Submit your post

Follow Us

Ujjwala Yojana 2.0: मोदी सरकार की फ्लैगशिप स्कीम में नया क्या है?

उज्ज्वला योजना. नरेंद्र मोदी सरकार की एक फ़्लैगशिप स्कीम. मंगलवार 10 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना के दूसरे संस्करण यानी उज्ज्वला योजना 2.0 (Ujjwala Yojana 2.0) का विमोचन किया. उत्तर प्रदेश के महोबा ज़िले के लाभार्थियों को एलपीजी सिलेंडर कनेक्शन सौंपकर इसकी शुरुआत हुई. कोरोना संकट के चलते ये सब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया गया. इस मौक़े पर पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पूरी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी वर्चुअली मौजूद थे. दोपहर 12:30 शुरू हुए कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने लाभार्थियों से बातचीत भी की.

वहीं, पेट्रोलियम मंत्री हरदीप पूरी ने दावा किया कि यूपी में साल 2016 में 55 प्रतिशत परिवारों के पास गैस कनेक्शन थे, जो अब 2021 में बढ़कर लगभग सभी घरों तक पहुंच गया है. यानी राज्य के करीब 100 प्रतिशत परिवारों के पास गैस कनेक्शन है. उन्होंने आगे ये भी दावा किया कि देश में कुल 29 करोड़ परिवारों के पास अब गैस कनेक्शन है. उनके अलावा, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस योजना के तहत 1 करोड़ उन गरीब परिवारों को गैस कनेक्शन दिए जाएंगे, जो पहले संस्करण में किसी कारणवश छूट गए थे.

‘महिला सशक्तीकरण में अहम योगदान’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि महिला सशक्तीकरण में इस योजना ने अहम भूमिका निभाई है. उन्होंने कहा कि योजना के नए संस्करण में प्रवासी मज़दूरों के लिए विशेष प्रावधान किया गया है. इसके तहत राशन कार्ड या आधार कार्ड के बजाय सिर्फ़ सेल्फ़ डेक्लरेशन से भी कनेक्शन दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि गैस सिलेंडर और गैस स्टोव के साथ पहला रीफ़िल मुफ्त दिया जाएगा.

चुनाव के लिहाज से महत्वपूर्ण कदम

ग़ौरतलब है कि 1 मई 2016 को उज्ज्वला योजना के पहले संस्करण की शुरुआत भी यूपी से हुई थी. तब प्रदेश के बलिया ज़िले से स्कीम को हरी झंडी दी गई थी. 5 साल से भी ज़्यादा समय बीतने के बाद दूसरे संस्करण की शुरुआत महोबा ज़िले से हुई है.

केंद्र के इस कदम को आगामी विधानसभा चुनावों के लिहाज से भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. बता दें कि उत्तर प्रदेश में पिछली बार विधानसभा चुनाव 2017 में हुए थे, जिसके बाद बनी सरकार का कार्यकाल ख़त्म होने वाला है. अगले साल यानी 2022 के फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव होने की संभावना है. ऐसे में केंद्र और राज्य में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकारों से और योजनाओं को स्वीकृति मिलने की उम्मीद की जा सकती है. फिलहाल उज्ज्वला योजना पर ही टिके रहते हैं.

Pm Narendra Modi Ujjwala 2.0
उज्ज्वला योजना 2.0 के विमोचन के दौरान अपनी बात रखते प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी

उज्ज्वला योजना क्या है?

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) का उद्देश्य गरीबी रेखा के नीचे (BPL) के लोगों को एलपीजी कनेक्शन मुहैया कराना है. स्कीम के पहले चरण में BPL परिवारों की पांच करोड़ महिलाओं को LPG कनेक्शन देने थे. बाद में अप्रैल 2018 में इस योजना का विस्तार किया गया. इसके तहत 7 और श्रेणियों की महिलाओं को स्कीम में शामिल किया गया. ये श्रेणियां हैं- एससी/एसटी, पीएमएवाई, एएवाई, अति पिछड़ा वर्ग, चाय बागान, वनवासी और द्वीप समूह. इसके बाद योजना के लक्ष्य को मार्च 2021 तक बढ़ाकर 8 करोड़ एलपीजी कनेक्शन कर दिया गया. हालांकि सरकार ने सितंबर 2020 में ही ये लक्ष्य हासिल कर लिया.

उज्ज्वला 2.0 क्या है?

उज्ज्वला 2.0 के तहत मोदी सरकार मौजूदा वित्तीय वर्ष में लगभग 1 करोड़ गैस कनेक्शन गरीबों को मुफ्त रीफिल और एक स्टोव के साथ वितरित करेगी. गौरतलब है कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मौजूदा वित्तीय वर्ष के बजट भाषण में इस योजना को 1 करोड़ नए लाभार्थियों तक पहुंचाने की घोषणा की थी.

आवेदन कैसे करें?

PMUY 2.0 या Ujjwala 2.0 का लाभ लेने के लिए नामांकन प्रक्रिया काफी आसान है. इसमें कम से कम कागजी कार्रवाई की ज़रूरत है. योजना के तहत प्रवासियों को गैस लेने के लिए राशन कार्ड या अपने पते का प्रमाण अलग-अलग जमा करने की भी अब कोई ज़रूरत नहीं. उन्हें केवल ‘पारिवारिक घोषणा’ और ‘पते के प्रमाण’ दोनों के लिए एक स्व-घोषणा यानी सेल्फ डेक्लरेशन करना होगा.

हालांकि कुछ शर्तें जरूर हैं. जैसे

– योजना के लिए आवेदक सिर्फ़ एक महिला हो सकती है.

– उसकी उम्र 18 साल से ज्यादा होनी चाहिए.

– वो बीपीएल परिवार से होनी चाहिए.

– उसके पास बीपीएल कार्ड या राशन कार्ड होना चाहिए.

– आवेदक के परिवार के किसी सदस्य के नाम एलपीजी कनेक्शन नहीं होना चाहिए.

आवेदन ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरह से किया जा सकता हैं. प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन नज़दीकी गैस एजेंसी में आवेदन देकर किया जा सकता है. इसके अलावा योजना की आधिकारिक वेबसाइट pmujjwalayojana.com पर भी आवेदन किया जा सकता है.


वीडियो- उज्ज्वला योजना में बंपर फ्रॉड : साढ़े तीन लाख मौकों पर एक दिन में 2 से 20 बार गैस भरवाई गई 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

पीएम नरेंद्र मोदी ने बताया कि ताली-थाली बजाने और दीया जलाने का क्या फायदा हुआ है

पीएम नरेंद्र मोदी ने बताया कि ताली-थाली बजाने और दीया जलाने का क्या फायदा हुआ है

देश के नाम संबोधन में मोदी ने वैक्सीनेशन अभियान में VIP कल्चर को लेकर क्या कहा?

पाकिस्तान पर भारी पड़ेंगे टीम इंडिया के सिर्फ दो नौजवान?

पाकिस्तान पर भारी पड़ेंगे टीम इंडिया के सिर्फ दो नौजवान?

ऐसा हम नहीं पाकिस्तानी कोच कह रहे हैं!

IPL से कैसे जुड़ने वाले हैं मैनचेस्टर यूनाइटेड और क्रिस्टियानो रोनाल्डो?

IPL से कैसे जुड़ने वाले हैं मैनचेस्टर यूनाइटेड और क्रिस्टियानो रोनाल्डो?

IPL टीम खरीदने के चक्कर में हैं ग्लेज़र्स.

पॉर्न नहीं देखी तो मार डाला, पीड़ित 6 साल की बच्ची, हत्या के आरोपी 8-11 साल के बच्चे!

पॉर्न नहीं देखी तो मार डाला, पीड़ित 6 साल की बच्ची, हत्या के आरोपी 8-11 साल के बच्चे!

हत्या के बाद एक नाबालिग आरोपी के पिता ने जो किया, वो जानकर भी दंग रह जाएंगे.

फर्रुखाबाद के बौद्ध तीर्थ क्षेत्र में मंदिर से भगवा झंडा उतारने और उसके बाद के बवाल की पूरी कहानी

फर्रुखाबाद के बौद्ध तीर्थ क्षेत्र में मंदिर से भगवा झंडा उतारने और उसके बाद के बवाल की पूरी कहानी

यहां बौद्ध धर्मी और सनातन धर्मी के बीच की तनातनी की वजह क्या है?

क्या किसानों ने वाकई गाजीपुर बॉर्डर खाली करना शुरू कर दिया है?

क्या किसानों ने वाकई गाजीपुर बॉर्डर खाली करना शुरू कर दिया है?

सड़कें ब्लॉक करने पर सुप्रीम कोर्ट की फटकार का असर?

NCB ने स्टेटमेंट जारी कर कहा- शाहरुख के घर छापा मारने नहीं, इस काम से गए थे

NCB ने स्टेटमेंट जारी कर कहा- शाहरुख के घर छापा मारने नहीं, इस काम से गए थे

इतना बवाल हुआ कि शाहरुख के घर 'मन्नत' से लौटने के बाद NCB को स्टेटमेंट जारी करना पड़ा.

छत्तीसगढ़: युवक ने दीवार पर लिखा ASI और कांग्रेस नेता का नाम, फिर लगा ली फांसी!

छत्तीसगढ़: युवक ने दीवार पर लिखा ASI और कांग्रेस नेता का नाम, फिर लगा ली फांसी!

एसपी ने ASI को सस्पेंड किया, कांग्रेस नेता पर भी केस दर्ज.

TDP प्रवक्ता के बयान से आंध्र प्रदेश की राजनीति में ऐसी आग लगी कि बात दिल्ली तक पहुंच गई

TDP प्रवक्ता के बयान से आंध्र प्रदेश की राजनीति में ऐसी आग लगी कि बात दिल्ली तक पहुंच गई

TDP के दफ्तरों पर एक के बाद एक हमले हुए हैं, सत्तारूढ़ YSRCP पर आरोप लगा है.

बांग्लादेश में जिस शख्स की वजह से हिंसा भड़की, उसका पता चल गया है, CCTV देख पुलिस ने किया दावा

बांग्लादेश में जिस शख्स की वजह से हिंसा भड़की, उसका पता चल गया है, CCTV देख पुलिस ने किया दावा

इकबाल के घरवाले उसके बारे में क्या बता रहे?