Submit your post

Follow Us

आकाश विजयवर्गीय पर मोदी बहुत नाराज़ हुए, उतना ही जितना साध्वी प्रज्ञा पर हुए थे!

लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार बीजेपी की संसदीय दल यानी पार्लियामेंट्री बोर्ड की बैठक हो रही है. इस बैठक में पीएम मोदी ने इंदौर वाली घटना पर सख्त नाराजगी जताई है. उन्होंने कैलाश विजयवर्गीय और उनके बेटे का नाम लिए बिना बैठक में कहा-

ऐसी घटना से मुझे बहुत नाराजगी हुई. ये नहीं होना चाहिए. चाहे किसी का भी बेटा हो, मंत्री या सांसद किसी का भी. उनको पार्टी से बाहर निकाल देना चाहिए.

जबकि दूसरी तरफ कैलाश विजयवर्गीय ने इस घटना पर जिस तरह से बयान दिया वो कुछ और ही इशारे करता है. कैलाश विजयवर्गीय ने अपने बेटे का “कच्चा खिलाड़ी” बताया. इंदौर वाली घटना पर बात करते हुए उन्होंने कहा-

ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. मुझे लगता है आकाश और नगर निगम के कमिश्नर दोनों पक्ष कच्चे खिलाड़ी हैं. यह एक बड़ा मुद्दा नहीं था, लेकिन इसे बहुत बड़ा बना दिया गया. मुझे लगता है कि अधिकारियों को अहंकारी नहीं होना चाहिए. उन्हें जनप्रतिनिधियों से बात करनी चाहिए. मैंने इसकी कमी देखी है. दोनों को समझना चाहिए, ताकि ऐसी घटना दोबारा न हो.

कैलाश विजयवर्गीय की नज़र में ये बड़ी घटना नहीं थी. ना ही इस घटना का मलाल आकाश विजयवर्गीय को है. क्योंकि जेल से बाहर आने पर जब उनसे पूछा गया कि इस घटना पर आप क्या कहेंगे, तब उन्होंने कहा था –

मुझे इस घटना पर कोई अफसोस नहीं है. उस वक्त की जो परिस्थिति थी उसको देखते हुए मुझे जो करना था वो मैंने सोच समझकर ज़िम्मेदारी के साथ किया. उस वक्त एक विक्लांग महिला को पैर पकड़ कर घर से बाहर निकाला जा रहा था. भरी बारिश में एक गरीब परिवार को बेघर किया जा रहा था. इसीलिए मैंने जो किया उसे लेकर मुझे कोई अफसोस नहीं है.

जेल से निकलने के बाद आकाश विजयवर्गीय का भव्य स्वागत हुआ था.
जेल से निकलने के बाद आकाश विजयवर्गीय का भव्य स्वागत हुआ था.

अब मामले का फौरी रिकैप

दरअसल इंदौर नगर निगम की एक टीम गंजी कंपाउंड में एक जर्जर मकान गिराने पहुंची थी. इस बात की जानकारी आकाश विजयवर्गीय को दी गई. आकाश इसी इलाके से विधायक हैं और कैलाश विजयवर्गीय के बेटे भी. मकान गिराने की बात पर आकाश की निगम अधिकारी भिड़ंत हो गई. उन्होंने अधिकारी को बल्ले से पीट दिया.

इस मामले में बाद में आकाश की गिरफ्तारी हुई. फिर रविवार को उन्हें ज़मानत मिल गई. अब चूंकि इस मामले पर पीएम मोदी ने कड़ी आपत्ति जता दी है. बात पार्टी से निकालने तक पहुंच गई है. तो देखना है कि आकाश विजयवर्गीय पार्टी से निकाले जाएंगे या नहीं.

वैसे पीएम की कड़ी आपत्ति से एक घटना याद आई. भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने गोडसे को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया था. उस पर भी पीएम ने कड़ा रुख अख्तियार किया था. साथ ही ये भी कहा था कि वो उन्हें दिल से कभी माफ नहीं कर पाएंगे.

बीजेपी की पार्लियामेंट्री बोर्ड की बैठक संसद भवन की लाइब्रेरी के सभागार में हो रही है. जिसमें बीजेपी के लोकसभा और राज्यसभा के सभी 380 सांसद मौजूद हैं. इस बैठक की अध्यक्षता पीएम मोदी कर रहे हैं, जो सभी सांसदों के साथ आगे का एजेंडा तय करेंगे.


वीडियो- इन 10 बातों से पता चलता है कि आकाश विजयवर्गीय नए जमाने के असली नेता हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

#JusticeForGeorgeFloyd का मैसेज देने वाले अंग्रेज फुटबॉलर को किस बात की सजा मिली?

जॉर्ज फ्लॉयड को पूरी दुनिया से सपोर्ट मिल रहा है.

'अमपन' के बाद अब ये 'हिका' साइक्लोन क्या है, जो गुजरात के आस-पास मंडरा रहा है?

पिछले साल इसे एंटी साइक्लोन ने रोक दिया था.

'3 इडियट्स' के 'फुंसुक वांगड़ू' ने क्या अपील कर डाली कि लोग चीन के ऐप मोबाइल से हटाने लगे

लद्दाख में तनाव है, इधर लोगों के फोन से चीन के ऐप्लीकेशन हट रहे हैं.

रोनित रॉय ने टीशर्ट से मास्क बनाने की टेक्नीक बताई, अमेरिका के प्रदर्शनकारियों में हिट हो गई

वीडियो ट्विटर पर जमकर वायरल हो रहा है.

पुलिस ने हॉलीवुड अभिनेता जॉन क्यूसैक तक को नहीं छोड़ा, वीडियो बनाने लगे तो बाइक तोड़ डाली

अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद वहां का माहौल गरमाया हुआ है.

किसानों, रेहड़ी वालों और छोटे उद्योगों के लिए मोदी सरकार के बड़े ऐलान किए हैं

मोदी सरकार 2.0 के दूसरे साल की पहली कैबिनेट मीटिंग में हुए फैसले.

लोग हाईवे पर प्रदर्शन कर रहे थे, अचानक उनकी तरफ बढ़ने लगा तेज़ रफ्तार टैंकर

अश्वेत जॉर्ज फ़्लॉयड की मौत के बाद अमेरिका उबल रहा है.

'आपसी बातचीत में जातिसूचक टिप्पणी करना SC/ST एक्ट के तहत अपराध नहीं'

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने ये बात कही है.

कैंसर से जूझ रहे चैंपियन बॉक्सर डिंको सिंह पर आई एक और मुसीबत

डिंको के फैंस के लिए बेहद निराशाजनक ख़बर.

#DhoniRetires वाले अपने ट्वीट पर अब क्या बोलीं साक्षी सिंह धोनी?

धोनी की रिटायरमेंट की अफवाहों पर गुस्सा थीं साक्षी.