Submit your post

Follow Us

तालिबान ने किया पंजशीर पर जीत का दावा, जश्न में की हवाई फायरिंग, 17 लोग मारे गए!

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल और उसके आसपास शुक्रवार, 3 सितंबर की देर रात तालिबान ने जश्न में हवाई फायरिंग की. इस फायरिंग में कम से कम 17 लोग मारे गए. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने अन्य एजेंसियों के हवाले से ये खबर दी है. तालिबान ने दावा किया है कि उसने पंजशीर घाटी पर नियंत्रण कर लिया है और अफगानिस्तान के National Resistance Front को हरा दिया है. इस दावे के बाद काबुल में भारी गोलाबारी की आवाज सुनी गई. सोशल मीडिया पर शेयर की गई फोटो और वीडियो में लोग घायलों को अस्पताल ले जाते नजर आए.

एक तालिबान कमांडर ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से कहा, अल्लाह की कृपा से हमने पूरे अफगानिस्तान पर नियंत्रण कर लिया है. पंजशीर अब हमारे कब्जे में है. वहीं तीन तालिबानी सूत्रों ने रॉयटर्स को बताया कि तालिबान लड़ाकों का पूरे अफगानिस्तान पर कंट्रोल हो गया है, जिसमें पंजशीर भी शामिल है.

हालांकि, पंजशीर में रेजिस्टेंस फोर्सेज के नेता अहमद मसूद ने कहा है कि पंजशीर पर तालिबान के जीत की खबर झूठी है. उन्होंने ट्वीट किया कि पाकिस्तानी मीडिया में पंजशीर पर कब्जे की खबरें प्रसारित हो रही हैं. यह एक झूठ है. अगर वे पंजशीर जीतते हैं वो दिन मेरा आखिरी दिन होगा. इंशाअल्लाह.

अफगानिस्तान के पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर कर कहा है कि हमारी सेना तालिबानियों का डटकर मुकाबला कर रही है. उन्होंने कहा है कि वे आतंकियों के निशाने पर हैं. उन्होंने खुद के ताजिकिस्तान भागने का भी खंडन किया है. सालेह ने कहा है कि वे अभी भी पंजशीर में हैं और तालिबानियों से लड़ रहे हैं.

अमरुल्लाह सालेह ने ‘इंडिया टुडे’ को बताया कि वह पंजशीर घाटी में हैं. अपने कमांडरों और राजनीतिक नेताओं के साथ स्थिति का प्रबंधन कर रहे हैं. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स को चारों ओर फैलाया जा रहा है कि मैं देश छोड़कर भाग गया हूं. यह बिल्कुल निराधार है. यह मेरी आवाज है, मैं पंजशीर घाटी से, अपने बेस से बात कर रहा हूं. मैं अपने कमांडरों और हमारे राजनीतिक नेताओं के साथ हूं. बेशक, यह एक कठिन स्थिति है. हम तालिबान, पाकिस्तानियों, अल कायदा और अन्य आतंकवादी समूहों के आक्रमण के अधीन हैं.

जब से तालिबान ने अफगानिस्तान पर नियंत्रण किया है, तब से पंजशीर घाटी में विद्रोही लड़ाके जुटना शुरू हो गए हैं. इनमें सबसे ज्यादा संख्या अफगान नेशनल आर्मी के सैनिकों की है. इस गुट का नेतृत्व नॉर्दन एलायंस ने चीफ रहे पूर्व मुजाहिदीन कमांडर अहमद शाह मसूद के बेटे अहमद मसूद कर रहे हैं. उनके साथ पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह और बल्ख प्रांत के पूर्व गवर्नर की सैन्य टुकड़ी भी है.


दी लल्लनटॉप शो: भारत से बातचीत के 2 दिन बाद ही तालिबान कश्मीर पर अपने रुख से पलट गया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?