Submit your post

Follow Us

टीचर 25 स्कूलों में एक साथ 'नौकरी' करती थी, 13 महीने में एक करोड़ की सैलरी उठाई

उत्तर प्रदेश, टीचर और फर्जीवाड़ा. बात पुराने मामलों की नहीं, एक नए मामले की हो रही है. राज्य में बेसिक शिक्षा विभाग के तहत कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय (KGBV) चलते हैं. एक टीचर का ‘नाम’ है. अनामिका शुक्ला. आरोप है कि उन्होंने राज्य के 25 कस्तूरबा गांधी स्कूलों में ‘नौकरी’ की और पिछले 13 महीने में करीब 1 करोड़ की सैलरी भी उठाई. बताया गया है कि वो साइंस की टीचर हैं और मैनपुरी की रहने वाली हैं. मामले की जांच शुरू हो गई है.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, बेसिक शिक्षा विभाग की तरफ से डिजिटल डेटाबेस तैयार करने के दौरान ये जानकारी सामने आई. इसमें पता चला कि एक ही नाम और फोटो के साथ ये टीचर अलग-अलग ज़िलों के 25 स्कूलों में रजिस्टर्ड है. इन ज़िलों में प्रयागराज, अंबेडकरनगर, बागपत, सहारनपुर जैसे कई नाम हैं.

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय

डिजिटल डेटाबेस से अटेंडेंस के बावजूद ये टीचर इस साल फरवरी तक करीब 1 करोड़ की सैलरी ले चुकी है. फिलहाल उसकी सैलरी रोक दी गई है और पता लगाया जा रहा है कि क्या उसने सैलरी के लिए एक ही बैंक अकाउंट इस्तेमाल किया. कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय (KGBV) में कॉन्ट्रैक्ट के तहत नियुक्ति होती है, और करीब 30 हज़ार रुपए महीने सैलरी मिलती है. ज़िले के हर ब्लॉक में कस्तूरबा गांधी स्कूल हैं. इनमें समाज के पिछड़े माने जाने वाले तबकों से आने वाली लड़कियों को हॉस्टल की भी सुविधा होती है.

अभी तक ओरिजिनल पोस्टिंग पता नहीं

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, स्कूली शिक्षा महानिदेशक, विजय किरन आनंद ने बताया,

जब सभी टीचर्स को प्रेरणा पोर्टल पर ऑनलाइन अपनी अटेंडेंस दर्ज करानी है तो एक टीचर कैसे कई जगहों पर उपस्थित हो सकती है. हमने अधिकारियों को जांच के आदेश दिए हैं. लॉकडाउन की वजह से उनके रिकॉर्ड्स का पता नहीं चल पाया. मैंने 25 मई को अधिकारियों को रिमाइंडर भेजा था. अगर टीचर के बारे में जानकारी सही पाई गई तो सख्त कार्रवाई होगी.

उन्होंने बताया कि अभी तक अनामिका की ओरिजिनल पोस्टिंग के बारे में कुछ पता नहीं चला है. शिकायत में दर्ज ज़िलों से वेरिफाई कराया जा रहा है. अगर शिकायतें सही पाई गईं, तो FIR दर्ज कराई जाएगी.

छह ज़िलों को भेजा गया था पत्र

अनामिका शुक्ला को फरवरी तक रायबरेली के कस्तूरबा गांधी स्कूल में कार्यरत पाया गया है. इसके बाद मामला सामने आया. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, रायबरेली के बेसिक शिक्षा अधिकारी आनंद प्रकाश ने बताया,

सर्व शिक्षा अभियान की तरफ से छह ज़िलों को अनामिका शुक्ला नाम की टीचर के बारे में पत्र भेजा गया था. हालांकि रायबरेली का नाम इसमें नहीं था लेकिन हमने एहतियात के तौर पर जांच की तो पाया कि हमारे यहां कस्तूरबा स्कूल में इस नाम की महिला काम कर रही थी. उसे नोटिस भेजा गया लेकिन उसने जवाब नहीं दिया. उसके डॉक्यूमेंट्स वेरिफिकेशन के लिए उच्च स्तर पर भेज दिए गए हैं.

कोई अधिकारी शामिल पाया गया तो होगी कार्रवाई: बेसिक शिक्षा मंत्री

रायबरेली के ज़िला कोऑर्डिनेटर (बालिका शिक्षा) अनिल त्रिपाठी ने बताया कि इस नाम की महिला स्कूल में थी लेकिन उन्होंने कहा कि इसकी जानकारी नहीं है कि वो कहां-कहां पढ़ाती थी.

इंडिया टुडे से बातचीत में उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉक्टर सतीश द्विवेदी ने कहा,

विभाग ने जांच के आदेश दिए हैं और आरोप सही पाए गए तो टीचर के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. हमारी सरकार जब से आई है, डिजिटल डेटाबेस पारदर्शिता के लिए तैयार किया जा रहा है. अगर किसी अधिकारी को शामिल पाया गया तो कार्रवाई होगी.

उन्होंने कहा कि कस्तूरबा गांधी स्कूल में कॉन्ट्रैक्ट बेसिस पर भी नौकरी दी जाती है. विभाग इस टीचर के बारे में तथ्यों की जांच कर रहा है.


यूपी: 69000 शिक्षक भर्ती पर हाईकोर्ट के रोक की कहानी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.

मशहूर एस्ट्रोलॉजर बेजान दारूवाला नहीं रहे, कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

बेटे ने कहा- निमोनिया और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत.

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.

क्या जम्मू-कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसा अटैक करने की तैयारी में थे आतंकी?

सिक्योरिटी फोर्स ने कैसे एक्शन लिया? कितना विस्फोटक मिला?

लद्दाख में भारत और चीन के बीच डोकलाम जैसे हालात हैं?

18 दिनों से भारत और चीन की फौज़ आमने-सामने हैं.

शादी और त्योहार से जुड़ी झारखंड की 5000 साल पुरानी इस चित्रकला को बड़ी पहचान मिली है

जानिए क्या खास है इस कला में.