Submit your post

Follow Us

लोग न डरें इसलिए विधायक तीन रात श्मशान में सो गया और फिर क्या हुआ?

आंध्र प्रदेश के पालाकोल के विधायक निम्माला रामानायडु ने 22 जून से 24 जून तक की पूरी रातें वहां के श्मशान में बिताईं. रामानायडु ने वहां खाना भी खाया और पूरे दिन और रात वहीं रहे. ऐसा उन्होंने श्मशान में भूतों के अंधविश्वास को दूर करने के लिए किया. वो इसलिए कि भूतों के डर के मारे मजदूर यहां काम करने से मना कर रहे थे.

रामानायडु पालाकोल विधानसभा से टीडीपी के विधायक हैं. उन्होंने बताया कि पालाकोल शहर में स्थित श्मशान की हालत बहुत खराब है. बारिश के दिनों में यह एकदम दलदल में बदल जाता है. इसके अलावा यहां न तो डेड बॉडी को रखने के लिए कोई ढंग का प्लेटफॉर्म है, न ही अंतिम संस्कार के बाद नहाने की सुविधा. पास में बहुत सारा कचरा पड़ा है जिसमें से बदबू आती रहती है. अंतिम संस्कार के लिए कोई दूसरी जगह नहीं है. ऐसे में इस जगह के सुधार के लिए राज्य सरकार से आठ महीने पहले तीन करोड़ रुपए पास करवाए.

श्मशान में ही खाना खाते रामानायडु और उनके साथी.
श्मशान में ही खाना खाते रामानायडु और उनके साथी.

पैसे मिलने पर टेंडर निकाला गया, लेकिन वहां भूतों के अंधविश्वास के चलते दो बार किसी ने टेंडर ही नहीं भरा. तीसरी बार टेंडर निकालने पर एक ठेकेदार काम करने को राजी हुआ तो उसके मजदूरों ने डर से काम करने से मना कर दिया. मजदूरों को कई बार समझाया गया, लेकिन वो फिर भी काम करने को तैयार नहीं हुए. ऐसे में भूतों का डर भगाना जरूरी था. इसलिए रामानायडु ने यह तय किया कि वो खुद रात को श्मशान में रुकेंगे और खाना भी वहीं खाएंगे.

भूतों ने नहीं मच्छरों ने किया परेशान.
भूतों ने नहीं मच्छरों ने किया परेशान.

सारे काम यहीं से किए

रामानायडु 22 जून को दिनभर श्मशान में बैठे रहे. वहीं से अपना सारा काम किया. फिर रात को वहीं अपनी चारपाई बिछाई और सो गए. अगले दिन उन्होंने कहा कि यहां भूत जैसा कुछ नहीं है. बस कचरे की बदबू आई और मच्छरों ने काटा. उसके लिए वो मच्छरदानी का इंतजाम कर आराम से सोए. इसके बाद वो 23 और 24 जून को भी श्मशान में ही सोए. अब कौन ही चाहेगा कि उसे मच्छरों के बीच में सोना पड़े पर विधायक जी ने अंधविश्वास हटाने के लिए ये जोखिम उठाया.

रामानायडु की पहल के बाद हुआ श्मशान में निर्माण कार्य शुरू.
रामानायडु की पहल के बाद हुआ श्मशान में निर्माण कार्य शुरू.

रामानायडु की ये पहल रंग लाई और 23 जून से मजदूर काम पर आ गए. मजदूरों के आने पर रामानायडु ने काम शुरू करवाया. पूरे काम की वो खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं. रामानायडु को जल्द ही श्मशान की हालत सुधरने की उम्मीद है. रामानायडु 2014 में पहली बार विधायक चुने गए थे. वो आंध्र यूनिवर्सिटी से एमफिल-पीएचडी हैं.


ये भी पढ़ें-

पीएम मोदी ने राशिद खान के बारे में जो बोला, वो सुन कहीं राशिद भारत से न खेलने लगें

सोते मजदूर पर ट्रक मिट्टी डाल गया, फिर जो हुआ उसे आप चमत्कार ही कहेंगे

सांवली बोला तो दाल में मिलाया जहर, पांच मरे, 120 लोग अस्पताल में

क्लास 10 की गायब 42,000 एग्जाम कॉपियां जहां मिलीं, जानकर सन्न रह जाएंगे

वीडियो-जम्मू-कश्मीर में बीजेपी-पीडीपी सरकार गिरने के पीछे मेहबूबा मुफ़्ती की ज़िद थी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

आम आदमी पार्टी को लाखों का चंदा देने वाले CA को पुलिस ने किस मामले में गिरफ्तार किया है?

रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज़ की ओर से पुलिस को क्या शिकायत मिली थी?

'आदिपुरुष' में प्रभास जो रोल करने वाले हैं, उससे रामभक्त खुश हो जाएंगे

प्रभास की लास्ट फिल्म 'साहो' थी.

उस ऑस्ट्रेलियन ने लिया संन्यास, जिसका पहला और आखिरी, दोनों विकेट सचिन ही रहे!

इंडिया में डेब्यू करने आया था, लेकिन करियर खत्म करवाकर लौटा.

बिपाशा का खुलासा, किस तरह एक टॉप प्रोड्यूसर ने उन पर डाली थी बुरी नजर

ये भी बताया कि उनकी एक 'गलती' से प्रोड्यूसर की बोलती कैसे बंद हो गई

कोरोना काल में कैसे डाले जाएंगे वोट, चुनाव आयोग ने गाइडलाइन जारी की

कोरोना पॉजिटिव कैसे देंगे वोट, इस सवाल का भी जवाब है.

11 साल की लड़की को सेक्सुअलाइज़ करने वाले पोस्टर पर नेटफ्लिक्स को माफी मांगनी पड़ी

'क्यूटीज़' एक फ्रेंच फिल्म है, जो 9 सितंबर को नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ होगी.

वर्ल्ड कप जीतने वाला क्रिकेटर सब्जी बेच रहा है!

सरकार से नौकरी की उम्मीद थी, लेकिन वो उम्मीद दरक रही है.

आदित्य पंचोली ने क्यों कहा कि कंगना रनौत को लौटाना होगा उनका पद्मश्री अवॉर्ड

बॉलीवुड के स्टार्स एक-दूसरे के अवॉर्ड के पीछे क्यों पड़ गए हैं?

इस मेड इन इंडिया ऐप पर विडियो कॉन्फ़्रेन्सिंग करके इंडियंस भी कहेंगे- ज़ूम बराबर ज़ूम

केरल की कंपनी ने बनाया विडियो कॉलिंग ऐप ज़ूम का देसी विकल्प और जीत लिया 1 करोड़ का इनाम

तेलंगाना: हाइड्रो पावर प्लांट में लगी आग में छह लोगों की मौत हो गई, तीन का अब भी पता नहीं

जब आग लगी तो नौ लोग प्लांट के अंदर ही फंस गए थे.