Submit your post

Follow Us

आ गयी कोरोना की पहली वैक्सीन, इस लड़की ने लगवाया पहला डोज़

कोरोना से बचाव के लिए पहली वैक्सीन आ गयी है. रूस ने बनाई है. राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने ख़ुद ऐलान किया है कि इस वैक्सीन का रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है. अब अक्टूबर के महीने से इस वैक्सीन की मदद से रूस में मास वैक्सिनेशन प्रोग्राम चलाया जाएगा. यानी आमजन को ये वैक्सीन लगायी जाएगी. 

इसके साथ ही पुतिन ने ये भी दावा किया है कि उनकी बेटी को भी ये वैक्सीन लगाई जा चुकी है. रूस के सरकारी चैनल पर आयोजित एक मीटिंग में पुतिन ने कहा,

“मास्को के गामलेया इंस्टिट्यूट द्वारा बनाई गयी ये वैक्सीन बिलकुल सेफ़ है, और मेरी एक बेटी को ये लगाई भी जा चुकी है. मैं जानता हूं कि ये बहुत अच्छे तरीक़े से काम करती है. और कोरोना के विरुद्ध शरीर में इम्यूनिटी पैदा करती है. और मैं ये बात फिर से दोहरा रहा हूं कि इस वैक्सीन ने जांच के सारे चरण पूरे कर लिए हैं.”

वैसे तो देश दुनिया की बहुत सारी वैक्सीन इस समय ह्यूमन ट्रायल के चरण में हैं. लेकिन समय के हिसाब से देखें तो रूस की वैक्सीन ने मैदान मार लिया है. दो महीने के समय में रूस ने इस वैक्सीन का ट्रायल शुरू किया, और रजिस्ट्रेशन करके तैयार भी कर लिया है.

Putin
रूस के राष्ट्रपति पुतिन (फोटो: एपी)

लेकिन रूस की इसी तेज़ी ने देश दुनिया के लोगों को चिंता में डाल दिया है. WHO ने पहले ही कई मौक़ों पर रूस को चेतावनी दी है कि वैक्सीन के निर्माण और ट्रायल में किसी क़िस्म की जल्दबाज़ी न बरतें. अमरीका के संक्रामक रोग विशेषज्ञ ऐन्थॉनी फ़ाउची ने कहा है कि वो आशा करते हैं कि रूस ने अपनी इस वैक्सीन को लोगों को लगाने के पहले इसकी पूरी तरह जांच कर ली होगी. क्योंकि अगर जांच ही सही तरीक़े से नहीं हुई है, तो वैक्सीन बना लेने का दावा करना बहुत दिक़्क़त की बात हो सकती है.

ये पहला मौक़ा नहीं है, जब रूस की वैक्सीन पर सवाल उठे हों. अप्रैल के महीने में राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने आदेश जारी किए थे कि कोरोना की रोकथाम के लिए दवाइयों और वैक्सीन के लिए क्लिनिकल ट्रायल का समय कम किया जाए. इसके बाद UK,अमरीका और कनाडा की सुरक्षा एजेंसियों ने दावा किया कि रूसी हैकरों के एक ग्रुप ने कोरोना की वैक्सीन बनाने में जुटे कई संगठनों के आँकड़ों पर डाका डालने की कोशिश की, ताकि वैक्सीन बनाने के लिए आंकड़े रूस के पास पहुंच सकें. रूस ने इन आरोपों से इंकार कर दिया था.

रूस ने 17 जून को ट्रायल शुरू करने की बात कही. और जुलाई के पहले महीने में ही दावा कर दिया कि रूस की वैक्सीन तैयार है. हर जगह हल्ला होने लगा. और तभी ये पता चला कि रूस ने तब महज़ पहले फ़ेस का ट्रायल ही शुरू किया था. लेकिन अब रूस ने दावा किया है कि वैक्सीन तैयार है. 


वीडियो : गुड न्यूज़! सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया सस्ते दाम में कोरोना वैक्सीन मुहैया कराएगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

रवींद्र जडेजा बिना खेले ख़बरों में क्यों आ गए हैं?

तलवारबाज़ी सेलेब्रेशन करने वाले ऑलराउंडर.

अमेरिका से आई टॉपर की बीच सड़क पर मौत, परिवारवाले बोले- मर्डर है

दावा है कि बुलेट सवार स्टंट करते हुए छेड़खानी कर रहे थे, पुलिस ने बताया हादसा

ऐपल को नाशपाती वाला लोगो फूटी आंख नहीं सुहाया, कहा- लोग इसको ऐपल समझ लेंगे

यू आर ए गुड लोगो, बट योर लोगो हर्ट मी.

झारखंड के शिक्षा मंत्री ने 25 साल के गैप के बाद 11वीं में दाखिला लिया

काउंटर पर आम स्टूडेंट की तरह लाइन में लगे जगरनाथ महतो.

लॉकडाउन लागू कराने की जिद में पार कर दी हदें, पुलिस को भुट्टेवाले के घर जाकर मांगनी पड़ी माफ़ी

यूपी पुलिस के दारोगा का कारनामा, वीडियो वायरल हुआ तो किए गए सस्पेंड

नया दावा, सुशांत की बीमारी पर रिया उनके पिता से बात ही नहीं कर रही थीं!

सुशांत के पिता ने नवंबर में रिया और श्रुति मोदी को मैसेज किए थे.

कोरोना काल में कैसे होंगे बिहार चुनाव? मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया

सबकी नज़रें इन चुनावों पर है.

बिजनेसमैन से लूटपाट, गिरफ्तारी हुई तो पता चला कि तीन तो पुलिसवाले ही थे

मामला दिल्ली का है. ऑफिस में घुसकर गोली मारने की धमकी भी दी थी

मॉर्निंग वॉक पर निकले BJP नेता की बदमाशों ने गोलियों से भूनकर हत्या कर दी

नेता की मौके पर ही मौत हो गई.

जनता सड़कों पर आई तो लेबनान की पूरी सरकार ने इस्तीफ़ा दे दिया

बेरूत धमाकों के बाद से जनता सरकार से इस्तीफ़े की मांग कर रही थी.