Submit your post

Follow Us

पिता खैनी की दुकान लगाते थे, बेटे ने दूसरी बार UPSC में पाई सफलता

बिहार के नवादा जिले में इस समय निरंजन कुमार (Niranjan Kumar) की चर्चा हो रही है. यहां के पकरीबरामा बाजार में रहने वाले निरंजन कुमार ने UPSC सिविल सर्विस 2020 में 535वीं रैंक हासिल की है. उनके घर में इस समय जश्न का माहौल है. निरंजन कुमार को यह कामयाबी इतनी आसानी से नहीं मिली है. इसके लिए उन्हें बहुत संघर्ष और मेहनत करनी पड़ी है.

पिता लगाते थे खैनी की दुकान

निरंजन कुमार की सफलात इस मायने में और भी महत्वपूर्ण है कि उनके पिता कभी खैनी की दुकान लगाते थे. इस दुकान के सहारे उनके लिए अपने चार बच्चों की पढ़ाई का इंतजाम करना तो दूर की बात, सामान्य तौर पर घर चलाना ही बहुत मुश्किल था. हालांकि, उन्होंने हार नहीं मानी. उन्होंने खूब मेहनत की और बच्चों को पढ़ाया लिखाया. बच्चों ने भी अपने पिता की मेहनत का मोल समझा. मन से पढ़ाई की.

निरंजन कुमार शुरू से ही मेधावी रहे. इसी मेधा के चलते उनका एडमिशन जवाहर नवोदय विद्यालय में हो गया. इससे उन्हें और उनके परिवार को एक काफी सपोर्ट मिला. दसवीं तक जवाहर नवोदय विद्यालय में पढ़ाई करने के बाद निरंजन कुमार IIT की तैयारी के लिए पटना चले गए. इसी दौरान उन्होंने पटना साइंस कॉलेज से इंटर की परीक्षा पास की.

खर्चा निकालने के लिए ट्यूशन पढ़ाया

पिता ने अपनी गाढ़ी कमाई के पैसों से निरंजन के लिए IIT कोचिंग का इंतजाम किया. लेकिन दूसरे खर्चों के लिए उनके पास पैसे नहीं थे. ऐसे में निरंजन ने पटना में ट्यूशन पढ़ाना शुरू किया. वो एक तरफ ट्यूशन पढ़ाते और दूसरी तरफ IIT की तैयारी करते. ट्यूशन पढ़ाने के लिए उन्हें दूर-दूर जाना पड़ता था. ऐसे में वो पैदल ही निकल जाते. उनकी मेहनत और लगन रंग लाई. पहले ही प्रयास में उन्होंने IIT का एंट्रेस एग्जाम पास कर लिया.

IIT से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद उनकी नौकरी कोल इंडिया लिमिटेड धनबाद में सहायक मैनेजर के तौर पर लग गई. इसी बीच उनकी शादी भी हो गई. इसी दौरान उन्होंने UPSC की तैयारी शुरू की. उनकी तैयारी रंग लाई और साल 2016 के एग्जाम में उन्हें 728वीं रैंक हासिल हुई. निरंजन कुमार इनकम टैक्स में डिप्टी कमिश्नर के पद पर तैनात हो गए.

इनकम टैक्स विभाग में डिप्टी कमिश्नर के तौर पर तैनात होने के बाद भी निरंजन कुमार की तैयारी जारी रही. परिणाम यह हुआ कि एक बार फिर से उन्हें सफलता मिली और उन्होंने पहले से बेहतर रैंक हासिल की.

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, निरंजन की सफलता के बाद उनके माता-पिता ने कहा कि आज जो कुछ भी निरंजन ने हासिल किया है, वो उनके त्याग और संघर्ष का परिणाम है. उन्होंने यह भी कहा कि उनके बेटे ने बहुत मेहनत की.

निरंजन की ही तरह, बिहार के एक और युवक ने घोर गरीबी से निकलकर UPSC तक का सफर पूरा किया है. उनका नाम अनिल बसक है. अनिल बसक बिहार के किशनगंज के रहने वाले हैं. उन्होंने अपने तीसरे प्रयास में 45वीं रैंक हासिल की. बिसक के पिता भी कपड़ों की फेरी लगाते थे. निरंजन की ही तरह बिसक भी IIT से पढ़े हुए हैं.


 

वीडियो- बिहार के शुभम कुमार, जिन्होंने पहले IIT निकाला और अब UPSC परीक्षा में टॉप किया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?