Submit your post

Follow Us

नहीं रहीं जानी-मानी कोरियोग्राफर सरोज खान, मुंबई में 71 साल की उम्र में निधन

बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का 3 जुलाई तड़के सुबह निधन हो गया. उनकी उम्र थी 71 वर्ष. उन्हें गुरुवार की रात दिल का दौरा पड़ा था. और 3 जुलाई को सुबह 1:52 पर उन्होंने आख़िरी सांस ली. ‘इंडिया टुडे’ के पंकज उपाध्याय ने बताया कि सरोज के निधन की खबर को उनकी बेटी ने कन्फर्म किया है.

सरोज खान कुछ दिनों पहले से ही अस्पताल में भर्ती थीं. उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी. इसलिए 20 जून को गुरु नानक अस्पताल में एडमिट कराया गया था. कोरोना टेस्ट भी हुआ, जो कि निगेटिव आया.

24 जून को सूत्रों के ज़रिए खबर आई कि उनकी हालत में सुधार हो रहा है और वो जल्द ही डिस्चार्ज भी हो जाएंगी. कहा गया,

‘वो अभी ऑब्ज़र्वेशन में हैं और ठीक हो रही हैं. काफी सुधार हुआ है. जल्द ही डिस्चार्ज भी हो जाएंगी.’

सरोज खान को बॉलीवुड में ‘डांस की गुरू’ कहा जाता था. कहा जाता है कि अपने करियर में उन्होंने करीब 2000 गाने कोरियोग्राफ किए थे. सरोज बेस्ट ने कोरियोग्राफी के लिए तीन बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी जीता था. करियर की शुरुआत हुई थी बैकग्राउंड डांसर के तौर पर. कई रियलिटी शो में जज भी रहीं. उनका खुद का एक शो ‘नचले वे विद सरोज खान’ भी आया था.

कोरियोग्राफी के साथ ही सरोज ने कई फ़िल्में भी लिखी थीं. उनके माता-पिता विभाजन के बाद पाकिस्तान से भारत आए थे.

उन्होंने ‘एक दो तीन’, ‘हम को आज कल है इंतज़ार’, ‘धक धक करने लगा’, ‘चोली के पीछे क्या है’, ‘डोला रे डोला’,  ‘निंबुड़ा’ आदि जैसे डांस नंबर्स दिए हैं. उनकी आख़िरी फ़िल्म ‘कलंक’ थी. ‘मणिकर्णिका’ फिल्म में भी उन्होंने एक गाने को कोरियोग्राफ किया था. हालिया दिनों में सरोज की सक्रियता कम थी.


वीडियो देखें: सांस लेने में दिक्कत के चलते कोरियोग्राफर सरोज खान अस्पताल में भर्ती

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

भारत-चीन के तनाव के बीच पीएम मोदी ने लद्दाख़ पहुंचकर किससे बात की?

पहले राजनाथ सिंह जाने वाले थे, नहीं गए.

मलेरिया वाली जिस दवा को कोरोना में जान बचाने के लिए इस्तेमाल कर रहे, वो उल्टा काम कर रही है?

हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्विन पर चौंकाने वाली रिसर्च!

इस साल के आख़िर तक मिलने लगेगी कोरोना की 'मेड इन इंडिया' वैक्सीन!

भारत बायोटेक के अधिकारी ने क्या बताया?

'कोरोनिल' पर पतंजलि के आचार्य बालकृष्ण पूरी तरह यू-टर्न मार गए!

पतंजलि का दावा था कि 'कोरोनिल' दवा कोरोना वायरस ठीक करने में कारगर होगी.

चीन के ऐप तो बैन हो गए, पर उन भारतीयों का क्या जो इनमें काम करते हैं

चीनी ऐप के कर्मचारियों में घबराहट है.

चीनी ऐप पर बैन के बाद चीन ने भारत के बारे में क्या बयान दिया है?

भारत को कैसी जिम्मेदारी याद दिलाई चीन ने?

लगभग 16 मिनट के राष्ट्र के नाम संदेश में नरेंद्र मोदी ने क्या काम की बात की?

संदेश का सार यहां पढ़िए.

भारत सरकार के चाइनीज़ ऐप बंद करने के स्टेप पर TikTok ने चिट्ठी में क्या लिखा?

अपने यूज़र्स के बारे में भी कुछ कहा है.

PM CARES के तहत बने देसी वेंटिलेटर इस हाल में मिले कि लौटाने की नौबत आ गई

और ख़राब वेंटिलेटर बनाने वालों ने क्या सफ़ाई दी?

भारत में चीन के 59 मोबाइल ऐप बैन, टिकटॉक, यूसी, वीचैट भी लपेटे में

कहा कि देश की सुरक्षा की ख़ातिर इन्हें बैन किया जा रहा है.