Submit your post

Follow Us

कोहली को डिफेंड करने की आड़ में अपना एजेंडा चला रहे हैं रवि शास्त्री?

संजय मांजरेकर. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज़. पूर्व भारतीय कोच रवि शास्त्री से खासा नाराज हैं. मांजरेकर का कहना है कि शास्त्री को क्रिकेट का सही ज्ञान नहीं है और वे पब्लिक में कुछ भी उल्टा-सीधा बोल देते हैं. मांजरेकर का कहना है कि एक समय पर वे शास्त्री के बड़े प्रशंसक थे, लेकिन शास्त्री का नया अवतार उनकी समझ के बाहर है.

बता दें कि मांजरेकर विराट के कप्तानी छोड़ने पर शास्त्री के ताजा बयान से नाराज़ हैं. शास्त्री ने स्पोर्ट्स तक से बात करते हुए कहा था,

‘विराट अभी दो साल कप्तानी और कर सकते थे. लेकिन अगर ऐसा हो जाता तो कुछ लोगों से उनकी तरक्की देखी नहीं जाती.’

इसके जवाब में मांजरेकर ने कहा,

‘मैं रवि शास्त्री का बहुत बड़ा प्रशंसक था. मैंने उनके नेतृत्व में खेला है. वे खिलाड़ियों को काफी सपोर्ट करते थे, एक फाइटर थे, और सीनियर भी. लेकिन ये शास्त्री 2.0 मेरी समझ से बाहर है. वे जो पब्लिक में कहते हैं, उनसे वैसी ही उम्मीद है. मैं उन पर रिएक्ट नहीं करता. मैं अपना अपमान नहीं करवाना चाहता. वे बुद्धिमानी वाले कमेंट नहीं करते हैं. आप इसके पीछे का एजेंडा देख सकते हैं. यह क्रिकेट का सटीक ऑब्जरवेशन नहीं है.’

हालांकि मांजरेकर, शास्त्री की इस बात से बिलकुल सहमत हैं कि विराट अभी एक-दो साल कप्तानी और कर सकते थे. लेकिन उनके हिसाब से विराट के कप्तानी छोड़ने का कारण वो नहीं जो शास्त्री ने बताया. उनके हिसाब से विराट ने कप्तानी अपनी ख़राब फॉर्म के चलते छोड़ी. जिससे वे अपनी बल्लेबाज़ी पर फोकस कर सकें. साथ ही मांजरेकर का यह भी मानना है कि भारतीय टीम के ड्रेसिंग रूम का माहौल भी काफी बदल गया था. जिसका दबाव विराट और नहीं झेल सकते थे. मांजरेकर ने आगे कहा,

‘विराट के पास कुछ साल थे, खासकर टेस्ट में जिससे उन्हें बेहद लगाव है. लेकिन टीम की प्लेइंग XI का चयन करना अच्छा नहीं रहा, जो उन्हें पिछले मैनेजमेंट से विरासत में मिला. तो उनके पास निश्चित तौर पर दो साल थे, लेकिन उनकी ख़राब फॉर्म समस्या का कारण थी. वे अमूमन जल्दी वापसी करते हैं लेकिन इस बार उन्हें ऐसा करने में मुश्किल हुई.

उन्हें ये अतिरिक्त दबाव अपने ऊपर नहीं चाहिए था. इसके अलावा, उनके आस पास का माहौल भी काफी बदल गया था. वे चाहते हैं कि सब कुछ उनके हिसाब से चले लेकिन ये सब बदल चुका था. ये एक अतिरिक्त चुनौती थी, और अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान देते वक्त वह इसका सामना नहीं करना चाहते थे.’

बताते चलें कि विराट ने 15 जनवरी को टेस्ट की कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया था. यह फैसला उन्होंने भारतीय टीम को साउथ अफ्रीका के खिलाफ केप टाउन टेस्ट में मिली हार के बाद लिया था. इस टेस्ट को हारकर भातीय टीम ने टेस्ट सीरीज 1-2 से गंवा दी थी.


एक तस्वीर से कैसे तय हो गया, पुजारा क्रिकेटर बनेंगे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

कई पुराने तो कुछ नए चेहरों को मंत्रीमंडल में जगह मिली है.

योगी आदित्यनाथ ने ली CM पद की शपथ, जानें कौन-कौन बना मंत्री

योगी आदित्यनाथ ने ली CM पद की शपथ, जानें कौन-कौन बना मंत्री

योगी आदित्यनाथ के साथ 52 मंत्रियों ने भी ली शपथ

बीरभूम हिंसा पर सीएम ममता बनर्जी ने क्या कहकर अपनी ही पुलिस पर निशाना साधा?

बीरभूम हिंसा पर सीएम ममता बनर्जी ने क्या कहकर अपनी ही पुलिस पर निशाना साधा?

ममता बनर्जी ने घटना के पीछे साजिश होने की आशंका भी जताई.

बिहार विधानसभा में शून्य हुई VIP, तीनों विधायक बीजेपी में शामिल

बिहार विधानसभा में शून्य हुई VIP, तीनों विधायक बीजेपी में शामिल

बोचहां विधानसभा उपचुनाव और एमएलसी इलेक्शन से पहले मुकेश सहनी को तगड़ा झटका.

यूनिवर्सिटी बनी ही नहीं, राजस्थान सरकार ने बिल पेश कर दिया, फिर हुई मिट्टी पलीद!

यूनिवर्सिटी बनी ही नहीं, राजस्थान सरकार ने बिल पेश कर दिया, फिर हुई मिट्टी पलीद!

सरकार को बिल वापस लेना पड़ा, बीजेपी बोली- पूरे कुएं में भांग है.

थोक ग्राहकों के लिए 25 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ डीजल, आम लोगों पर ये असर पड़ेगा

थोक ग्राहकों के लिए 25 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ डीजल, आम लोगों पर ये असर पड़ेगा

कीमतें बढ़ने से ब्लैक मार्केटिंग बढ़ने की आशंका. बंद हो सकते हैं कई पंप.

हरभजन सिंह को राज्यसभा में भेजने के साथ AAP उन्हें एक और बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है

हरभजन सिंह को राज्यसभा में भेजने के साथ AAP उन्हें एक और बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है

पंजाब के सीएम भगवंत मान और भज्जी काफी करीबी दोस्त माने जाते हैं.

इराक में अमेरिकी दूतावास के पास मिसाइल हमला करने की ईरान ने क्या वजह बताई?

इराक में अमेरिकी दूतावास के पास मिसाइल हमला करने की ईरान ने क्या वजह बताई?

ईरान ने इजरायल का नाम क्यों लिया है?

यूक्रेन संकट के बीच केमिकल हथियारों की चर्चा से डरना क्यों चाहिए?

यूक्रेन संकट के बीच केमिकल हथियारों की चर्चा से डरना क्यों चाहिए?

रूस ने US पर यूक्रेन में जैविक हथियार बनाने का आरोप लगाया है, नाटो का कुछ और कहना है.

कांग्रेस की बुरी हार के बाद मीटिंग में गांधी परिवार पर सवाल उठे तो प्रियंका गांधी ने क्या कहा?

कांग्रेस की बुरी हार के बाद मीटिंग में गांधी परिवार पर सवाल उठे तो प्रियंका गांधी ने क्या कहा?

सोनिया गांधी पार्टी अध्यक्ष बनी रहेंगी.