Submit your post

Follow Us

सोनिया गांधी ने कहा- मैं ही हूं फुल टाइम कांग्रेस अध्यक्ष, मीडिया के जरिए बात न करें!

दिल्ली में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक हुई. शनिवार, 16 अक्टूबर को हुई इस बैठक में पार्टी के तमाम बड़े नेता मौजूद रहे. बैठक में पार्टी की रणनीति और संगठन पर चर्चा से पहले ओपनिंग भाषण में ही सोनिया गांधी ने आलोचकों को जवाब दिया. सोनिया गांधी ने पार्टी के G-23 नेताओं को साफ संदेश दिया है कि वे (सोनिया गांधी) ही पार्टी की फुल टाइम प्रेसिडेंट हैं. उनसे मीडिया के जरिए बात करने की जरूरत नहीं है.

इंडिया टुडे के आनंद पटेल की रिपोर्ट के मुताबिक, सोनिया गांधी ने कहा है कि पूरा संगठन चाहता है कि कांग्रेस फिर से खड़ी हो, लेकिन इसके लिए एकता और पार्टी हितों को सबसे ऊपर रखना जरूरी है. इससे भी ज्यादा जरूरत खुद पर काबू रखने और अनुशासन की है.

सोनिया गांधी ने कहा,

विधानसभा चुनाव के लिए हमारी तैयारी कुछ समय पहले शुरू हुई थी. निःसंदेह हमारे सामने अनेक चुनौतियां हैं, लेकिन अगर हम एकजुट हैं, अगर हम अनुशासित हैं और हम अकेले पार्टी के हितों पर ध्यान केंद्रित करते हैं, तो मुझे विश्वास है कि हम अच्छा करेंगे.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का पूर्णकालिक अध्यक्ष चुनने के लिए जल्द ही पूर्ण संगठनात्मक चुनाव कराए जाएंगे. सोनिया गांधी ने एक पूर्णकालिक, व्यावहारिक पार्टी अध्यक्ष के रूप में अपनी भूमिका को भी रेखांकित किया.

अध्यक्ष के सवाल पर सोनिया ने कहा कि हमने कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव 30 जून तक निपटाने का रोडमैप पहले ही बना लिया था, लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण इसे आगे बढ़ाना पड़ा.

वहीं जी-23 के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हमें सोनिया गांधी पर पूरा भरोसा है. CWC की बैठक में गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कोई भी सोनिया गांधी के नेतृत्व पर सवाल नहीं उठा रहा है. पिछले दिनों कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं गुलाम नबी आजाद और कपिल सिब्बल ने CWC की बैठक बुलाने की मांग की थी.

सोनिया गांधी ने यूथ कांग्रेस और पार्टी कार्यकर्ताओं की सराहना करते हुए कहा कि दो सालों में बड़ी संख्या में हमारे सहयोगियों, विशेष रूप से युवाओं ने पार्टी की नीतियों और कार्यक्रमों को लोगों तक ले जाने में नेतृत्व की भूमिका निभाई है. चाहे वह किसानों का आंदोलन हो, महामारी के दौरान राहत का प्रावधान हो या फिर मुद्दों को उजागर करना हो.

सरकार पर निशाना साधा

सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा. कहा कि सरकार का एक ही एजेंडा है. राष्ट्रीय संपत्ति को बेचना. अर्थव्यवस्था बहुत चिंता का कारण बनी हुई है. लेकिन प्रोपेगेंडा के जरिए सरकार हमें यह यकीन दिलाने में लगी है कि

सरकार के प्रचार के बावजूद हमें यह विश्वास दिलाने के लिए कि यह नहीं है,

ऐसा लगता है कि सरकार के पास आर्थिक सुधार के लिए एक ही जवाब है कि वह दशकों से बड़े प्रयास से बनी राष्ट्रीय संपत्ति को बेच दे.

उन्होंने कहा कि हाल ही में, लखीमपुर-खीरी की भयावह घटना ने भाजपाई मानसिकता को उजागार किया है कि वो किसान आंदोलन को कैसे देखती है, किसानों द्वारा अपने जीवन और आजीविका की रक्षा के लिए इस दृढ़ संघर्ष से कैसे निपटती है.

वहीं ANI ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि कांग्रेस प्रेसिडेंट का चुनाव सितंबर 2022 में हो सकता है.


वीडियो देखें:  क्या सोनिया गांधी ने दलित के नाम पर एक ईसाई को पंजाब का मुख्यमंत्री बनाया है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?