहा कि कोरोना महामारी और लॉकडाउन के चलते 24 मार्च से उनका मैरिज हॉल बंद है. अब जब कोई कमाई ही नहीं हुई तो टैक्स किस बात का मांगा जा रहा है? रजनी ने यह दावा भी किया था कि इस बारे में उन्होंने म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन में आवेदन भी दिया था, जिसका कोई जवाब नहीं मिला.

कोर्टने कहा कि रजनीकांत को कोर्ट का समय बर्बाद करने की बजाय ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन को रिमाइंडर भेजना चाहिए था. इसके बाद रजनीकांत के वकील ने कोर्ट से केस वापस लेने की इजाजत मांगी.

इस प्रावधान के तहत छूट मांगा

रजनीकांत के वकील ने 1919 के चेन्नई सिटी म्युनिसिपल कारपोरेशन एक्ट की धारा 105 में कर छूट के प्रावधान का हवाला देते हुए 50 प्रतिशत माफी के प्रावधान का जिक्र किया.

इसमें कहा गया है कि छह महीने में अगर कोई बिल्डिंग जो 30 या उससे ज्यादा दिनों तक ज्यादा खाली रही हो तो उसे टैक्स में छूट दिया जा सकता है.

एनडीटीवी से बात करते हुए रजनीकांत के वकील विजयन सुब्रमण्यन ने कहा कि कानूनी प्रावधान है कि प्रॉपर्टी खाली होने पर संपत्ति कर में 50 प्रतिशत की छूट मांगी जा सकती है. यही कारण है कि रजनीकांत इसका लाभ उठाने की कोशिश कर रहे हैं.

वहीं एनडीटीवी से बातचीत में एक अधिकारी ने कहा कि वो इस तरह के छूट प्रावधान से अवगत नहीं हैं. हालांकि, अगर संपत्ति कर का भुगतान 15 तारिख से पहले किया जाता है तो छूट दी जा सकती है, नहीं तो उन्हें जुर्माना देना होगा.

दअरसल संपत्ति कर वसूलने के लिए चेन्नई निगम आक्रामक तरीके से अभियान चला रहा है. क्योंकि अधिकांश मालिकों ने पैसा नहीं होने की बात कहकर संपत्ति कर देने से मना कर दिया है.

नौकरी जाने से कमाई घटने, वेतन में कटौती और पांच महीने तक दुकानों को बंद करने से बड़ी संख्या में व्यक्तियों, दुकानों, कॉम्प्लेक्स और मॉल को भारी नुकसान हुआ है. मकान मालिकों को सरकार ने किराया जमा न करने की सलाह दी थी. ऐसे में विपक्षी दल भी टैक्स टालने की मांग कर रहे हैं.


विवेक अग्रिहोत्री बॉलीवुड पर सवाल उठा रहे थे, निखिल द्विवेदी ने कहा, चुप हो जाइए, वरना हम ट्रोल हो जाएंगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लोकसभा में पीएम मोदी ने अपने डेढ़-घंटे के भाषण में किन सवालों का जवाब दिया?

लोकसभा में पीएम मोदी ने अपने डेढ़-घंटे के भाषण में किन सवालों का जवाब दिया?

पीएम की बात लंबी होती गई तो विपक्षी सांसद हंगामा करने लगे.

जिस बात पर पीएम मोदी भावुक हुए, उसका ज़िक्र भी गुलाम नबी आज़ाद ने किया

जिस बात पर पीएम मोदी भावुक हुए, उसका ज़िक्र भी गुलाम नबी आज़ाद ने किया

संसद में गुलाम नबी के रिटायरमेंट के दिन क्या-क्या हुआ?

उत्तराखंड से आज की पहली राहत भरी ख़बर आई है!

उत्तराखंड से आज की पहली राहत भरी ख़बर आई है!

जानिए अब वहां पानी का स्तर कैसा है.

उत्तराखंड की आपदा: NDRF, SDRF, ITBP राहत में जुटीं, शिनूक के साथ वायुसेना स्टैंडबाई मोड पर

उत्तराखंड की आपदा: NDRF, SDRF, ITBP राहत में जुटीं, शिनूक के साथ वायुसेना स्टैंडबाई मोड पर

राहत-बचाव काम का पूरा हाल.

पंजाब सरकार मुख्तार अंसारी को UP सरकार को क्यों नहीं सौंप रही?

पंजाब सरकार मुख्तार अंसारी को UP सरकार को क्यों नहीं सौंप रही?

लेकिन मुख्तार अंसारी पंजाब कैसे पहुंचा?

मोदी सरकार किसान आंदोलन को बैकडोर से सुलझाने की कोशिश कर रही?

मोदी सरकार किसान आंदोलन को बैकडोर से सुलझाने की कोशिश कर रही?

संयुक्त किसान मोर्चा का 6 फरवरी प्लान क्या है?

ग्रेटा थनबर्ग के ट्वीट से दिल्ली पुलिस को किस साजिश का पता चला?

ग्रेटा थनबर्ग के ट्वीट से दिल्ली पुलिस को किस साजिश का पता चला?

दिल्ली पुलिस ने तो ग्रेटा थनबर्ग के खिलाफ एफआईआर क्यों दर्ज की?

राम मंदिर के लिए चंदे की पर्ची कटाने से पहले इस खबर को जरूर पढ़ लें

राम मंदिर के लिए चंदे की पर्ची कटाने से पहले इस खबर को जरूर पढ़ लें

कई जगहों से फर्जी पर्चियों की खबरें सामने आई हैं.

जींद में किसान महापंचायत के दौरान मंच गिरा, फिर उठकर खूब गरजे राकेश टिकैत

जींद में किसान महापंचायत के दौरान मंच गिरा, फिर उठकर खूब गरजे राकेश टिकैत

टिकैत ने कहा, अभी तो बिल वापसी की बात कही है, गद्दी वापसी की बात हुई तो क्या करोगे?

खाली पड़ी संपत्तियों से पैसा कमाने का 'गेम चेंजर' आइडिया सरकार को आया कहां से?

खाली पड़ी संपत्तियों से पैसा कमाने का 'गेम चेंजर' आइडिया सरकार को आया कहां से?

सरकार के थिंक टैंक नीति आयोग ने भी इस पर सहमति दी है.