Submit your post

Follow Us

पुलवामा हमले के लिए विस्फोटक कहां से और कैसे लाए गए, नई जानकारी सामने आई

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी, 2019 को सीआरपीएफ के काफिले पर हमला हुआ था. विस्फोटकों से भरी एक गाड़ी को काफिले की एक बस से टकराकर हमला किया गया था. हमले में 40 के करीब जवान मारे गए थे. जांच एजेंसियों ने कहा था कि आदिल अहमद डार नाम के आतंकी ने विस्फोटकों से भरी मारुति इको को काफिले से भिड़ा दिया था. इस मामले में अब एक खुलासा हुआ है.

कहा गया है कि हमले के लिए विस्फोटक टुकड़ों में इकट्ठा किया गया था. इसके लिए पत्थर और खनिज पदार्थों की खानों की आड़ ली गई. अंग्रेजी अखबार ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ ने इस बारे में रिपोर्ट छापी है. कहा जा रहा है कि अगस्त में इस मामले में चार्जशीट फाइल की जा सकती है.

पत्थर की खदानों से लाया गया विस्फोटक

अखबार ने इस हमले की जांच से जुड़े लोगों के हवाले से लिखा है कि आतंकियों ने थोड़ा-थोड़ा करके अमोनियम नाइट्रेट और अमोनियम पाउडर खरीदा. यह खरीद स्थानीय स्तर पर ही की गई. साथ ही जिलेटिन की 500 छड़ें पत्थर की खानों के बहाने ली गईं. रिपोर्ट में एक अधिकारी के हवाले से लिखा है कि जैश ए मोहम्मद के कमांडर मुदस्सर अहमद खान, इस्माइल भाई ऊर्फ लंबू, समीर अहमद डार और शकीर बशीर मगरे ने जिलेटिन की छड़ें इकट्ठा की थी. ये छड़ें खुन्मोह (श्रीनगर), त्राल, अंवतीपोरा, ख्रू (पुलवामा) और लेथपोरा की खानों से ली थीं.

आरडीएक्स पाकिस्तान से आया

रिपोर्ट के अनुसार, जिलेटिन की छड़ें पांच से 10 किलो की रेंज में इकट्ठा की गई, जिससे कि खुफिया एजेंसियों को शक न हो. इसी तरह 70 किलो अमोनियम नाइट्रेट और अमोनियम पाउडर भी लाया गया. वहीं मिलिट्री ग्रेड का 35 किलो आरडीएक्स पाकिस्तान से आया. फॉरेंसिक जांच में बताया गया था कि पुलवामा हमले में अमोनियम नाइट्रेट, जिलेटिन छड़ें और आरडीएक्स इस्तेमाल हुआ था.

पुलवामा हमला फरवरी 2019 में हुआ था. (File Photo)
पुलवामा हमला फरवरी 2019 में हुआ था. (File Photo)

एनआईए ने सभी सबूत जोड़े

अखबार ने गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से लिखा है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने सभी सबूत जोड़ लिए हैं. इनमें यह शामिल है कि विस्फोटक कहां से आए, कौन लाया और कैसे लाए गए. अधिकारी ने बताया कि आरडीएक्स जैश ए मोहम्मद के आतंकी पाकिस्तान से लाए थे.

खदानों से कैसे पार होता है विस्फोटक

उन्होंने ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ से कहा कि जिलेटिन की छड़ें खुले में बेचने की मनाही है. इन्हें केवल अधिकृत कंपनियां या अनुमति प्राप्त सरकारी विभाग ही इस्तेमाल कर सकते हैं. लेकिन अक्सर देखा गया है कि इसकी ठीक से निगरानी नहीं होती. ऐसे में खानों में काम आने वाले विस्फोटक अपराधियों या आतंकियों तक पहुंच जाते हैं.

पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे.
पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे.

इस मामले में अभी तक एनआईए ने शकीर बशीर मगरे, मोहम्मद अब्बास राथेर, वैज उल इस्लाम, इंशा जान और उसके पिता तारिक अहमद शाह को गिरफ्तार किया है. इन्हें फरवरी और मार्च, 2020 में पकड़ा गया है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि हमले के पीछे जैश ए मोहम्मद का हाथ था. इस बारे में पुख्ता तकनीकी सबूत मिले हैं. ये साबित करते हैं कि मौलाना मसूद अजहर और उसका भाई अब्दुल रउफ असगर पुलवामा हमले के लिए निर्देश दे रहा था.


Video: पुलवामा हमले के एक साल बाद भी NIA की चार्ज शीट दाखिल नहीं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

प्रवासी मजदूरों के मददगार सोनू सूद ने अब नया क्या किया है?

'नमस्कार! मैं आपका दोस्त सोनू सूद बोल रहा हूं.'

लॉकडाउन खत्म होते-होते कोरोना की जद में आया करण जौहर का घर

करण ने ट्विटर पर डिटेल में जानकारी दी है.

तेजस्वी सूर्या ने मंदिर पर आंध्र सरकार को घेरा, सुब्रमण्यम स्वामी ने बीजेपी को ही फंसा दिया

अब BJP कहे तो कहे क्या, करे तो करे क्या?

लिव-इन पार्टनर की हत्या का पता न चले, इसलिए नौ और लोगों को मार डाला

गर्लफ्रेंड ने नाबालिग बेटी से दूर रहने की चेतावनी दी, तो उसे मारकर ट्रेन से फेंक दिया.

बिहार बोर्ड के 10th का रिजल्ट आ गया है, रोहतास के हिमांशु राज ने टॉप किया है

मेरिट लिस्ट में 41 बच्चों ने जगह बनाई है, इनमें 10 लड़कियां हैं.

लॉकडाउन में अक्षय ने ऐसे शूटिंग की है कि आप देखकर सैनिटाइज़र लगा लेंगे

लेकिन एक दिकक्त भी आ गई है, अक्षय कुमार की फिल्म 'पृथ्वीराज' का सेट तोड़ा जा रहा है.

चीन में दो दिन में कोरोना के 87 नए मामले, जहां से शुरू हुआ वहां सबसे ज्यादा मरीज़

कोरोना वायरस की शुरुआत चीन के वुहान शहर से हुई थी.

ट्रंप ने कोरोना से बचाव के लिए जिस दवा का कोर्स पूरा किया, WHO ने उस पर रोक लगा दी है

एक स्टडी में पता चला कि कोरोना से बचाव में HCQ कारगर नहीं है.

केरलः मंदिर के करीब 'चर्च' इतना नागवार था कि बजरंग दल और प्रवीण तोगड़िया के संगठन वालों ने तोड़ दिया

फोटो पोस्ट कर लिखा- शिव मंदिर के इतने करीब चर्च बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है.

रोज़ 500 लोगों को खाना खिला रहे इस ब्रिटिश गुरुद्वारे पर हमला

आरोप है कि पाकिस्तानी मूल के व्यक्ति ने गुरु अर्जन देव गुरुद्वारे पर हमला किया.