Submit your post

Follow Us

असम की इस नर्स ने शादी के दिन तक ड्यूटी की, अब वाहवाही हो रही है

असम का नलबाड़ी जिला. यहां कोरोना संक्रमितों की देखभाल करने वाली एक नर्स ने कमाल कर दिया है. यहां के सरकारी अस्पताल में काम करने वाली ओली बर्मन ने अपनी शादी के दिन तक मरीजों की देखभाल की. यही नहीं, उन्होंने ठीक अगले दिन से ड्यूटी भी जारी रखी है. अब उनके इस समर्पण को सोशल मीडिया पर काफी सराहा जा रहा है.

क्या है पूरा मामला

ओली बर्मन. 23 साल की यह नर्स नलबाड़ी के सिविल हॉस्पिटल में 2018 से कार्यरत हैं. 18 मई को इनके गांव सिंगमारी में इनकी शादी थी. ओली बर्मन और उनके परिवार के सदस्यों ने कुछ महीने पहले ही इनकी शादी प्लान की थी. लेकिन फिर कोरोना और लॉकडाउन ने मामला खराब कर दिया. लेकिन फिर परिवार के लोगों ने तय किया कि सरकार के आदेशों का पालन करके लॉकडाउन के दौरान ही शादी का समारोह आयोजित करेंगे. ये नर्स अपनी शादी की तैयारियों के साथ-साथ ड्यूटी भी कर रही थीं.

वैसी स्थिति में ओली बर्मन ने कहा कि वो एक कोरोना वॉरियर हैं, लेकिन उनकी शादी भी होनी है. शादी से पहले उन्होंने कहा-

इस संकट की घड़ी में मैं खुद को COVID-19 से लड़ने के लिए समर्पित कर रही हूं. ठीक उसी समय मैं किसी से शादी भी करना चाहती हूं. मैंने आज तक अपना कर्तव्य निभाया है. मैं अपनी शादी की रस्में पूरी होने के बाद, रात से ही अपनी ड्यूटी जॉइन कर लेना चाहती हूं.

ड्यूटी से आकर पूरी करती थीं शादी की रस्में 

शादी की रस्मों के लिए ओली ने कोई छुट्टी नहीं ली. अपनी ड्यूटी पूरी करने के बाद ओली शनिवार, 16 मई को घर आयीं और फिर उनकी मेहदी की रस्म पूरी हुई. फिर ओली रविवार को सुबह हॉस्पिटल गईं. अपनी शिफ्ट पूरी की और लौटकर शादी की अन्य रस्मों में शामिल हुईं.

शादी के बाद ड्यूटी जॉइन करने के बारे में ओली ने कहा-

मेरे सीनियर अधिकारी चाहते थे कि मैं सोमवार रात से ही ड्यूटी में शामिल हो जाऊं. शादी की रस्में पूरी होने के बाद मैंने ऐसा ही किया. ऐसी स्थिति में लोगों के लिए सेवा सबसे पहले आती है.

ओली ने बताया कि इस शादी में परिवार के सदस्यों के अलावा बेहद कम लोग ही शामिल हुए. हालांकि नलबाड़ी के कमिश्नर भारत भूषण देवचौधरी भी शादी समारोह में शामिल हुए. फिलहाल काम के प्रति ओली का ये समर्पण लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है.



वीडियो देखें : पड़ताल: असम के मुख्यमंत्री की तरफ से कथित लॉकडाउन करने का दावा कितना सच्चा?

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब इस तारीख से देश के अंदर फ्लाइट्स से यात्रा कर सकेंगे

इससे पहले 200 नॉन एसी ट्रेन चलने की सूचना दी गई थी.

'अम्फान' आ चुका है, ये कहां से निकला और हमारी तैयारियां कैसी हैं?

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में इसका साफ असर दिखने लगा है.

प्रियंका गांधी ने जो गाड़ियां यूपी भेजी हैं, उनमें कितनी बसें हैं, कितने ऑटो?

छह सूचियों में कुल 1049 गाड़ियों की डिटेल्स भेजी गई है.

देशभर में 200 और ट्रेनें चलने की तारीख़ आ गई है

इस बार ख़ुद रेल मंत्री ने बताया है.

लॉकडाउन 4: दफ़्तरों के लिए क्या गाइडलाइंस हैं?

इस लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी गई हैं.

प्रियंका गांधी वाड्रा की 1000 बसों में कुछ नंबर ऑटो और कार के कैसे निकल गए?

हालांकि संबित पात्रा ने भी जिस बस को स्कूटर बताया, वहां एक पेच है.

मज़दूरों की लाश की ऐसी बेक़द्री पर झारखंड के सीएम कसके गुस्साए हैं

घायल मज़दूरों के साथ अमानवीय व्यवहार करने का आरोप.

कोरोना की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, जल्द ही आखिरी स्टेज का टेस्ट होने की उम्मीद

जुलाई के महीने को लेकर अहम बात भी कह डाली है.

केजरीवाल ने लॉकडाउन 4 में बहुत सारी छूट दे दी हैं

ऑड-ईवन आ गया, लेकिन ट्रांसपोर्ट में नहीं.

लॉकडाउन 4: पर्सनल गाड़ी से शहर या राज्य के बाहर जाने के क्या नियम हैं?

केंद्र सरकार ने इस पर क्या कहा है?