Submit your post

Follow Us

शाहीन बाग में फायरिंग करने वाले ने सुबह BJP जॉइन की, शाम को बाहर कर दिया गया

दिल्ली के शाहीनबाग में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) विरोधी आंदोलन के दौरान हवाई फायरिंग करने वाले कपिल गुर्जर उर्फ कपिल बैसला ने बीजेपी जॉइन की. गाजियाबाद में बीजेपी संगठन से जुड़े पदाधिकारियों ने बुधवार 30 दिसंबर को उन्हें बीजेपी में शामिल कराया. लेकिन इसके बाद इतने सवाल उठने लगे कि आनन-फानन में कुछ ही घंटों के अंदर कपिल गुर्जर की बीजेपी की सदस्यता रद्द कर दी गई.

गाजियाबाद बीजेपी के नगर अध्यक्ष संजीव शर्मा ने कपिल गुर्जर समेत कुछ लोगों को बीजेपी जॉइन करवाई थी. पार्टी जॉइन करने के मौके पर कपिल गुर्जर ने कहा था कि बीजेपी हिंदुत्व के लिए काम करने वाली पार्टी है, इसलिए वो इस पार्टी में शामिल हो रहे हैं. इसे लेकर उनका एक वीडियो चल रहा है. इस वीडियो में वह कहते सुनाई दे रहे हैं-

हम बीजेपी के साथ हैं, बीजेपी हिंदुत्व को मजबूत कर रही है, हिंदुत्व को आगे ले जाना चाहती है. मैं हिंदुत्व के लिए काम करना चाहता हूं, इसलिए मैं भाजपा में शामिल हुआ हूं. इससे पहले मेरा किसी भी पार्टी से कोई लेना-देना नहीं था. मैं RSS के साथ भी जुड़ा हूं.

शाहीन बाग में फायरिंग का आरोपी कपिल बैंसला.
शाहीन बाग में फायरिंग के बाद कपिल गुर्जर को ले जाती पुलिस. (फाइल फोटो)

शाहीनबाग आंदोलन में चलाई थीं गोलियां

1 फरवरी 2020 को कपिल गुर्जर ने शाहीन बाग में हवाई फायर किए थे. कपिल के पास से एक पिस्टल बरामद की गई थी. घटना स्थल से दो खाली खोखे बरामद किए गए थे. पुलिस द्वारा पकड़े जाने पर कपिल ने ‘जय श्री राम’ का नारा लगाया था, और कहा था, ‘हमारे देश में और किसी की नहीं चलेगी, सिर्फ हिंदुओं की चलेगी.’ इसके बाद उसे पुलिस ने हिरासत में लिया था.

हालांकि उस दौरान कपिल के परिवार वालों का कहना था कि वह कट्टरपंथी नहीं है बल्कि एक सामान्य लड़का है. वह शाहीन बाग में प्रदर्शन के चलते काफी दिनों से सड़क बंद रहने से परेशान था. उसका दल्लूपुरा और बदरपुर में डेरी का कारोबार है, सड़क बंद होने के उसे आने जाने में काफी परेशानी हो रही थी.

इसके कुछ दिन बाद ही कपिल का आम आदमी पार्टी से कनेक्शन निकला था. उसकी आप नेता संजय सिंह के साथ तस्वीरें सामने आईं थीं. इन तस्वीरों को लेकर बीजेपी आम आदमी पार्टी पर हमलावर हो गई थी. बाद में कपिल को जमानत पर रिहा कर दिया गया. अब उसके बीजेपी में शामिल होने की खबर आई है.

आनन-फानन में पार्टी से क्यों बाहर करना पड़ा?

शाहीन बाग में फायरिंग करने वाले कपिल गुर्जर के बीजेपी में शामिल होने की खबर आते ही न सिर्फ टीवी बल्कि सोशल मीडिया पर भी सवाल उठने शुरू हो गए. लोग बीजेपी के नेताओं को ट्विटर और फेसबुक पर टैग करके सवाल दागने लगे. परिणाम यह हुआ कि जिन्होंने कपिल को पार्टी जॉइन कराई थी, शाम तक उन्होंने ही पल्ला झाड़ लिया.

गाजियाबाद बीजेपी के अध्यक्ष संजीव शर्मा ने सफाई देते हुए कहा कि कपिल गुर्जर का शाहीन बाग में गोली चलाने वाला प्रकरण उनके संज्ञान में नही था. मामला जानकारी में आते ही कपिल की सदस्यता रद्द कर दी गई. हालांकि सूत्रों का दावा है कि बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व की फटकार के बाद कपिल को पार्टी से बाहर किया गया. इस बारे में प्रदेश बीजेपी ने अध्यक्ष संजीव से जवाब भी मांगा है.

शाम को उत्तर प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह का भी ट्वीट आ गया. उन्होंने लिखा-

ट्रोल हुए बीजेपी के नेता

कपिल गुर्जर को लेकर लोग ट्विटर पर बीजेपी के नेताओं से सवाल पूछने लगे. न सिर्फ सवाल पूछे बल्कि कपिल को आम आदमी पार्टी का कार्यकर्ता बताकर हमला बोलने के बीजेपी नेताओं के पुराने वीडियो भी शेयर करने शुरू कर दिए. खासतौर पर दिल्ली बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी और कपिल मिश्रा के पुराने ट्वीट पर उन्हें घेरा गया. मनोज तिवारी का पुराना वीडियो खूब शेयर हुआ-

विरोधियों ने भी बीजेपी को घेरा

बीजेपी के विरोधी भी कपिल गुर्जर को लेकर एक्टिव हो गए. वकील प्रशांत भूषण ने ट्वीट किया-

शाहीन बाग के गनमैन कपिल गुर्जर ने बीजेपी जॉइन कर ली. गनमैन, टेररिस्ट और असामाजिक तत्वों का यही नेचुरल ठिकाना है. आखिरकार हिंसक अपराध बीजेपी के लिए राष्ट्रभक्ति का प्रतीक है.

  कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता शमा मोहम्मद ने ट्वीट किया-

बीजेपी लीडर कपिल मिश्रा ने कहा था- गोली मारो सालों को. बीजेपी ने उनके खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया. कपिल गुर्जर ने शाहीन बाग में 3 गोलियां हवा में दागीं, और उसे पार्टी में शामिल कर लिया गया. इस तरह के लोगों का बीजेपी अपने यहां स्वागत करती है और बढ़ावा देती है.

 


वीडियो – जामिया के बाद शाहीन बाग में CAA प्रोटेस्ट के दौरान गोली चली

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

20 साल की लड़की के साथ पहले गैंगरेप फिर महिलाओं ने गंजा कर बाजार में घुमाया

20 साल की लड़की के साथ पहले गैंगरेप फिर महिलाओं ने गंजा कर बाजार में घुमाया

दूरदराज के इलाके में नहीं, यह राजधानी दिल्ली में हुआ है

RRB NTPC के रिजल्ट में किन गड़बड़ियों पर छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं, खुद उनसे सुनिए

RRB NTPC के रिजल्ट में किन गड़बड़ियों पर छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं, खुद उनसे सुनिए

क्या एक ग्रेजुएट और एक 12वीं पास को एक एक जैसा पेपर देना जायज है?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

मृतक व्यक्ति पर नाबालिग से बलात्कार का आरोप था.

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5G के रोल आउट को लेकर दिक्कतें चालू.

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

बीमा कंपनी गाड़ी चोरी या दुर्घटनाग्रस्त होने का बहाना बनाए तो ये आदेश दिखा देना.

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

दबी जुबान में क्या कह रही है पुलिस?

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

जानेंगे बैंक FD में क्यों घट रही है लोगों की दिलचस्पी.

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.