Submit your post

Follow Us

नोटबंदी का सबसे बड़ा तर्क आज लुड़ुस हो गया

6.01 K
शेयर्स

नोटबंदी सही कदम था या गलत, ये अब तक यक्ष प्रश्न था. कोई ठोस जानकारी थी ही नहीं, इसलिए हर कोई अपने हिसाब से तुक्के लगाता था. लेकिन 30 अगस्त, 2017 को जारी हुई रिज़र्व बैंक की वार्षिक रिपोर्ट में नोटबंदी का पूरा गणित पब्लिक कर दिया गया है. नोटबंदी के बाद ये पहला मौका है कि रिज़र्व बैंक ने सटीक आंकड़े जारी किए हैं.

इस रिपोर्ट के मुताबिक 1000 रुपए के नोटों में से सिर्फ 1.3 फीसदी ऐसे थे, जो रिज़र्व बैंक को वापस नहीं मिले.

नोटबंदी का शुरुआती लॉजिक यही था कि जिनके पास 1000 और 500 के नोटों की शक्ल में काला धन जमा है, वो नए नोटों के चलते चलन से बाहर हो जाता. इस हिसाब से चलन से बाहर हुए नए जारी हुए नोटों के अंतर को (कैश) काला धन मान लिया जाता. अनुमान था कि काला धन ज़्यादातर 1000 के नोटों की शक्ल में था. इसीलिए 1.3% का आंकड़े ने कई लोगों को हैरान किया.

यूपीए के ज़माने में वित्तमंत्री रहे पी चिदंबरम ने बिना देर किए एक ट्वीट भी चेंप दियाः

 

रिज़र्व बैंक की रिपोर्ट की मोटा-माटी बातें जानें:

# 8 नवंबर को जब नोटबंदी हुई, तब देश में 1000 रुपए के 67 करोड़ नोट चलन में थे.

# नोट बदलने की कवायद पूरी होने के बाद इन 67 करोड़ नोटों में से सिर्फ 8 करोड़ 90 लाख नोट वापस नहीं आए.

# नोटबंदी के बाद नए नोटों की किल्लत को लेकर रिज़र्व बैंक को खूब कोसा गया था. रिपोर्ट के मुताबिक नोटबंदी के बाद के महीनों में रिज़र्व बैंक ने 2,380 करोड़ नोट जारी किए. इनकी कुल कीमत 5.54 लाख करोड़ थी.

 

रिज़र्व बैंक के कुछ कर्मचारियों ने नोटबंदी को उनकी बदनामी का कारण बताया था
रिज़र्व बैंक के कुछ कर्मचारियों ने नोटबंदी को उनकी बदनामी का कारण बताया था

 

# मार्च 2017 के अंत में देश के बाज़ारों में कुल 13.1 लाख करोड़ का कैश सर्कुलेट हो रहा था. ये आंकड़ा पिछले साल की तुलना में 20.2% कम है.

# रिज़र्व बैंक ने साल 2016-17 में नोट छापने पर 7,965 करोड़ रुपए खर्च किए. पिछले साल ये खर्च 3,420 करोड़ था. इस साल हुए खर्च का बड़ा हिस्सा 500 और 2000 के नए नोट छापने में इस्तेमाल हुआ.

# नोटबंदी से पहले देश का 86.4% कैश 500 और 1000 के नोटों की शक्ल में मौजूद था. नोटबंदी के बाद 500 और 2000 रुपए के नोटों (माने बड़े नोटों) का देश के कैश में हिस्सा 73.4% पर आ गया था.

# मार्च 2017 के अंत तक 2000 के नोटों का शेयर देश के कुल कैश में 50.2% था.

इस सब पर सरकार का पक्ष रखने वित्तमंत्री अरुण जेटली ने एक प्रेसकॉन्फ्रेंस भी की. लगभग पूरे नोटों के वापस आ जाने पर उन्होंने कहा कि नोटबंदी का लक्ष्य नोटों को ज़ब्त करना नहीं था. भारत की अर्थव्यवस्था कैश आधारित है, और इसे बदलने की ज़रूरत है. कैश का चलन 17% नीचे आया भी है. सरकार का अगला लक्ष्य चुनावों में लगने वाले काले धन को खत्म करना है.


ये भी पढ़ेंः

200 रुपए के नोटों का ये खास फीचर आपको कभी पैसों की कमी नहीं होने देगा!

500 के नोटों में सिल्वर स्ट्रिप अलग-अलग जगह है, जानिए कौन सा असली है

पहली बार उर्जित पटेल ने सरकार को दिखाया कि RBI गवर्नर वो हैं

‘मैं धारक को मूर्ख बनाने का वचन देता हूं’

नोटबंदी के फैसले को लागू करने से ‘अपमानित’ हो गए RBI के एम्प्लॉइज

 

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

बांग्लादेशी लड़कियों ने बताया, मदरसों में पढ़ाई के नाम पर किस तरह लड़कियों का रेप होता है

'मदरसों में यौन शोषण इतना आम है कि ये कोई छुपी हुई बात नहीं है.'

जातिवाद की क्रूर सच्चाई दिखाती बलिया के प्राइमरी 'इंग्लिश' स्कूल की ये तस्वीर देखिए

अपनी गंदगी हम अपने बच्चों के दिमाग में भरने में सफल हुए हैं.

ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर ने ही ट्रैफिक रूल तोड़ा, ऊपर वाले अर्थात CCTV ने सब देख लिया

मंत्री होकर सौ रुपये का जुर्माना बूहूहूहू.

डॉक्टर्स ने मरा समझकर डस्टबिन में फेंक दिया था, KBC से लाखों जीतकर लौटी हैं

एक दिव्यांग लड़की, जिसके जीवन का हर अध्याय, प्रेरणा का दूसरा नाम है.

सुहागरात पर पत्नी ने शर्म नहीं दिखाई तो पति ने बेवकूफ़ी की हर हद पार कर दी

ऐसा काम किया कि आखिर में मसला कोर्ट जाकर रुका.

सांसद चिन्मयानन्द पर रेप का आरोप लगाने वाली लड़की को दिल्ली में देखा गया

लड़की ने वीडियो बनाकर आरोप लगाए थे, जिसके बाद से वो लापता थी.

मोबाइल कैमरे से स्कैन करने वाला ये ऐप आपके फ़ोन को बेहद नुकसान पहुंचा रहा है

गूगल ने प्ले स्टोर से भी ऐप को हटा दिया था.

ICC ने बेन स्टोक्स को महानतम बताया, सचिन के फैन्स ने ICC की खाट खड़ी कर दी

बेन स्टोक्स पर इत्ती कृपा बरसा रहा ICC, जित्ती सूरज हम पर नहीं बरसाता.

मोदी फिट इंडिया लॉन्च कर रहे थे, कांग्रेस ने कहा "नीचे तो देखो"

सवाल है कि मोदी देखेंगे?

सिविल जज से सांसद बने महेंद्र सिंह, अब सड़कों पर लठ से करतब दिखा रहे हैं

ये वही सांसद हैं जो अपनी एक स्पीच के दौरान रोते हुए वायरल हुए थे.