Submit your post

Follow Us

कैंसर अस्पताल ने मुस्लिमों को लेकर ऐसा विज्ञापन छपवाया कि अगले दिन माफी मांगनी पड़ी

कहा जाता है कि डॉक्टर के लिए किसी मरीज का धर्म-जाति-लिंग मायने नहीं रखता. सभी मरीज एक जैसे होने चाहिए. लेकिन उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक अस्पताल ने ग़ज़ब कर दिया. उसने धार्मिक आधार पर अख़बारों में विज्ञापन निकाल दिया. इसमें कई ऐसी बातें लिखी गईं जो ‘इस्लामोफोबिया’ की कटेगरी में आती हैं. साथ ही हिंदू-जैन धर्म को लेकर भी टिप्पणी की गई. आलोचना होने पर अगले दिन अस्पताल ने नपा-तुला स्पष्टीकरण छपवाया और माफी मांगी.

मेरठ का वेलेंटिस कैंसर अस्पताल. इसने ख़ुद को पश्चिमी उत्तर प्रदेश का एकमात्र समर्पित कैंसर अस्पताल बताया है. 17 अप्रैल को अखबारों में एक विज्ञापन छपा. 11 पॉइंट के इस विज्ञापन में 9 पॉइंट में ‘मुस्लिम-मुस्लिम’ किया गया. तबलीगी जमात का काफी ज़िक्र किया गया. साथ ही कहा गया कि मुस्लिम रोगी नियमों और निर्देशों का पालन नहीं कर रह हैं. मास्क नहीं पहन रहे हैं. स्वच्छता का ख्याल नहीं रख रहे हैं.

‘कोरोना टेस्ट कराकर ही आएं मुस्लिम मरीज’

एक पॉइंट में लिखा गया कि कुछ मुस्लिम भाइयों की अज्ञानता और दुर्भावना के कारण सभी मुस्लिमों को कष्ट सहना पड़ रहा है. विज्ञापन में कहा गया था कि जो भी कैंसर के मुस्लिम मरीज अस्पताल आएं उनसे अनुरोध है कि वो अपना और अपने तीमारदारों का कोरोना टेस्ट कराएं और रिपोर्ट नेगेटिव आने पर ही अस्पताल आएं. कहा गया कि कोरोना महामारी के जारी रहने तक ये नियम लागू रहेगा.

‘एक नियम जो मुस्लिमों पर लागू नहीं होगा’

इसमें लिखा है कि जिन मरीजों को इमरजेंसी में तुरंत भर्ती होने की आवश्यकता है उन्हें और उनके तीमारदार को कोरोना जांच के लिए प्रति व्यक्ति 4500 रुपये जमा करना होगा. इसमें ये जोड़ दिया गया कि ये नियम मुस्लिम चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टाफ, जज, पुलिस, अफसर, शिया और अन्य मुस्लिम जो घनी मुस्लिम आबादी में नहीं रहते हैं, उन पर लागू नहीं होगा. अंत के दो पॉइंट में एक में कहा गया, हम आर्थिक रूप से संपन्न हिंदू/जैन परिवारों, जिनमें अधिकांश कंजूस हैं, से भी आग्रह करते हैं कि पीएम केयर्स फंड में सहयोग राशि देकर आपदा के समय देश के लिए योगदान दें.

हमारी मंशा किसी को ठेस पहुंचाने की नहीं थी: अस्पताल

मामले में ‘दी लल्लनटॉप’ ने अस्पताल प्रशासन से जुड़े अमित चौधरी से बात की. उन्होंने कहा कि अस्पताल की तरफ से अगले दिन माफीनामा जारी किया गया है. वहीं, अस्पताल प्रबंधन के डॉक्टर अमित जैन का कहना है कि विज्ञापन को ग़लत तरीके से लिया गया. अस्पताल की मंशा सतर्क और सहयोग करने की थी.

अस्पताल की तरफ से 18 अप्रैल को जारी स्पष्टीकरण और माफीनामा.
अस्पताल की तरफ से 18 अप्रैल को जारी स्पष्टीकरण और माफीनामा.

स्पष्टीकरण में क्या कहा गया है

अस्पताल की तरफ से 18 अप्रैल को जारी स्पष्टीकरण में हिंदू-जैन धर्म पर शुरू में फोकस किया गया है. इसमें कहा गया कि हिंदू-जैन समाज सदा से ही सामाजिक उत्तरदायित्व और दान-पुण्य में अग्रणी रहा है. त्रुटिवश कुछ गलत संदेश चला गया है कि, जिसका खंडन करने के साथ हम क्षमा मांगते हैं. इसके बाद कहा गया कि किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने की हमारी मंशा कभी नहीं रही है. अगर किसी भी धर्म (हिंदू, मुस्लिम, जैन, सिख, ईसाई) को ठेस पहुंची हो तो हम दिल से खेद व्यक्त करते हैं और क्षमाप्रार्थी हैं.

कोरोना ट्रैकर:


कोरोना वायरस: UP के मेरठ में लोगों ने डॉक्टर से मारपीट की और फ्लैट खाली करने को कह दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा-

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?