Submit your post

Follow Us

यूपी पुलिस ने अस्पताल के ऑक्सीजन सिलेंडर रोके, पूछने पर कहा- 'इंस्पेक्टर कुछ भी कर सकता है'

कोरोना वायरस से देश का बुरा हाल है. हर दिन लाखों लोग संक्रमित हो रहे हैं और हज़ारों लोगों की मौत हो रही है. हर तरफ ऑक्सीजन, दवाइयां और हॉस्पिटल में बेड्स की किल्लत देखी जा रही है. ऐसे में ऑक्सीजन और बेड्स को लेकर कई फ्रॉड की रिपोर्ट भी सामने आ रही है. कई प्रदेशों की पुलिस इस महामारी के दौरान हो रहे मेडिकल फ्रॉड को लेकर कड़ी कारवाई कर रही है. लेकिन उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से कुछ उलट ही ख़बर आ रही है.

सोशल मीडिया पर एक ऑडियो वायरल है. इस कथित ऑडियो में इंडिया न्यूज़ से जुड़े राजेश मिश्रा और कंधरापुर के स्टेशन ऑफिसर (SO) दिनेश कुमार सिंह बात कर रहे हैं. वायरल ऑडियो में पत्रकार राजेश एसओ दिनेश से पूछते हैं कि आपने हॉस्पिटल के सिलेंडर क्यों पकड़ लिए हैं, तो एसओ दिनेश सिंह की तरफ से जवाब आता है….

‘ऐसे ही पकड़ लिए हैं. अरे, इंस्पेक्टर कुछ भी कर सकता है न…’

मामले को लेकर हमने इंडिया न्यूज़ से जुड़े राजेश मिश्रा से बात की. उन्होंने बताया कि,हम कई दोस्त मिलकर जिले में कोविड मरीजों के लिए हेल्पलाइन चला रहे हैं. ऐसे में हमें जानकारी मिली कि कंधरापुर पुलिस ने नजीर हॉस्पिटल के ऑक्सीजन सिलेंडर पकड़ लिए हैं. इसके बाद हमने मामले का पता किया. पता चला कि कंधरापुर के एसओ दिनेश सिंह की टीम ने ऑक्सीजन को पकड़ा है. इसके बाद हमने उनसे बात की और उसके बाद की बात तो वायरल हो गई.

एसओ ने कहा कि उन्होंने हॉस्पिटल ले जा रहे ऑक्सीजन सिलेंडर को पकड़ा है और वह इंस्पेक्टर हैं तो कुछ भी कर सकते हैं.

अस्पताल का बयान भी जान लें

इसके बाद हमने नजीर हॉस्पिटल के डॉक्टर अभिमन्यु से बात की. उन्होंने बताया कि जिले के ऑक्सीजन सेंटर से सभी हॉस्पिटल को ऑक्सीजन सिलेंडर जाते हैं. यहां से भी 5 सिलेंडर गए थे. ड्रग इंस्पेक्टर ने तय किया हुआ है कि किस हॉस्पिटल को कितनी ऑक्सीजन मिलेगी. डॉ अभिमन्यु ने आगे कहा,

नजीर हॉस्पिटल के लिए 5 सिलेंडर तय थे. पुलिस ने रेड डालकर सभी सिलेंडर अपने कब्ज़े में ले लिए. पुलिस का कहना था कि हॉस्पिटल के कुछ लोग कालाबाजारी में शामिल है. ऐसे में हॉस्पिटल की ओर से कहा गया कि आप हॉस्पिटल के लिए तय सिलेंडर जाने दें और अपनी जांच करें. जो लोग कालाबाजारी में शामिल हैं उन पर कारवाई करें. चूंकि हॉस्पिटल को कितने सिलेंडर जाते हैं यह तो ड्रग इंस्पेक्टर को पता होता है. उन्हें सारी जानकारी होती है. हॉस्पिटल को सिलेंडर वापस दे दिए जाएं, ताकि मरीजों (कोरोना सहित अन्य और मरीज़) को कोई दिक्कत न हो लेकिन पुलिस के लोग नहीं माने.

मामले को लेकर दी लल्लनटॉप को हॉस्पिटल के डायरेक्टर वामिक ने बताया कि,

दोपहर 2 बजे करीब हमारे हॉस्पिटल के 5 सिलेंडर को पुलिस ने कब्ज़े में ले लिया. उनका कहना था कि कालाबाजारी का मामला था. हमने पुलिस से बात की. कहा कि अगर ड्राइवर या कोई और कालाबाजारी से जुड़ा हुआ है, तो आप उन पर कारवाई कीजिए, लेकिन हॉस्पिटल के लिए जो तय सिलेंडर हैं वो दे दीजिए, क्योंकि हॉस्पिटल में कोरोना के लक्षण वाले कई मरीज़ हैं. हमने डीआईजी मनु शंकर से बात की. उन्होंने हमारी मदद की. हॉस्पिटल के कोटे के सिलेंडर रात 9 बजे हॉस्पिटल पहुंचा दिए गए हैं.

SO दिनेश सिंह की सफाई

वायरल ऑडियों को लेकर हमने स्टेशन ऑफिसर दिनेश सिंह से भी बात की. उन्होंने शुरुआत में बताया कि ‘वह ऑडियो मेरा है या नहीं उसको लेकर अभी मैं कुछ नहीं कह सकता. ये तो जांच का विषय है.’ लेकिन बाद में उन्होंने वायरल ऑडियो में अपनी आवाज़ होने से साफ़ मना कर दिया. दिनेश सिंह ने बताया,

हमें ऑक्सीजन सिलेंडर को लेकर कुछ दिक्कतों के बारे में पता चला था. इसके बाद हमारी टीम और ड्रग इंस्पेक्टर ने ऑक्सीजन सिलेंडर पकड़े. पकड़े गए ऑक्सीजन को ड्रग इंस्पेक्टर ने अपने कब्ज़े में लिया और लेकर चले गए.

हॉस्पिटल के लिए जा रहे पकड़े गए ऑक्सीजन सिलेंडर के सवाल पर उन्होंने बताया कि, इस मामले की जांच की जा रही है. मामले जुड़े कई और सवालों के जवाब में भी एसओ दिनेश सिंह का जवाब कुछ ऐसा ही रहा. उन्होंने कहा कि इन सूचनाओं के बारे में मुझे कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है.

आजमगढ़ एसपी का क्या कहना है?

मामले को लेकर हमने आजमगढ़ के एसपी सुधीर कुमार सिंह से बात की. उन्होंने बताया-

इस केस को लेकर चीज़ें साफ़ कर लीजिए. दिनेश सिंह ने ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं पकड़े हैं. डीएम सर के पास एक सूचना थी कि कुछ ऑक्सीजन सिलेंडर ब्लैक में बेचे जा रहे हैं. इसके आधार पर मैंने अपनी एक स्वैट टीम भेजी थी. वहां से कुछ सिलेंडर मिले. उन्हें थाने ले जाया गया.

एसपी सुधीर कुमार सिंह ने आगे कहा कि मामले को लेकर संबंधित लोगों पर कारवाई की जाएगी. और इस पूरे मामले में कंधरापुर के इंस्पेक्टर का कोई रोल नहीं है. उन्होंने बताया कि चूंकि यह मामला उस थाना क्षेत्र का है, ऐसे में उस थाने क्षेत्र का नाम आ रहा है.


वीडियो- ऑक्सीजन टैंकर लेकर आ रहा था, रास्ते में ऐसी नींद आई कि ढूंढने पुलिस को जाना पड़ा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

कौन हैं रामबाबू हरित और जसवंत सैनी?

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

ट्रस्ट द्वारा खरीदी जा रही जमीनों के दो और सौदे विवादों के घेरे में.