Submit your post

Follow Us

पेट्रोल पंप में काम करने वाले ने बेटे की पढ़ाई के लिए घर बेच दिया था, अब बेटा बना IAS

4 अगस्त, 2020.UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) 2019 की सिविल सेवा परीक्षा के नतीजे आए. 829 कैंडिडेट सफल हुए. अब इनमें से कई कैंडिडेट्स के संघर्ष की कहानियां सामने आने लगी हैं. ऐसी ही एक कहानी प्रदीप सिंह की भी है. प्रदीप ने इस परीक्षा में 26वीं रैंक हासिल की है.

पिता पेट्रोल पंप में काम करते थे

वैसे तो प्रदीप का जन्म बिहार में हुआ था, लेकिन बाद में परिवार इंदौर शिफ्ट हो गया. इंदौर में उनके पिता एक पेट्रोल पंप में काम करने लगे. प्रदीप हमेशा से IAS अधिकारी बनना चाहते थे, यानी इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज में जाना चाहते थे. ये बात उनके पिता भी अच्छी तरह से जानते थे. इसलिए अच्छी पढ़ाई और कोचिंग के लिए प्रदीप जून 2017 में दिल्ली आ गए. यहां एक कोचिंग इंस्टीट्यूट जॉइन किया, जिसकी एक साल की फीस डेढ़ लाख रुपए थी. ऊपर से प्रदीप के रहने-खाने के पैसे अलग लगते थे. ऐसे में पिता ने इंदौर का अपना मकान बेच दिया, बिहार के गोपालगंज की पुश्तैनी ज़मीन भी बेच दी, ताकि उनके बेटे के सपने में कोई रुकावट न आए.

2018 में 93वीं रैंक आई थी

प्रदीप ने 2018 की सिविल सेवा परीक्षा में भी 93वीं रैंक हासिल की थी, लेकिन तब उन्हें IAS की बजाए IRS (भारतीय राजस्व सेवा) मिला था. प्रदीप को IAS अधिकारी ही बनना था, इसलिए उन्होंने 2019 में फिर से सिविल सर्विसेज की परीक्षा दी. इस बार 26वीं रैंक आई, जिससे अब IAS बनने का रास्ता साफ हो गया है.

‘इंडिया टुडे’ के रवीश पाल सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रदीप को बैडमिंटन खेलने का और फिल्म देखने का बहुत शौक है. लेकिन IAS बनने के लिए उन्होंने इन सबको किनारे कर दिया था. सब छोड़कर 16-16 घंटे तक केवल पढ़ाई करते थे. कई-कई दिनों तक दोस्तों से भी मुलाकात नहीं की थी.

प्रदीप का कहना है कि उनके माता-पिता और परिवार का जज़्बा उनके जज़्बे से कहीं ज्यादा ऊपर था. उनके घर पर आर्थिक दिक्कत होने के बाद भी पिता ने पढ़ाई में कोई रुकावट नहीं आने दी.

प्रदीप के पिता ने भी ANI को बताया कि वो अपने बेटे की कामयाबी से खुश हैं. UPSC की 2019 की सिविल सर्विसेज परीक्षा में पहला रैंक भी एक प्रदीप सिंह नाम के कैंडिडेट का ही है. उन्होंने भी 2018 में 260वीं रैंक हासिल की थी और IRS जॉइन की थी. 2019 में एक बार फिर से एग्जाम दिया और देश में पहला स्थान हासिल किया.


वीडियो देखें: प्रदीप ने UPSC परीक्षा दी, जिसमें एक बार IRS जॉइन किया और दूसरी बार टॉप कर गए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?