Submit your post

Follow Us

लूटपाट करने वाले बड़े गैंग ने सुरेश रैना के रिश्तेदार को किस तरह मारा, पता चल गया

क्रिकेटर सुरेश रैना के करीबी रिश्तेदारों पर हुए हमले की गुत्थी पंजाब पुलिस ने सुलझा ली है. ‘इंडिया टुडे’ की रिपोर्ट के मुताबिक, पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 16 सितंबर को कहा कि केस हल कर लिया गया है. तीन लोगों की गिरफ्तारी हुई है. तीनों आरोपी लूटपाट की घटनाओं को अंजाम देने वाले इंटर-स्टेट गैंग के मेंबर हैं.

DGP दिनकर गुप्ता ने बताया कि 11 अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी अभी बाकी है. उस पर काम चल रहा है. वहीं समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, सुरेश रैना ने पुलिस को थैंक्यू कहा है. उन्होंने कहा-

“पुलिस अच्छा काम कर रही है. हमारी मदद करने के लिए मैं चीफ मिनिस्टर को धन्यवाद देता हूं.”

जिस घटना को लेकर जांच हो रही है, वो 19 अगस्त की रात को घटित हुई थी. पठानकोट ज़िले के तहत आने वाले थरयाल गांव में रैना के रिश्तेदार के परिवार पर हमला हुआ था. इसमें रैना के अंकल अशोक कुमार, जो पेशे से कॉन्ट्रैक्टर थे, उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी. वहीं उनके बेटे कौशल कुमार ने इलाज के दौरान 31 अगस्त को दम तोड़ा. उनकी पत्नी अभी भी अस्पताल में हैं और क्रिटिकल हैं. वहीं दो अन्य घायल लोग ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज किए जा चुके हैं.

जांच के लिए SIT बनाई गई थी

सीएम अमरिंदर सिंह ने घटना के तुरंत बाद जांच के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) के गठन के आदेश दिए थे. इसमें अमृतसर बॉर्डर रेंज के IGP, पठानकोट SSP, SP वगैरह शामिल थे. SIT ने जांच के दौरान कई सारे सुबूत इकट्ठे किए. 100 लोग संदिग्ध पाए गए. DGP ने बताया कि ये सभी संदिग्ध भी जांच से जुड़े.

कैसे पकड़ में आए आरोपी

‘इंडिया टुडे’ के मंजीत सहगल की रिपोर्ट के मुताबिक, 15 सितंबर को SIT को एक जानकारी मिली. तीन संदिग्धों के बारे में. ये तीनों संदिग्ध घटना की अगली सुबह डिफेंस रोड पर देखे गए थे. जानकारी मिली कि तीनों पठानकोट रेलवे स्टेशन के पास झुग्गियों में रुके हुए हैं. छापेमारी हुई और तीनों को पकड़ लिया गया.

DGP ने बताया कि तीनों के पास से सोने की अंगूठियां, सोने की एक चेन और 1530 रुपए कैश बरामद हुए. साथ ही दो लकड़ी के डंडे भी मिले. तीनों की पहचान- सावन, मुहब्बत और शाहरुख खान के तौर पर हुई है. तीनों राजस्थान के झुंझुनु ज़िले के चिरावा और पिलानी की झुग्गियों के रहने वाले हैं.

और क्या सामने आया

शुरुआती जांच में पता चला कि तीनों एक गैंग के तौर पर काम कर रहे थे, जिसमें और लोग भी शामिल थे. ये गैंग उत्तर प्रदेश, जम्मू-कश्मीर समेत पंजाब के कई हिस्सों में आपराधिक घटनाओं को अंजाम दे चुका है. ये लोग दो-तीन के ग्रुप में रहते हैं.

सावन मूल रूप से उत्तर प्रदेश से है. उसने पूछताछ में SIT को बताया कि 12 अगस्त को वो लोग चिरावा और पिलानी से निकले. एक ऑटो में सवार होकर. ऑटो के मालिक का नाम नौसाउ है, जो खुद भी चिरावा की झुग्गियों का रहने वाला है. नौसाउ और पकड़े गए तीनों आरोपी समेत राशिद, रेहान, जबराना, वापहिला, तवाज्जल और एक अज्ञात आदमी को साथ लेकर चिरावा से लुधियाना के जागराओ पहुंचा. वहां तीन और लोगों ने इन्हें जॉइन किया. ये तीन थे- रींडा, गोलू और साजन. उन्होंने लुधियाना में एक हार्डवेयर की दुकान से एक आरी, दो चिमटे और एक स्क्रू-ड्राइवर खरीदा. वहीं एक दूसरी दुकान से अंडरगारमेंट्स खरीदे. 14 अगस्त को जागराओ में एक लूटपाट की घटना को अंजाम देने के बाद पठानकोट निकल गए.

लुटेरों की पूरी कारगुजारी

पठानकोट में संजू नाम का एक आदमी उनके साथ हो लिया, जो उस इलाके को अच्छी तरह जानता था. DGP और SSP ने बताया कि इस गैंग ने इलाके की रेकी की. फिर 19 अगस्त की रात करीब 7-8 बजे, दो-तीन, दो-तीन के ग्रुप में बंटकर ये लोग थरयाल गांव पहुंचे. बांस की सीढ़ियां लगाकर घरों में एंट्री करने की कोशिश की. दो घरों में जब ये गए, तो देखा कि वो गोडाउन हैं और खाली हैं. फिर तीसरे घर में घुसे, जो कि अशोक कुमार का घर था. कुल पांच आरोपी घर के अंदर घुसे. देखा कि तीन लोग चटाई पर लेटे हुए हैं. आरोपियों ने उनके सिर पर मारा और फिर घर में आगे घुस गए. अंदर जाने के बाद उन्होंने दो और लोगों पर हमला किया. उसके बाद कैश और गहने लेकर फरार हो गए.

सभी आरोपी हाई टेंशन बिजली के तारों का पीछा करते हुए खुली जगह पर पहुंचे. वहां से आपस में पैसे और गहने बांटे. और दो-दो, तीन-तीन के ग्रुप में बंट गए और भाग गए. तीन लोग गिरफ्तार हो चुके हैं. 11 फरार हैं, उन्हें खोजा जा रहा है.


वीडियो देखें: सुरेश रैना ने IPL 2020, CSK और साढ़े 12 करोड़ की फीस वाली बात पर ये कहा है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

संसद सत्र से पहले दो जगह कराई कोरोना जांच, रिपोर्ट देखकर चकरा गए सांसद महोदय

मॉनसून सत्र से पहले हुई जांच में 17 MP कोविड पॉजिटिव मिले हैं.

बिहार: 70 साल के इस शख्स ने दशरथ मांझी जैसा काम कर दिया है

और इस नेक काम में उन्हें 30 साल लगे.

कोरोना से ठीक होने के बाद अगले कुछ दिनों तक क्या करें, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया

प्रोटोकॉल जारी किया है, पढ़ लें.

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का एम्स में निधन

तीन दिन पहले लालू की पार्टी छोड़ी थी.

दिल्ली दंगा: पुलिस ने कहा-चार्जशीट में योगेंद्र यादव और येचुरी का नाम है पर आरोपी के रूप में नहीं

मीडिया में चल रही खबरों पर दिल्ली पुलिस ने स्थिति स्पष्ट की है.

जो काम खुद बाल ठाकरे करते थे, शिवसेना वालों ने उसी के लिए एक्स नेवी ऑफिसर को पीट दिया!

पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

क्या यूपी में कोविड किट खरीद में घोटाला हुआ है? जांच के लिए SIT बनी

बीजेपी नेताओं ने ही घोटाले का आरोप लगाया है. ताजा मामला सहारनपुर से आया है.

जोकोविच ने अंपायर को गेंद मार घायल किया, उसके बाद जो हुआ वो क्रिकेट फैन्स के लिए सीख है

और इंडिया के बड़े सुपरस्टार्स के लिए भी.

ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती गिरफ्तार, आरोप साबित हुए तो 10 साल कैद हो सकती है

भाई शौविक और सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा पहले ही अरेस्ट हो चुके हैं.

GDP गिरने पर रघुराम राजन ने सरकार को बहुत बड़ी नसीहत दे दी है

किस बात पर रघुराम राजन ने कहा, 'सरकार अपने खोल में चली गयी'