Submit your post

Follow Us

तमिलनाडु: जयराज और फेनिक्स को मारने वाले पुलिसवाले पहले भी आठ लोगों को कस्टडी में पीट चुके हैं

तमिलनाडु के तूतिकोरिन में 19 जून को दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया. ये लोग थे पी जयराज और उनका बेटा जे बेनिक्स. इन पर आरोप था कि इन्होंने तय समय से ज़्यादा अपनी मोबाइल एक्सेसरी की दुकान खुली रखी. सतकुलम थाना पुलिस ने मजिस्ट्रेट से इन दोनों की रिमांड मांगी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मजिस्ट्रेट ने आरोपियों को देखे बिना ही रिमांड दे दी. जबकि नियमों के मुताबिक रिमांड पर भेजने से पहले मजिस्ट्रेट आरोपियों को खुद देखते हैं कि उन्हें किसी तरह की चोट तो नहीं लगी है.

22 जून को बेनिक्स को अस्पताल ले जाया गया जहां उसने दम तोड़ दिया. एक दिन बाद उसके पिता की भी मौत हो गई. आरोप है कि इन दोनों को पुलिस ने बुरी तरह मारा था. मामले में मद्रास हाईकोर्ट ने रिपोर्ट तलब की है. वहीं बाप-बेटे को न्याय दिलाने के लिए ट्विटर पर #JusticeForJeyarajAndFenix ट्रेंड हुआ.

कई और लोगों को भी पीटा, एक की मौत

अब पता चला है कि सतकुलम थाना पुलिस ने कई और लोगों को भी टॉर्चर किया था. इनमें से एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि दो को अस्पताल में भर्ती कराया गया. जयराज और बेनिक्स मामले की न्यायिक जांच रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार, तूतीकोरन के जिला जज ने इस बारे में रिपोर्ट 25 जून को मद्रास हाईकोर्ट में सबमिट की. कोर्ट 30 जून को इस रिपोर्ट पर सुनवाई कर सकता है.

जयराज-बेनिक्स मामले में आरोपी पुलिसवालों पर ही टॉर्चर का आरोप

खबर के अनुसार, जिला जज की रिपोर्ट में लिखा है कि टॉर्चर में एक वॉलंटियर ग्रुप ‘फ्रेंड्स ऑफ पुलिस’ ने भी पुलिसवालों की मदद की. रिपोर्ट में तीन पुलिसवालों के नाम भी हैं. ये हैं इंस्पेक्टर श्रीधर, सब इंस्पेक्टर बालकृष्णन और रघु गणेश. आरोप है कि बालकृष्णन और गणेश ने मारपीट की. जबकि श्रीधर ने उन्हें ऐसा करने को कहा. जयराज और बेनिक्स मामले में भी यही तीनों पुलिसवाले आरोपी हैं. इन्हें सस्पेंड किया जा चुका है. बताया जाता है कि सतकुलम के मजिस्ट्रेट पी सरवनन की भूमिका की भी जांच होगी. सरवनन ने ही जयराज-बेनिक्स और एक दूसरे व्यक्ति की रिमांड दी थी. इस मामले में तमिलनाडु सरकार ने जांच सीबीआई को सौंप दी है.

तमिलनाडु सरकार ने जयराज और बेनिक्स के परिवार को आर्थिक मदद दी है. लेकिन मामले में सरकार पुलिसवालों और अपने को बचाती दिख रही है.
तमिलनाडु सरकार ने जयराज और बेनिक्स के परिवार को आर्थिक मदद दी है. लेकिन मामले में सरकार पुलिसवालों और खुद को बचाती दिख रही है.

पीट-पीटकर मार डाला, बिना पोस्टमार्टम कराए शव दे दिया

इंडियन एक्सप्रेस ने रिपोर्ट के बारे में लिखा है कि दो सप्ताह पहले सतकुलम थाने में लगभग एक दर्जन लोगों को बुरी तरह पीटा गया. इनमें से एक की मौत हो गई जबकि दो लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया. मरने वाले शख्स का नाम महेंद्रन था. उसे उसके भाई दुरई के साथ अरेस्ट किया गया था. रिपोर्ट में लिखा है कि महेंद्रन को सतकुलम थाने में तीन पुलिसवालों ने तब तक मारा जब तक कि उसकी मौत न हो गई. बाद में शव को बिना पोस्टमार्टम के ही उसकी मां को दे दिया. साथ ही धमकी दी गई कि अगर किसी को इस बारे में बताया तो दुरई को भी इसी तरह मार दिया जाएगा.

एक पीड़ित ने बताया, पुलिस ने कैसे किया टॉर्चर

सूत्रों के हवाले से एक्सप्रेस ने लिखा है कि 15 दिन पहले एक नाबालिग सहित आठ लोगों को सतकुलम थाने में टॉर्चर किया गया था. इन लोगों को लगातार तीन दिन तक मारा-पीटा गया. नाबालिग को दो दिन तक अवैध तरीके से जेल में रखा गया और पीटा गया. पुलिस टॉर्चर में घायल और बाद में अस्पताल में भर्ती कराए गए राजासिंह नाम के एक शख्स ने पुलिस की बर्बरता के बारे में बताया. राजासिंह ने न्यायिक टीम को बताया कि पुलिसवालों ने उसे एक बेंच पर लेटा दिया. फिर ‘फ्रेंड्स ऑफ पुलिस’ के कार्यकर्ता उसकी टांगों पर बैठ गए. किसी ने उसका सिर और हाथ पकड़ लिए. फिर दो पुलिसवालों ने उसे पीटा. राजासिंह ने इंस्पेक्टर श्रीधर पर पिटाई का ऑर्डर देने का आरोप लगाया.

मजिस्ट्रेट ने दूर से देखकर रिमांड पर भेजा!

रिपोर्ट में कहा गया है कि हिरासत में लोगों को लाठियों से पीटा गया. सूत्र ने बताया कि मजिस्ट्रेट के सामने पेश करने से पहले गिरफ्तार किए गए सभी लोगों को डराया गया. उनसे चुप रहने को कहा गया. पेशी के दौरान मजिस्ट्रेट सरवनन ने गिरफ्तार लोगों को दूर से देखा और रिमांड पर भेज दिया. जयराज और बेनिक्स के परिवार ने भी कहा कि सरवनन ने ऊपर से देखकर ही दोनों को रिमांड पर भेज दिया था.

टॉर्चर किए लोगों को जेल में डाला, इलाज भी नहीं कराया

सूत्र के हवाले से इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि राजासिंह को पिटाई के बाद कोविलपट्टी सब जेल में भेज दिया गया. जबकि उसे अस्पताल भेजा जाना चाहिए था. बता दें कि 20 जून को जयराज और बेनिक्स को गंभीर हालत में इसी जेल में रखा गया था. दो दिन बाद दोनों की मौत हो गई थी. इस मामले में कोविलपट्टी सब जेल के सुपरिटेंडेंट की भूमिका भी सवालों के घेरे में है. उन्होंने जेल नियमों की अनदेखी की. अगर वे नियमों के अनुसार, घायलों को अस्पताल भिजवाते तो उनकी जान बचाई जा सकती थी.


Video: तमिलनाडु: पुलिस स्टेशन में पूछताछ के लिए ऑटो ड्राइवर को बुलाया, हिरासत में मारपीट से मौत का आरोप

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

नए नियम के बाद विवादों में कमी आएगी?

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

अख़बार का दावा, सरकारी जांच में हुआ ख़ुलासा

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

जानिए क्या है पूरा मामला?

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सेना के इतिहास से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने की पॉलिसी को मंजूरी

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब के अलावा बाकी चुनाव भी साथ लड़ने की घोषणा.

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

मुकुल रॉय को बराबर में बिठाकर ममता बनर्जी किन गद्दारों पर भड़कीं?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

पहले TV डिबेट में बोला, फिर फेसबुक पर पोस्ट लिखा.

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद शरीर से सिक्के-चम्मच चिपकने के दावों में कितना सच?

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद शरीर से सिक्के-चम्मच चिपकने के दावों में कितना सच?

क्या शरीर में वाकई चुंबकीय शक्ति पैदा हो जाती है?

पावर बैंक ऐप, जिसने 15 दिन में पैसे डबल करने का झांसा दे 4 महीने में 250 करोड़ उड़ा लिए

पावर बैंक ऐप, जिसने 15 दिन में पैसे डबल करने का झांसा दे 4 महीने में 250 करोड़ उड़ा लिए

पैसा शेल कंपनियों में लगाते, फिर क्रिप्टोकरंसी बनाकर विदेश भेज देते थे.

भूटान के बाद अब नेपाल ने पतंजलि की कोरोनिल दवा बांटने पर रोक क्यों लगा दी?

भूटान के बाद अब नेपाल ने पतंजलि की कोरोनिल दवा बांटने पर रोक क्यों लगा दी?

नेपाल के अधिकारियों ने IMA के उस लेटर का भी हवाला दिया है, जिसमें कोरोनिल को लेकर रामदेव को चुनौती दी गई थी.