Submit your post

Follow Us

पुलिसवाले मूंछें तो नत्थूलाल जैसी भी रख सकते हैं, लेकिन दाढ़ी पर कैंची चलानी ही होगी

शराबी फिल्म का ये डायलॉग तो सुना ही होगा- मूछें हो तो नत्थूलाल जैसी… यूपी में पुलिसवाले चाहें तो नत्थूलाल जैसी मूंछें भी रख सकते हैं. लेकिन दाढ़ी के मामले में उन्हें कोई छूट नहीं होगी. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बागपत में एक दारोगा इंतसार अली को दाढ़ी बढ़ाने पर सस्पेंड किए जाने पर विवाद के बाद यूपी पुलिस ने एक सर्कुलर जारी किया है. इसमें दाढ़ी के अलावा वर्दी और ड्रेस कोड को लेकर नियम बताए गए हैं.

यूपी के डीजीपी एससी अवस्थी की ओर से जारी इस सर्कुलर में कपड़ों से लेकर बालों तक के बारे में नियम स्पष्ट किए गए हैं. आदेश में साफ तौर पर लिखा है कि सिख पुलिसकर्मियों को छोड़कर बाकी सभी क्लीन शेव रहेंगे. कलमें, लंबे बाल नहीं रखे जा सकेंगे. सर्कुलर के नियम नंबर तीन में लिखा गया है कि अगर धार्मिक मान्यताओं के आधार पर दाढ़ी रखने की अनुमति मिल भी जाती है तो भी दाढ़ी के बाल छोटे रहेंगे और सही तरह से कटे होंगे. ये अनुमति एक निश्चित अवधि के लिए होगी. समय पूरा होने के बाद दाढ़ी कटवानी होगी. हालांकि मूंछें रखने पर नियमों की कोई पाबंदी नहीं है. पुलिसकर्मी जैसे चाहें, वैसी मूंछें रख सकते हैं, लेकिन ट्रिम करके और साफ सफाई के साथ.

 

Whatsapp Image 2020 10 27 At 7.30.42 Am
UP पुलिस के नए सर्कुलर में दाढ़ी, मूंछों के बारे में भी नियम लिखे हैं.

सर्कुलर में ड्रेस कोड के हिसाब से ही वर्दी, जूते, मोजे आदि पहनने के निर्देश दिए गए हैं. ये भी कहा है कि खुले बटन रखने, बिना मोजे वाले जूते पहनने इत्यादि की इजाजत नहीं होगी. इन नियमों का पालन न करने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सकती है.

Whatsapp Image 2020 10 27 At 7.30.42 Am (1)
UP पुलिस के नए सर्कुलर में अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है.

दाढ़ी कटवाई तो निलंबन भी खत्म

बागपत के रमोला थाने के दारोगा इंतसार अली ने सस्पेंड होने के बाद दाढ़ी कटवा ली तो निलंबन भी खत्म हो गया.  इंतसार अली ने मीडिया को बताया था कि वह पिछले 25 सालों से पुलिस सेवा में हैं. उन्होंने 1994 में कॉन्स्टेबल के पद पर सर्विस जॉइन की थी. शुरू से हल्की दाढ़ी रखते थे. मगर पिछले दो साल से उन्होंने लम्बी दाढ़ी रखनी शुरू की है. इंतसार ने माना कि उन्हें कई बार पदाधिकारियों ने टोका था, जिसके बाद उन्होंने पिछले साल नवंबर में विभाग में एक अर्ज़ी डालकर दाढ़ी रखने की अनुमति मांगी थी. उन्होंने दावा किया था कि नवंबर 2019 में विभाग को उन्होंने ये आवेदन दिया था, लेकिन वह पेंडिग है.

Baghpat
इंतसार ने बताया था कि दाढ़ी पर अफसरों ने कई बार उन्हें टोका भी था.

बागपत के एसपी अभिषेक सिंह ने इस मामले पर मीडिया से कहा था-

बागपत के थाना रमाला में पोस्टेड सब-इंस्पेक्टर इंतसार अली को निलंबित कर दिया गया है. वह बिना अनुमति के दाढ़ी रख रहे थे. उन्हें पहले भी इस प्रकरण में हिदायत दी जा चुकी थी. उनके खिलाफ नोटिस भी जारी हुआ था. इसके बावजूद अपने आचरण में कोई बदलाव नहीं लाना अनुशासनहीनता के दायरे में आता है.

दाढ़ी कटाने पर हुई बहाली

निलंबन के बाद इंतसार अली ने दाढ़ी कटा ली और बहाली के लिए एसपी से कैंप कार्यालय में मुलाकात की. इंतसार ने कहा कि वो पुलिस मैनुअल की बातों को मानेंगे. इस पर एसपी अभिषेक सिंह ने तुरंत इंतसार को बहाल कर दिया और पुलिस लाइन में तैनाती दे दी.


वीडियो- यूपी की जिन सात सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं, उनके बारे में ये जरूरी बातें जान लो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ऑस्ट्रेलिया टूर की टीम से क्यों बाहर हुए रोहित शर्मा?

अनाउंस हुई टीम इंडिया, मिला नया उपकप्तान.

कोयला घोटालाः अटल सरकार में मंत्री रहे दिलीप रे को तीन साल की जेल हो गई है

मामला 21 साल पुराना है.

क्या कहता है बिहार का पहला ओपिनियन पोल: NDA को मिलेगा बहुमत? नीतीश फिर बनेंगे सीएम?

लोकनीति और CSDS के ओपिनियन पोल की बड़ी बातें एक नजर में.

बिहार चुनाव में जितने उम्मीदवारों पर क्रिमिनल केस हैं, उससे ज्यादा तो करोड़पति हैं

आपराधिक छवि वालों की इतनी तादाद से साफ है कि दलों को लगता है, 'दाग' अच्छे हैं

बीजेपी विधायक ने कहा- अगर राहुल 'छेड़छाड़' वाली बात साबित कर दें, तो मैं इस्तीफा दे दूंगा

राहुल ने खबर शेयर की थी जिसमें लिखा था-बीजेपी विधायक रेप के आरोपी को थाने से छुड़ा ले गए.

बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

एसटीएफ की टीम ने लखनऊ से पकड़ा. बलिया पुलिस को हैंडओवर करेगी.

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर भरा पानी, परीक्षाएं टलीं, 11 लोगों की मौत

एनडीआरएफ की टीम मदद में जुटी. लोगों से घरों में रहने की अपील.

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

ये पूरा मामला तो वाकई हैरान कर देने वाला है.

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

कहा- आर्टिकल 370 को हटाया जाना चीन कभी स्वीकार नहीं करेगा.

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

2024 तक देश के 6.62 लाख गांवों तक सुविधा पहुंचाने का लक्ष्य है.