Submit your post

Follow Us

राजस्थान में पुलिस अधिकारी ने की आत्महत्या, विपक्ष ने की सीबीआई जांच की मांग

राजस्थान के चूरू जिले में एक थानाधिकारी (SHO) ने आत्महत्या कर ली. उन्होंने 22 मई की रात को सरकारी क्वार्टर में फांसी लगाकर जान दे दी. इस घटना के बाद से राज्य सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर है. बीजेपी, बसपा और बाकी दल अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली राज्य सरकार को घेर रहे हैं. वे आरोप लगा रहे हैं कि राजनीतिक दबाव के चलते थाना अधिकारी ने सुसाइड की.

सरकारी क्वार्टर में लगाई फांसी

मामले की जानकारी के लिए इंडिया टुडे के विजय चौहान से बात हुई. उन्होंने बताया कि इंस्पेक्टर विष्णुदत्त विश्नोई चूरू के राजगढ़ थाने में तैनात थे. 23 मई की सुबह उनका शव सरकारी क्वार्टर में फंदे से झुलता मिला. उनका एक सुसाइड नोट भी मिला है. हालांकि इसे सार्वजनिक नहीं किया गया है. पुलिस इसकी जांच कर रही है. पोस्टमार्टम के बाद शव घरवालों को दे दिया गया. थानाधिकारी की मौत के बारे में पता चलने पर चूरू एसपी तेजस्विनी गौतम, बीकानेर रेंज के आईजी जोस मोहन भी राजगढ़ पहुंचे.

इंस्पेक्टर विष्णुद्त्त विश्नोई की मौत की सीबीआई जांच की मांग की जा रही है.
इंस्पेक्टर विष्णुद्त्त विश्नोई की मौत की सीबीआई जांच की मांग की जा रही है.

दबंग और ईमानदार अफसर की थी पहचान

विजय चौहान ने बताया कि विष्णुदत्त विश्नोई की पहचान दबंग, ईमानदार पुलिस अफसर के रूप में होती थी. उन्होंने राजगढ़ में अपराधों को रोकने के लिए कई अभियान चला रखे थे. राजगढ़ हरियाणा सीमा के पास पड़ता है. सीमाई इलाका होने के चलते अवैध शराब और नशीले पदार्थों की तस्करी का काफी जोर है. इसे रोकने के लिए विश्नोई ने जोरशोर से कार्रवाई की थी.

वॉट्सएप चैट सोशल मीडिया में वायरल

स्थानीय मीडिया में विश्नोई के सुसाइड नोट को लेकर काफी चर्चाएं हैं. इसके बारे में काफी अटकलें हैं. साथ ही उनकी एक वॉट्सऐप चैट का स्क्रीनशॉट भी वायरल हो रहा है. यह चैट सुसाइड से एक दिन पहले की बताई जा रही है. इसमें कथित तौर पर विश्नोई ने लिखा कि उन्हें गंदी राजनीति में फंसाने की कोशिश हो रही है. वे रिटायरमेंट की अर्जी दे रहे हैं. यहां के अफसर बहुत कमजोर है. बताया गया है कि यह चैट एक परिचित सामाजिक कार्यकर्ता के साथ की गई.

विष्णुदत्त विश्नोई की वॉट्सऐप चैट जो वायरल हो रही है.
विष्णुदत्त विश्नोई की वॉट्सऐप चैट जो वायरल हो रही है.

सीएम और डीजीपी ने जांच पर कुछ नहीं कहा

राज्य के डीजीपी भूपेंद्र सिंह ने विष्णदत्त विश्नोई की मौत पर कहा कि वे अच्छे अफसर थे. उन्हें कई अधिकारी अपनी टीम में लेना चाहते थे. लेकिन जांच के बारे में कुछ नहीं कहा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी विश्नोई को श्रद्धांजलि दी. लेकिन उन्होंने भी जांच पर मौन ही रखा. गहलोत ने ट्वीट किया,

इधर राजनीति तेज

विश्नोई की मौत के बाद विपक्ष ने सरकार को घेर लिया. चूरू विधायक और बीजेपी नेता राजेंद्र राठौड़, चूरू सांसद राहुल कस्वां, नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल, राजगढ़ के पूर्व विधायक मनोज न्यांगली ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की.

इनका कहना है कि राज्य सरकार की एजेंसियां सही से विश्नोई की मौत की जांच नहीं कर पाएगी. जिन पुलिसकर्मियों ने विश्नोई पर दबाव बनाया, उनकी पहचान उजागर होनी चाहिए.पूर्व विधायक मनोज न्यांगली और व्यापार मंडल के सदस्य सीबीआई जांच की मांग को लेकर धरने पर बैठे हैं.


Video: मध्य प्रदेश में वकील की पिटाई पर पुलिस जो ने तर्क दिया है, आप सुनकर सिर पकड़ लेंगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कानपुर स्टेशन पर ट्रेन रुकी और खाने को लेकर आपस में भिड़ गए प्रवासी मज़दूर

दो कोचों के मज़दूर आपस में झगड़ पड़े. कुछ को खाना मिला, बाकी जमीन पर गिर गया.

दुनिया का सबसे तेज़ इंटरनेट, एक सेकेंड में 1000 एचडी मूवी डाउनलोड का दावा

ऑस्ट्रेलिया की तीन यूनिवर्सिटी के टेक रिसर्चर्स ने मिलकर ये कनेक्शन तैयार किया है.

केंद्र से अक्सर लड़ने वाली ममता बनर्जी की पीएम मोदी ने किस बात पर तारीफ की?

पश्चिम बंगाल दौरे पर पीएम मोदी ने 'अमपन' को लेकर एक हज़ार करोड़ रुपए की मदद का ऐलान किया.

रिज़र्व बैंक ने एक बार फिर रेपो रेट घटाया, EMI से तीन महीने और छुटकारा

मार्च और अप्रैल महीने में रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट घटाया था.

प्लेन और ट्रेन से जाने के लिए टिकट और किराए के नियम सरकार ने बताए हैं

जानिए, रेलवे के ऑफलाइन टिकट कहां से मिल सकते हैं.

क्या गुजरात में खराब वेंटीलेटर की वजह से 300 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गई?

कांग्रेस ने विजय रूपाणी सरकार पर वेंटीलेटर घोटाले का आरोप लगाया है.

अब इस तारीख से देश के अंदर फ्लाइट्स से यात्रा कर सकेंगे

इससे पहले 200 नॉन एसी ट्रेन चलने की सूचना दी गई थी.

'अम्फान' आ चुका है, पश्चिम बंगाल में दो की मौत, कई घरों को नुकसान

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में अपना असर दिखा रहा है.

प्रियंका गांधी ने जो गाड़ियां यूपी भेजी हैं, उनमें कितनी बसें हैं, कितने ऑटो?

छह सूचियों में कुल 1049 गाड़ियों की डिटेल्स भेजी गई है.

देशभर में 200 और ट्रेनें चलने की तारीख़ आ गई है

इस बार ख़ुद रेल मंत्री ने बताया है.