Submit your post

Follow Us

राम मंदिर के लिए चंदे की पर्ची कटाने से पहले इस खबर को जरूर पढ़ लें

खबर नंबर 1- भोपाल में VHP नेताओं की शिकायत पर एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है जो फर्जी पर्ची छाप कर लोगों से चंदा ले रहा था.

खबर नंबर 2- जनवरी में छत्तीसगढ़ से एक महिला के खिलाफ केस दर्ज किया गया था जो फर्जी पर्ची छाप कर लोगों से चंदा वसूल कर रही थी.

खबर नंबर 3- जनवरी में ही यूपी के मुरादाबाद में 4 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था जो फर्जी रसीद छाप कर लोगों से उगाही कर रहे थे.

खबर नंबर 4- राजस्थान के उदयपुर में भी एक ऐसे शख्स के खिलाफ केस दर्ज किया गया जो राम मंदिर के नाम पर पैसा वसूल कर रहा था.

खबर नंबर 5- एमपी के खंडवा जिले के बुरहानपुर से भी एक ऐसा मामला सामने आ चुका है जिसमें फर्जी रसीदें छाप कर लोगों से उगाही की गई है. इस मामले में भी पुलिस ने केस दर्ज किया था.

ऐसी खबरें और भी होंगी. गूगल करेंगे तो सामने आ जाएंगी. साफ तौर पर इस बात को कहा जा सकता है कि कुछ राम मंदिर के नाम पर फर्जी पर्ची काट कर लोगों के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं. हालांकि पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ मामले दर्ज कर रही है, उन्हें पकड़ रही है लेकिन अगर आपके दरवाजे पर कोई आए और राम मंदिर के लिए चंदा मांगे तो आप कैसे पहचानेंगे कि ये शख्स सही है? कैसे भरोसा करेंगे कि वो आपका पैसा वाकई राम मंदिर तक पहुंचाएगा? और कैसे पता चलेगा कि जो पर्ची आपको दी गई है वो असली है?

Ram Mandir Original Donation Pic
चंदे के लिए इस्तेमाल की जा रही ये रसीद असली है. फोटो- वरुण कुमार

सभी सवालों का जवाब तलाश करने की कोशिश करेंगे लेकिन उससे पहले इस अभियान से जुड़ी कुछ खास बातों पर नजर डाल लीजिए-

# मकर संक्रांति 2021 से शुरू हुआ था लोगों से चंदा लेने का अभियान.
# इसको ‘राम मंदिर के लिए निधि समर्पण अभियान’ नाम दिया गया है.
# पांच लाख एक सौ रुपये का चंदा दिया राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने.
# VHP का दावा है कि पांच लाख से अधिक परिवारों के पास जाएंगे.
# चंदा जुटाने का अभियान केवल 27 फरवरी 2021 तक चलाया जाएगा.
# VHP के लोग चंदा ले रहे हैं और उनके पास 10, 100 और 1000 रुपये के कूपन हैं
# 2000 और इससे अधिक का चंदा देने वालों को अलग रसीद मिलेगी.

VHP के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल कहते हैं कि रसीदबुक पर श्रीरामजन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट लिखा है. दानदाता भी इस बात को इनश्योर करें कि पर्ची पर लोगो और नाम सही लिखे हैं. ये अभियान VHP द्वारा श्रीरामभूमि तीर्थक्षेत्र के लिए किया जा रहा है और वही आधिकारिक संस्था है जो राममंदिर को बनाएगी. उन्होंने बताया,

“जो पैसा जमा होता है उसे 48 घंटों के भीतर ही ट्रस्ट के खाते में जमा कराया जाता है. जो टोली का प्रमुख है उसे एक बैंक कोड अलॉट किया गया है जिसके आधार पर वह अपनी नजदीकी शाखा में पैसे जमा करा सकता है. केवल तीन बैंकों में ही ये पैसा जमा किया जाता है. SBI, BOB और PNB. देश भर में 10 लाख टोलियां बनाई हैं. कुल 40 लाख कार्यकर्ता इन टोलियों में शामिल हैं.”

कार्यकर्ताओं को आदेश दिए गए हैं कि 1000-2000 रुपये तक की ही रकम वो कैश ले सकते हैं. इसके ऊपर की रकम रसीद के माध्यम से ली जाएगी. विनोद बंसल कहते हैं कि आपके पास जो शख्स दान के लिए आया है यदि आपको उस पर शंका है तो श्रीरामजन्मभूमि अभियान समिति से संपर्क करें. उन्होंने कहा,

“अभियान 15 जनवरी को शुरु हुआ और 27 फरवरी तक चलेगा. 44 दिन के इस अभियान में हम सवा पांच लाख गांवों के 13 करोड़ परिवारों के 65 करोड़ लोगों तक जाने वाले हैं. देश की आधी आबादी को हम कवर कर रहे हैं. हमारा टारगेट धनसंग्रह नहीं है, जनसंग्रह है. ये उगाही का अभियान नहीं है. जो पैसा नहीं देना चाहते हैं वो ना दें. हमारा लक्ष्य लोगों तक राम मंदिर की जानकारी पहुंचाना है. हम पैसा मांगेंगे नहीं, जानकारी देंगे. लोग अपनी इच्छा से चाहें तो दे सकते हैं.”

ram mandir
ये एक फर्जी पर्ची है जो भोपाल में लोगों को ठगने के लिए इस्तेमाल की जा रही थी. फोटो- आजतक

पैसे देते वक्त कुछ बातों का ध्यान रखें-
# असली रसीद पर श्रीरामजन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट लिखा हुआ है.
# असली रसीद पर केवल 10, 100 और 1000 रुपये की है.
# नकली रसीदों पर मिलते जुलते नाम हो सकते हैं.
# नकली रसीदों पर भाषा और मात्रा की गलती हो सकती है.

ऑनलाइन भी दे सकते हैं चंदा

श्रीरामजन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट की वेबसाइट पर जाकर भी आप मंदिर निर्माण के लिए चंदा दे सकते हैं. यहां तीन बैंक के QR कोड दिए गए हैं. उनको स्कैन करके भी आप पैसा दे सकते हैं और अकाउंट डिटेल के मार्फत भी पैसा श्रीरामजन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट तक पहुंचा सकते हैं. यहां पैसा देने पर आपको पक्की रसीद भी मिलती है. इसके अलावा आप चेक के माध्यम से भी ट्रस्ट तक पैसा पहुंचा सकते हैं.

कांतिलाल भूरिया ने चंदे पर उठाए हैं सवाल

झारखंड के झाबुआ से कांग्रेस के विधायक कांतिलाल भूरिया ने चंदे के सिस्टम पर सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने कहा कि दिन में मंदिर के लिए पैसा जमा किया जाता है और रात में उसी पैसे से शराब पी जाती है. विवाद बढ़ा तो उन्होंने कहा कि मैंने खुद भी मंदिर निर्माण के लिए पैसा दिया है और सवाल पूछने का मेरा भी हक है. उन्होंने कहा कि मैं BJP से पूछता हूं कि आपने इतने सालों तक जो पैसा मंदिर के नाम पर लिया है वो कहां है.

राजस्थान में NSUI भी ले रही चंदा

कांग्रेस का एक छात्र संगठन है- NSUI. राजस्थान में NSUI छात्रों से 1-1 रुपया जमा कर रहा है. संगठन का कहना है कि ये पैसा सीधे अयोध्या ले जाया जाएगा और वहीं दिया जाएगा क्योंकि पर्ची काटने वालों पर भरोसा नहीं है. इस अभियान का नाम है ‘एक रुपया राम के नाम’. ये मुहिम 15 दिन चलाई जाएगी. वहीं कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने इस पर आपत्ति जताई है. उनका कहना है कि कांग्रेस एक सेक्युलर पार्टी है और ऐसा करना ठीक नहीं है.

‘VHP के कार्यकर्ता फर्जी लोगों को पकड़वाएंगे’

VHP के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि उनके 40 लाख कार्यकर्ता जो लोगों के बीच जा रहे हैं, अगर उन्हें ऐसे फर्जी कामों की जानकारी मिलती है तो वो केस दर्ज कराएंगे और कानून राम के नाम पर धोखाधड़ी करने वालों से निपटेगा. उन्होंने कहा कि जो लोग लोगों को ठग रहे हैं वो गलत कर रहे हैं और इस तरह के मामलों में कानून अपना काम करेगा.


वीडियो- राम मंदिर निर्माण के लिए चंदे के नाम पर हो रही ठगी में केस दर्ज

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

ऐसा क्या होने वाला है Indian Idol 12 के फिनाले में कि ये 12 घंटे तक टीवी पर चलेगा?

ऐसा क्या होने वाला है Indian Idol 12 के फिनाले में कि ये 12 घंटे तक टीवी पर चलेगा?

पहले इस ग्रैंड फिनाले को स्टेडियम में होस्ट किया जाना था मगर...

2-0 से आगे चल रही पहलवान आखिरी 30 सेकेंड में कैसे हारी?

2-0 से आगे चल रही पहलवान आखिरी 30 सेकेंड में कैसे हारी?

हारकर भी मेडल का मौका था लेकिन...!

राजनीति को 'अलविदा' कहने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने तगड़ा यू-टर्न लिया है

राजनीति को 'अलविदा' कहने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने तगड़ा यू-टर्न लिया है

राजनीति छोड़ेंगे, लेकिन सांसदी नहीं.

भारत 2-5 से हारकर गोल्ड चूक गया...लेकिन मैच की असली कहानी ये है!

भारत 2-5 से हारकर गोल्ड चूक गया...लेकिन मैच की असली कहानी ये है!

मैच नहीं देखा तो खाली स्कोरकार्ड पर ना जाएं.

तालिबान ने दानिश सिद्दीकी के साथ बर्बरता की हदें पार कर दी थीं, पूरी कहानी सामने आई है

तालिबान ने दानिश सिद्दीकी के साथ बर्बरता की हदें पार कर दी थीं, पूरी कहानी सामने आई है

पहचानने के बाद 12 गोलियां मारीं, फिर शव पर गाड़ी चढ़ा दी.

बेंगलुरु: पुलिस हिरासत में अफ्रीकी नागरिक की मौत, विरोध प्रदर्शन करने पर समुदाय के लोगों पर लाठीचार्ज

बेंगलुरु: पुलिस हिरासत में अफ्रीकी नागरिक की मौत, विरोध प्रदर्शन करने पर समुदाय के लोगों पर लाठीचार्ज

इस घटना को लेकर अफ्रीकी समुदाय में काफी गुस्सा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सलाहकार अमरजीत सिन्हा ने इस्तीफा दिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सलाहकार अमरजीत सिन्हा ने इस्तीफा दिया

फरवरी 2020 में बने थे पीएम मोदी के सलाहकार.

कहीं खुशी तो कहीं ग़म, टीम इंडिया के लिए कैसा रहा टोक्यो ओलंपिक्स का 10वां दिन?

कहीं खुशी तो कहीं ग़म, टीम इंडिया के लिए कैसा रहा टोक्यो ओलंपिक्स का 10वां दिन?

किसी ने बनाया रिकॉर्ड तो कोई चूक गया.

कमलप्रीत कौर के फाइनल मैच का क्या नतीजा रहा?

कमलप्रीत कौर के फाइनल मैच का क्या नतीजा रहा?

एथलेटिक्स से मेडल आया कि नहीं?

लखनऊ में कैब ड्राइवर पर थप्पड़ बरसाने वाली लड़की के खिलाफ FIR दर्ज हो गई है

लखनऊ में कैब ड्राइवर पर थप्पड़ बरसाने वाली लड़की के खिलाफ FIR दर्ज हो गई है

लखनऊ पुलिस ने इसकी पुष्टि की है.