Submit your post

Follow Us

चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम ने चांद की पहली तस्वीर भेज दी है, देख लीजिए

चंद्रयान 2 ने पहली तस्वीर भेज दी है. चंद्रमा की यात्रा पर रवाना हुए चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम ने ये तस्वीर भेजी है. ये तस्वीर चांद की सतह से 2650 किलोमीटर की ऊंचाई से ली गई है. इस तस्वीर को इसरो ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है.

वैसे ये तस्वीर तो 21 अगस्त के दिन ली गई लेकिन शेयर 22 अगस्त के दिन की गई है. इस तस्वीर में 2 खास बात ये भी है कि इसमें मेर ओरिएंटर बेसिन और अपोलो क्रेटर्स को साफ देखा जा सकता है. इससे पहले इसरो ने 4 अगस्त के दिन चंद्रयान-2 की ओर से भेजी गई धरती की तस्वीरें शेयर की थीं.

चंद्रयान 2 का लैंडर विक्रम 6 सितंबर के दिन चांद पर पहुंचेगा उसके बाद आगे की प्रकिया होगी.


वीडियो- इसरो चंद्रयान- 2 के लैंडर और रोवर को चांद के साउथ पोल पर क्यों उतार रहा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

12 मई से चलने वाली ट्रेनों के स्टॉपेज, टाइम टेबल और नियम क़ानून की जानकारी यहां देखिए

किस-किस दिन चलेंगी ट्रेनें?

कोरोना: सुपर स्प्रेडर क्या होते हैं और ये इतने खतरनाक क्यों हैं कि अहमदाबाद में सब कुछ बंद करना पड़ा

अहमदाबाद में 14 हजार सुपर स्प्रेडर होने की आशंका जताई जा रही है.

प्रवासी मजदूरों को लेकर यूपी और राजस्थान की पुलिस में पटका-पटकी हो गई है!

डीएम और एसपी मौके पर पहुंचे तब मामला शांत हुआ.

मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी बोले-तबलीगी जमात की वजह से लॉकडाउन बढ़ाना पड़ा

ये भी कहा-तबलीग़ियों का गुनाह हिंदुस्तान के मुसलमानों का का गुनाह नहीं है.

कोरोना का नियम बदला, अब बिना टेस्ट ही घर भेजे जाएंगे कम बीमार मरीज

जानिए क्या है सरकार की नई गाइडलाइंस.

दवा बेची, समाजसेवा की, फिर पता चला ख़ुद ही कोरोना पॉज़िटिव हैं, अब जेल हो गई

बनारस के दवा व्यापारी ने कई लोगों को बांटा कोरोना.

क्या सोशल डिस्टेंसिंग से चूकने की इतनी बुरी सज़ा देगी पुलिस?

किसी एक पुलिसवाले का ऐसा करना बाकियों की मेहनत पर पानी फेर देता है.

उदयपुर में एक ही दिन में कोरोना वायरस के 58 केस सामने आए

राजस्थान में मरीज़ों की संख्या तीन हज़ार से ऊपर पहुंच चुकी है.

सूरत: BJP कार्यकर्ता पर आरोप, घर पहुंचाने के नाम पर मजदूरों से पैसे लिए, टिकट मांगने पर पीटा!

एक अन्य वीडियो में BJP पार्षद के भाई टिकट के ज्यादा पैसे लेते दिखे.

जिस फ़ैक्टरी से निकली गैस ने तबाही मचाई, उसे क्लीयरेंस ही नहीं मिला था!

आबादी के बीच बना रहे थे स्टायरीन प्रोडक्ट.