Submit your post

Follow Us

प्रियंका गांधी वाड्रा की 1000 बसों में कुछ नंबर ऑटो और कार के कैसे निकल गए?

प्रवासी मज़दूरों की घर वापसी के लिए प्रियंका गांधी वाड्रा सामने आईं. हज़ार बसें चलाने की अनुमति मांगी. यूपी सरकार की ओर से बसों की डीटेल्स मांगी गई. कांग्रेस का आरोप आया कि मजदूरों की घर वापसी में अड़ंगा लगाने की कोशिश है. इस सबके बीच पलटकर कांग्रेस पर एक आरोप लग गया. वो ये कि बसों की लिस्ट में दरअसल, सारे नंबर बस के हैं ही नहीं, कुछ ऑटो, मोटर साइकल और कारों के हैं.

जिन नंबरों की बात हो रही है, वो कांग्रेस के इस ट्वीट की फोटोज से आए हैं.

ट्वीट यूपी कांग्रेस के आधिकारिक हैंडल से आया था, जिसमें हज़ार तो नहीं, लेकिन कुछ गाड़ियों के नंबर थे.

तत्पश्चात सामने आए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सलाहकार मृत्युंजय कुमार. आज तक के पत्रकार कुमार अभिषेक की ख़बर के मुताबिक़, मृत्युंजय कुमार ने दावा किया कि कांग्रेस ने यूपी सरकार को जो बसों की लिस्ट दी है, उसमें कई नंबर तिपहिया वाहन, मोटरसाइकिल और कार के हैं.

कौन सी गाड़ियों के नंबर बताए गए जो बसों के नहीं हैं?

UP83T1006 गाड़ी नंबर वाला वाहन. इसे थ्री व्हीलर बताया गया.

RJ14TD1446 जो बस नहीं कार बताई गई.

UP85T6576 ये पेट्रोल से चलने वाला स्कूटर बताया गया.

सोशल मीडिया ने इसे अपने तरीके से लिया, एक हैशटैग चल पड़ा. #प्रियंका_का_लिस्ट_घोटाला नाम से. कांग्रेस और प्रियंका गांधी वाड्रा की लिस्ट और गाड़ियों पर सवाल उठाए गए. एक दो नमूने देखिए.

राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को टार्गेट करते कई ट्वीट्स दिखे.

जिस अकाउंट से लिस्ट आई, वहां इन तिपहिया-दो पहिया वाली बात पर क्या कहा गया?

एक हज़ार बसों को 10 हज़ार बताते एक न्यूज़ एंकर, जो इसी तर्ज़ की टीवी पर चलती ख़बर का स्क्रीनग्रैब ट्वीट कर रहे थे. यूपी कांग्रेस का हैंडल उन पर हमलावर था. लिखा, “फेक न्यूज फैलाने वाले इस पत्रकार पर राजस्थान के ऑपरेटर राजस्थान में एफआईआर दर्ज कराएंगे.” हालांकि फ़ेक न्यूज़ किस बात को कहा गया और सफाई में क्या सामने आया, ये इस ट्वीट से कतई स्पष्ट नहीं हुआ.

एक अन्य ट्वीट में सुबह से चल रही तस्वीरों को फोटोशॉप कहा गया.

जो नंबर बहुचर्चित थे, मृत्युंजय कुमार की तरफ से आए. हमने उन्हें अपनी तरफ से खोजा ताकि सच समझ आए.

लिस्ट में 12वें नंबर की गाड़ी UP83T1006 है. जिसे कांग्रेस की लिस्ट में नीरज की बताया गया. https://vahan.nic.in पर खोजने पर सच में ऑटो दिखा रहा था. मालिक का नाम इरशाद लिखा था.

Up83t1006
UP83T1006 की डीटेल्स

लिस्ट में 185वें नंबर की गाड़ी RJ14TD1446, जिसे नरेन्द्र की बताया गया. दरअसल वो गजेन्द्र सिंह की शेवरोले बीट दिखा रहा है.

Rj14td1446
RJ14TD1446 की डीटेल्स

यानी कम से कम दो मामलों में तो ये बात कंफर्म हैकि जैसा कांग्रेस की लिस्ट में लिखा है. गाड़ियों का नंबर वो और कैटेगरी वो नहीं है. यानी इन गाड़ियों पर कांग्रेस से सवाल पूछा जाना बनता है.

एक और नंबर की बात हुई. UP85T6576. खुद भाजपा के प्रवक्ता प्रमुख संबित पात्रा ने ट्वीट कर इस गाड़ी के इस्तेमाल को #PriyankaVadraBusGhotala कहा और दावा किया कि ये स्कूटर है. हालांकि इसमें एक पेच है.

जब हमने लिस्ट में खोजा तो इस नंबर की गाड़ी लिस्ट में नहीं थी. 13वें नंबर पर UP83T6576 नंबर की गाड़ी थी. योगी आदित्यनाथ के सलाहकार मृत्युंजय कुमार और संबित पात्रा ने भूलवश या जानकर 83 को 85 कह दिया होगा. खोजने पर ये पुष्कर गर्ग की बस ही निकली.

Up83t6576
UP83T6576 नाम की बस की डीटेल लिस्ट में है. UP85T6576 का ज़िक्र नहीं है.

इसके अलावा सोशल मीडिया पर और भी कई नंबर घूम रहे हैं. जिसको लेकर न बीजेपी के किसी नेता या हैंडल ने कोई ट्वीट किया है. न ही वो नंबर कांग्रेस की उपलब्ध लिस्ट में मौजूद हैं. इसलिए हम उनकी बात नहीं कर रहे हैं. कांग्रेस 1096 बसों की लिस्ट देने की बात कर रही थी. ये पंक्ति लिखे जाने तक ऐसे कोई लिस्ट भी उपलब्ध नहीं हैं. इसलिए हम जहां भी लिस्ट की बात कह रहे हैं. वो यूपी कांग्रेस के ट्वीट के चार स्क्रीनशॉट्स से निकले नंबर हैं. वो सारे गाड़ी नंबर एक साथ यहां पाएं.

List Updated By Congress
ये गाड़ी के नंबर यूपी कांग्रेस के हैंडल से अपलोड हुए. हम इन्हें ही लिस्ट कह रहे हैं.

इस बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए हमने उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू से बात की. उन्होंने आरोप लगाए कि किस तरह भाजपा बीते कई दिनों से ये प्रयास कर रही है कि कांग्रेस मजदूरों की मदद न कर सके. उन्होंने गिनाया कि 16 मई को प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी आदित्यनाथ को हज़ार बसें चलवाने के लिए चिट्ठी लिखी थी. तीन दिन टहलाने के बाद 18 मई को प्रस्ताव स्वीकार हुआ, जबकि 17 मई से बसें यूपी बॉर्डर पर तैयार खड़ी थीं. ये भी आरोप लगाए कि कैसे रात के समय आदेश आते हैं कि सुबह बसें लखनऊ लाई जाएं और सुबह एक घंटे के नोटिस पर कहा जाता है कि बसें नोएडा बॉर्डर पर लाई जाएं.

अजय कुमार लल्लू दरअसल चिट्ठियों पर चल रहे वार-पलटवार की बात कर रहे थे. जो सरकार और प्रियंका गांधी वाड्रा के बीच चल रहा है. कांग्रेस आरोप लगा रही है कि 18 मई को रात साढ़े ग्यारह बजे के बाद यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने प्रियंका गांधी वाड्रा से 1000 बसों को लखनऊ भेजने को कहा था. उन्हें 19 मई की सुबह 9 बजे तक बसों को वृंदावन स्कीम सेक्टर 15-16 में खडा करने को कहा गया था.

बाद में कहा गया कि आप लखनऊ तक बसें भेजने में असमर्थ हैं तो बसों को 12 बजे तक गाजियाबाद और नोएडा बॉर्डर पर पहुंचा दें. जिस पर कांग्रेस की तरफ से पांच बजे बसें पहुंचाने की बात कही गई.

पर बसों के नंबर की बात तो रह ही गई

अजय कुमार लल्लू ने बताया की बॉर्डर पर बसें खड़ी हैं, जिसे संदेह हो वो जाकर बसें देख सकता है. उन्होंने ये भी बताया कि कुल 1096 बसों की लिस्ट सरकार को दी गई है. लेकिन वो चाहते ही नहीं हैं कि कांग्रेस मजदूरों की मदद कर सके. कांग्रेस के और भी कई नेता ये कहते मिले कि खड़ी हुई बसें जाकर देख लें कि इनमें से कितने ऑटो रिक्शा हैं या कितने स्कूटर हैं.

ऐसे कई वीडियोज भी आए, जिनमें राजस्थान के नंबर की गाड़ियों को ऊंचा नागला, आगरा में यूपी बॉर्डर पर खड़ा बताया गया.

कुल जमा भाजपा कुछ गाड़ियों के नंबर्स को सामने रख, इसे बस घोटाला बताकर #PriyankaVadraBusGhotala ट्रेंड कराने में लगी है. कांग्रेस के पास दिखाने को खड़ी हुई बसों के वीडियो हैं. आरोपों को फोटोशॉप बताया जा रहा है. मजदूर पैदल चल रहें हैं. साथ में पॉलिटिक्स भी चल रही है. देखिए, आपकी तसल्ली के लिए बसों के नंबर्स का लॉजिकल सच निकलकर कभी आता है या नहीं. अभी डीटेल्स आती जाएंगी तो हम भी जोड़ते जाएंगे.


 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

फरीदाबाद: इस कंपनी के कर्मचारी अपने मालिक पर PM मोदी की बात न मानने का आरोप लगा रहे हैं!

कोरोना लॉकडाउन के बीच ये कर्मचारी समस्याओं से घिर गए हैं.

क्या अब कोरोना वायरस को लेकर प्रेस के सामने आने से बच रहा है स्वास्थ्य मंत्रालय?

आठ दिन से नहीं हुई प्रेस ब्रीफिंग.

बोनी कपूर के घर पर काम करने वाले चरण साहू कोरोना संक्रमित पाए गए

16 मई को उनकी तबीयत खराब हुई थी.

अनुराग कश्यप नई फिल्म ले आए हैं, इस बार क्या खास है उनके पिटारे में?

नेटफ्लिक्स पर 5 जून को रिलीज़ होगी चोक्डः पैसा बोलता है.

किसकी वजह से पेस बोलिंग को इतने अच्छे से खेल पाती है टीम इंडिया

कैप्टन विराट कोहली ने बताया.

रणवीर सिंह की इस पेंटिंग की लोग तारीफ कर रहे हैं

क्वारंटीन काल में क्या कर रहे हैं रणवीर और दीपिका?

टिक-टॉक वाले मामले पर सोना महापात्रा ने सलमान खान को लपेट दिया

मामला अब तूल पकड़ रहा है.

पाकिस्तान के 'विराट कोहली' ने क्यों कहा- क्रिकेटर हूं गोरा नहीं?

कोहली से अपनी तुलना पर भी बोले बाबर आज़म.

MP: दद्दा जी के अंतिम संस्कार में टूटे सोशल डिस्टेंसिंग के नियम, नेता, एक्टर्स समेत हजारों शामिल हुए

अंतिम संस्कार को लेकर क्या है MHA की गाइडलाइन?

इधर-उधर जाने के लिए ई-पास कैसे बनवाएं? सरकार ने रास्ता सुझाया है

बहुत सारी झंझटें एक बार में खत्म हो जाएंगी.