Submit your post

Follow Us

ओ.पी. सोनी, पंजाब के नए डिप्टी सीएम जिन्होंने सिद्धू के खिलाफ केस कर दिया था

पंजाब के पहले दलित मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सोमवार 20 सितंबर को शपथ ली. उनके साथ शपथ लेने वालों में सुखजिंदर सिंह रंधावा और ओम प्रकाश सोनी भी थे. दोनों सीएम के डिप्टी होंगे, मतलब पंजाब के उपमुख्यमंत्री होंगे. चन्नी की तरह ही रंधावा और सोनी भी कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में कैबिनेट मिनिस्टर रह चुके हैं. कैप्टन के इस्तीफा देने के बाद मुख्यमंत्री पद के लिए भी दोनों का नाम रेस में बताया जा रहा था. आइए बताते हैं, इनके बारे में.

सुखजिंदर सिंह रंधावा

डेरा बाबा नानक सीट से विधायक सुखजिंदर सिंह रंधावा का परिवार 1921 से ही कांग्रेस से जुड़ा रहा है. पंजाब के एक्टिव कांग्रेस नेताओं में से शायद सबसे पुरानी कांग्रेस विरासत सुखजिंदर सिंह रंधावा की है. उनके पिता संतोख सिंह रंधावा पंजाब कांग्रेस के दो बार अध्यक्ष रहे. कई सरकारों में मंत्रिपद भी संभाले. 1984 के सिख विरोधी दंगों के समय, जब पूरे पंजाब में कांग्रेस का विरोध हो रहा था, तो भी वो कांग्रेस के साथ बने रहे. कांग्रेस के टूटने पर वह इंदिरा गांधी के साथ हो गए. एक तरह से नेहरू-गांधी परिवार से करीबी रही.

तीन बार के कांग्रेस विधायक सुखजिंदर सिंह रंधावा को माझा इलाके का जरनैल कहा जाता है. इस इलाके से करीब 25 विधायक आते हैं. इनमें से 24 कांग्रेस के हैं. रंधावा इन विधायकों में सबसे बड़ा चेहरा हैं. माझा की इसी ब्रिगेड ने बगावत करते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री बनवाया था. तब प्रताप सिंह बाजवा का पत्ता कट गया था.

कैप्टन को मुख्यमंत्री बनाने के लिए माझा के विधायकों को जोड़ने की जिम्मेदारी सुखजिंदर सिंह रंधावा ने निभाई थी, लेकिन बाद में कैप्टन को हटाने की स्क्रिप्ट लिखने वाले मंत्रियों में शुरुआती नाम रंधावा का ही रहा. रंधावा कांग्रेस आलाकमान से हुई तीनों मीटिंग्स में शामिल रहे, जिनका जिक्र कैप्टन ने इस्तीफा देने के बाद किया. वो पंजाब प्रभारी हरीश रावत तक संदेश पहुंचाने के लिए देहरादून भी गए. जट्ट सिख समुदाय से आने वाले रंधावा पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष भी रहे हैं. कैप्टन की कैबिनेट में उन्हें जेल और सहकारिता मंत्री का पोर्टफोलियो मिला था. जेल मंत्री होने की वजह से उन्हें सुरक्षा चेतावनियां मिलती रही हैं. कुछ समय पहले रंधावा ने केंद्र से अपनी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने की मांग की थी. केंद्र ने उनकी इस मांग को ठुकरा दिया था. अब उपमुख्यमंत्री बनने के बाद उन्हें पहले से बेहतर सुरक्षा व्यवस्था मिलेगी.

ओम प्रकाश सोनी

ओम प्रकाश सोनी को पंजाब के चुने गए विधायकों में सबसे बड़ा हिंदू चेहरा माना जाता है. पांच बार के विधायक ओपी सोनी अमृतसर सेंट्रल सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं. कैप्टन कैबिनेट में मेडिकल एजुकेशन और रिसर्च डिपार्टमेंट का पोर्टफोलियो संभाल चुके हैं. 64 साल के हो चुके सोनी 1991 में अमृतसर के पहले मेयर बने थे. पंजाब पब्लिक कांग्रेस कमेटी के महासचिव रहे सोनी नवजोत सिंह सिद्धू पर अवमानना का मुकदमा दायर कर चुके हैं. यह बात साल 2009 की है, तब सिद्धू बीजेपी में हुआ करते थे. 6 मई 2009 को ओपी सोनी ने नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ अवमानना का मुकदमा दायर किया था. सोनी ने आरोप लगाया था कि सिद्धू ने उन्हें ड्रग्स का धंधा करने वाला कहा. अवमानना का मुकदमा दायर करते हुए सोनी ने सिद्धू से भरपाई के तौर पर चार करोड़ रुपये की मांग की थी.


साल 2009 के लोकसभा चुनाव में ओपी सोनी और नवजोत सिंह सिद्धू आमने सामने थे. परिणाम वाले दिन ओपी सोनी ने खुद को विजेता घोषित कर दिया था. हालांकि, कुछ आखिरी बूथ की काउंटिंग बची हुई थी. आखिर में बाजी पलट गई और सिद्धू ने सोनी को 6 हजार से अधिक वोटों से हरा दिया. इसके बाद सोनी ने जून में सिद्धू के खिलाफ एक और मुकदमा दायर किया. सोनी ने आरोप लगाया कि सिद्धू ने अपने करीबी अधिकारियों की मदद से मतगणना में धांधली की. बाद में जब सिद्धू ने कांग्रेस का दामन थामा, तो सोनी ने उनके खिलाफ सभी मुकदमों को वापस ले लिया.

बताया जा रहा है कि सोनी को उपमुख्यमंत्री बनाने के फैसले में सिद्धू का बड़ा हाथ रहा है. सोनी से पहले एक और हिंदू चेहरे ब्रह्म मोहिंद्रा का नाम उपमुख्यमंत्री पद की रेस मेें आगे था. लेकिन फिर अचानक से उनका पत्ता कट गया. और शपथ ओपी सैनी का दिलवा दी गई.


वीडियो-  कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोनिया गांधी को खत लिख किन फैसलों को ‘पीड़ा पहुंचाने’ वाला कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

3 अक्टूबर को आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था.

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

किसानों के बहाने फिर बीजेपी पर निशाना साध रहे वरुण गांधी?

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

ट्विटर पर फिल्म इंडस्ट्री ने पुनीत को किया भारी मन से याद.

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

इससे फेसबुक पर क्या कुछ फर्क पड़ने वाला है?

क्या मोदी सरकार ने अग्नि-5 मिसाइल की क्षमता घटा दी है?

क्या मोदी सरकार ने अग्नि-5 मिसाइल की क्षमता घटा दी है?

कांग्रेस सेवा दल के दावे पर लोग मजे क्यों लेने लगे?