Submit your post

Follow Us

नेपोटिज़म की बहस के बीच पूजा भट्ट ने कंगना के लिए कहा, 'हमने ही लॉन्च किया था'

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद एक मुद्दे पर जमकर बातें हो रही हैं. वो मुद्दा है ‘नेपोटिज़म’ का. यानी भाई-भतीजावाद का. बॉलीवुड के कुछ लोगों पर नेपोटिज़म को बढ़ावा देने का आरोप लगातार लग रहा है. एक्ट्रेस कंगना रनौत तो कई साल पहले से नेपोटिज़म के खिलाफ बोल रही हैं, सुशांत के जाने के बाद भी उन्होंने कुछ वीडियो डालकर इसके खिलाफ बोला था.

इसके अलावा ट्विटर पर भी कई सारे लोग लगातार करण जौहर, महेश भट्ट, मुकेश भट्ट पर नेपोटिज़म फैलाने के आरोप लगा रहे हैं. इन आरोपों पर अब महेश भट्ट की बेटी एक्ट्रेस पूजा भट्ट ने जवाब दिया है. कंगना समेत आरोप लगाने वाले सभी लोगों को. पूजा ने ट्वीट किया,

‘मुझसे नेपोटिज़म के मुद्दे पर कमेंट करने को कहा गया था, इस मुद्दे पर अभी लोग काफी गुस्सा दिखा रहे हैं. एक ऐसे व्यक्ति के तौर पर, जो एक ऐसे ‘परिवार’ से आती है, जिसने पूरी फिल्म इंडस्ट्री की तुलना में कहीं ज्यादा नए टैलेंट, एक्टर्स, म्यूज़िशियन्स और टेक्निशियन्स को लॉन्च किया है, मैं केवल हंस सकती हूं. सच से किसी को मतलब नहीं होता. सबको कहानियां चाहिए होती हैं.’

अगले ट्वीट में लिखा,

‘एक वक्त था जब भट्ट्स पर आरोप लगते थे कि उनके मन में स्थापित/सफल एक्टर्स के खिलाफ कुछ है, क्योंकि वो केवल नए आए लोगों के साथ ही काम कर रहे थे या उन्हें ही लॉन्च कर रहे थे. स्टार्स के पीछे नहीं जा रहे थे. इस वजह से हीनता का अहसास भी कराया गया था. और अब वही लोग नेपोटिज़म कार्ड खेल रहे हैं? गूगल करो, फिर ट्वीट करो.’

अगला ट्वीट कंगना के बारे में?

पूजा ने कंगना की पहली फिल्म गैंगस्टर का ज़िक्र करते हुए लिखा,

‘जहां तक कंगना रनौत की बात है, तो उनके पास शानदार प्रतिभा है, अगर नहीं होती तो विशेष फिल्म्स उन्हें ‘गैंगस्टर’ के ज़रिए लॉन्च नहीं करता. हां वो अनुराग बसु की खोज थीं, लेकिन विशेष फिल्म्स ने उनके (अनुराग) नज़रिए को सपोर्ट किया और फिल्म में पैसा लगाया. कोई छोटी बात नहीं है. उन्हें (कंगना) उनके आगे के सभी कामों के लिए शुभकामनाएं’.

फिर ‘सड़क-2’ का ज़िक्र किया. लिखा,

‘यहां तक कि ‘सड़क-2’ में भी सुनील जीत के तौर पर एकदम ब्रांड न्यू टैलेंट का जन्म हुआ है. चंडीगढ़ के एक म्यूज़िक टीचर जो बिना किसी अपॉइंटमेंट के हमारे ऑफिस आए थे, एक सपना, एक हारमोनियम और एक शानदार गाना ‘इश्क कमाल’ लेकर, जिसे मेरे पिता ने सुना और फिल्म में जगह दे दी गई.’

अगले ट्वीट में लिखा,

‘तो ये नेपोटिज़म शब्द से किसी और को ज़लील करने की कोशिश करो दोस्तों. पिछले कई दशकों से हमने लोगों को आगे बढ़ने के लिए जो स्प्रिंगबोर्ड मुहैया कराया है, जिसके ज़रिए जो लोग फिल्मों में अपने रास्ते बना पाए हैं, वो जानते हैं कि हम किसके लिए खड़े हैं. और अगर वो ये सब भूल गए हैं, तो ये उनकी त्रासदी है, हमारी नहीं. आपका दिन अच्छा रहे.’

लगातार पांच-छह ट्वीट्स करके पूजा भट्ट ने नेपोटिज़म पर जवाब दिया. उन्होंने सभी ट्वीट्स में ये कहने की कोशिश की कि विशेष फिल्म्स नए टैलेंट को मौका देता आया है.

विशेष फिल्म्स की फिल्म ‘सड़क-2’ आने वाली है. डिज़नी प्लस हॉटस्टार पर. जब फिल्म के रिलीज़ होने का ऐलान किया गया था, तब भी लोगों ने इसका बहिष्कार (बॉयकॉट) की अपीली की थी. ये कहकर कि ये फिल्म नेपोटिज़म का प्रोडक्ट है, इसलिए अगर सुशांत के लिए इंसाफ चाहते हो तो इसे न देखना.


वीडियो देखें: महेश भट्ट ने ‘सड़क-2’ का पोस्टर रिलीज़ किया और लोग भड़क गए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

विकास दुबे को बचाने के लिए अपने ही साथियों को धोखा देने वाले दो पुलिसवाले धर लिए गए हैं

घटना में आठ पुलिसवाले शहीद हुए थे.

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.

क्या गलवान में पीछे हटकर चीन 1962 वाली चाल दोहरा रहा है?

58 साल पहले भी ऐसा ही हुआ था. पहले चीन गलवान में पीछे हटा और कुछ दिन बाद भारत पर हमला कर दिया.

सरकार ने वो आदेश दिया है कि कंपनियां मास्क और सैनिटाइज़र के दाम में मनचाहा बदलाव कर सकती हैं

राज्यों ने शिकायत नहीं की, तो सरकार ने आदेश निकाल दिया

बुरी खबर! 'मेरे जीवनसाथी', 'काला सोना' जैसी फ़िल्में बनाने वाले प्रड्यूसर हरीश शाह नहीं रहे

कैंसर से जारी जंग आखिरकार हार गए.

दिल्ली की जेल में सजा काट रहे सिख दंगे के दोषी नेता की कोरोना से मौत हो गई

विधायक रह चुके इस नेता की कोरोना रिपोर्ट 26 जून को पॉज़िटिव आई थी.

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?

भारत-चीन के तनाव के बीच पीएम मोदी ने लद्दाख़ पहुंचकर किससे बात की?

पहले राजनाथ सिंह जाने वाले थे, नहीं गए.