Submit your post

Follow Us

सुब्रमण्यम स्वामी ने किस 'दुर्लभ गुण' की वजह से ममता बनर्जी की तुलना पूर्व प्रधानमंत्रियों से कर डाली?

बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी तृणमूल कांग्रेस (TMC) में शामिल होने वाले हैं. ये हम नहीं, ट्विटर यूजर कह रहे हैं. चर्चा गरम है कि सुब्रमण्यम स्वामी जल्दी ही ममता बनर्जी की TMC का हाथ थाम सकते हैं. उन्होंने एक के बाद एक इसके संकेत दिए हैं. बुधवार, 24 नवंबर को स्वामी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी से मुलाक़ात की. इस मुलाक़ात के बाद स्वामी ने ममता बनर्जी की ऐसी तारीफ़ की जिसकी चर्चा हर जगह हो रही है. अपने ट्विटर हैंडल से सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट किया,

मैं (आजतक) जिन राजनेताओं से मिला या जिनके साथ काम किया, उनमें ममता बनर्जी का कद जेपी (मतलब जयप्रकाश नारायण), मोरारजी देसाई, राजीव गांधी, चंद्रशेखर और पीवी नरसिम्हा राव के बराबर है. इन लोगों की कथनी और करनी में फर्क नहीं होता था. भारतीय राजनीति में ये एक दुर्लभ गुण है.

गौर करने वाली बात ये है कि इस ट्वीट में स्वामी ने जिन 5 नेताओं का नाम लिया है, उनमें से 4 तो देश के प्रधानमंत्री रह चुके हैं. इससे ना सिर्फ सुब्रमण्यम स्वामी के TMC में जाने के अटकलें तेज हुई हैं, बल्कि इस संभावना को भी बल मिला है कि 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में ममता बनर्जी विपक्ष की ओर से प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवार हो सकती हैं.

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख इन दिनों दिल्ली में हैं. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक दोनों नेताओं की मुलाकात TMC के जनरल सेक्रेटरी और ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी के आधिकारिक आवास पर हुई.

सुब्रमण्यम स्वामी अतीत में कई मौकों पर टीएमसी सुप्रीमो की प्रशंसा कर चुके हैं. वहीं केंद्र में पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार हमेशा उनके निशाने पर रही है. स्वामी बार-बार मोदी सरकार की आलोचना करते रहे हैं. इस बीच पिछले महीने उन्हें बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से हटा दिया गया. केंद्रीय सत्तारूढ़ दल के इस कदम को उसके खिलाफ स्वामी की तीखी आलोचनाओं से जोड़कर देखा गया.

Subramanian Swamy Meets Mamata Banerjee
ममता बनर्जी और सुब्रमण्यम स्वामी. (तस्वीर- पीटीआई)

ऐसे में जब 24 नवंबर को स्वामी बंगाल की सीएम से मिले तो उनके राजनीतिक भविष्य को लेकर कयास लगाए जाने लगे. वहीं सुब्रमण्यम स्वामी भी इन कयासों से भागते नहीं दिखे. ममता से मुलाकात के बाद टीएमसी में शामिल होने की अटकलों पर स्वामी ने कहा,

मैं पहले ही उनके (ममता) साथ हूं. मुझे पार्टी में शामिल होने की जरूरत नहीं है.

अक्टूबर के महीने में केंद्र सरकार ने ममता बनर्जी को वैश्विक शांति सम्मेलन में भाग लेने के लिए रोम जाने की अनुमति नहीं दी थी. तब सुब्रमण्यम स्वामी ने केंद्र सरकार की आलोचना की थी. नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान ममता के पैर में चोट लगने के बाद उन्होंने ममता को अपनी शुभकामनाएं भी दी थीं. इस घटना पर टीएमसी और बीजेपी में खूब जुबानी जंग हुई थी. इस सबसे पहले 2020 में स्वामी ने ममता की राजनीति की आलोचना करने वाले एक ट्वीट का जवाब देते हुए स्वामी ने कहा था,

मेरे अनुसार ममता बनर्जी एक पक्की हिंदू और दुर्गा भक्त हैं. केस बाय केस वे कार्रवाई करेंगी. उनकी राजनीति अलग है.

स्वामी से ममता की मुलाकात के एक दिन पहले टीएमसी ने कांग्रेस के पूर्व नेताओं अशोक तंवर, कीर्ति आजाद और जद (यू) के पूर्व सांसद पवन वर्मा को पार्टी में शामिल किया था.

ममता पीएम मोदी से मिलीं

वैसे 24 नवंबर को ममता बनर्जी पीएम मोदी से भी मिलीं. उनसे मुलाकात के बाद मीडिया से बातचीत में ममता ने कहा,

मैंने राज्य से जुड़े कई मुद्दों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से चर्चा की. मैंने बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र के विस्तार के मुद्दे पर भी उनसे बात की और इस फैसले को वापस लेने की मांग की.

इसके अलावा पीएम से मुलाकात में ममता ने राज्य के विकास के विभिन्न मुद्दों के अलावा त्रिपुरा में हिंसा के मामले पर भी चर्चा की.


बंगाल चुनाव में BJP के स्टार प्रचारक रहे बाबुल सुप्रियो ने TMC का दामन थामा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?