Submit your post

Follow Us

साड़ी का पल्लू राइट से लेफ्ट होने पर क्या बोले पीएम मोदी?

गुरुदेव रविंद्र नाथ टैगोर द्वारा स्थापित विश्वभारती यूनिवर्सिटी ने 100 वर्ष पूरे कर लिए हैं. इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार 24 दिसंबर को पश्चिम बंगाल में शांति निकेतन स्थित विश्वभारती विश्वविद्यालय के एक समारोह को विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया. बाकी बातों के अलावा पीएम मोदी ने टैगोर का गुजरात का कनेक्शन भी बताया. इसी के साथ ही उन्होंने महिलाओं के साड़ी के पल्लू को लेकर रोचक किस्सा शेयर किया. आइए जानते हैं पीएम मोदी ने कैसे जोड़ा गुरुदेव का गुजरात कनेक्शन, और क्या है उनकी साड़ी के पल्लू की थ्योरी.

गुरुदेव का गुजरात कनेक्शन

पीएम मोदी ने गुरुदेव रविंद्र नाथ टैगोर का गुजरात कनेक्शन बताने के लिए उनके बड़े भाई सत्येंद्र नाथ टैगोर की बात की. सत्येंद्र नाथ टैगोर अंग्रेजों के वक्त में आईसीएस थे, जैसे अब आईएएस अधिकारी होते थे. वह कुछ बरसों के लिए गुजरात भी पोस्टेड रहे थे. पीएम मोदी ने उनका जिक्र करते हुए कहा-

गुरुदेव के बड़े भाई सत्येंद्र नाथ टैगोर जब आईसीएस में थे तो उनकी नियुक्ति अहमदाबाद में भी हुई. गुरुदेव अक्सर गुजरात जाते थे. उन्होंने वहां लंबा समय भी बिताया. उन्होंने वहां पर अपनी दो लोकप्रिय बांग्ला कविताएं ‘बंदी ओ अमार’ और ‘निरोग रजनी देखो’ की रचनाएं कीं. अपनी प्रसिद्ध रचना क्षुदित पाषाण का एक हिस्सा भी उन्होंने वहीं लिखा.

पीएम मोदी ने बताया कि अपने बड़े भाई के गुजरात प्रवास के दौरान रविंद्रनाथ टैगोर ने भी गुजरात में लंबा वक्त बिताया.
पीएम मोदी ने बताया कि अपने बड़े भाई के गुजरात प्रवास के दौरान रविंद्रनाथ टैगोर ने भी गुजरात में लंबा वक्त बिताया था.

साड़ी के पल्लू का टैगोर परिवार से कनेक्शन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे बोलते हुए कहा-

एक और तथ्य है, जिस पर महिला सशक्तीकरण से जुड़े संगठनों को अध्ययन करना चाहिए. रविंद्र नाथ टैगोर के भाई सत्येंद्र नाथ टैगोर की पत्नी ज्ञानन्दिनी देवी जी जब अहमदाबाद में रहती थीं तो उन्होंने देखा कि स्थानीय महिलाएं अपनी साड़ी के पल्लू को दाएं कंधे पर रखती थीं. दाएं कंधे पर पल्लू रहने से महिलाओं को काम करने में दिक्कत होती थी. उन्होंने इस परेशानी को देखकर एक आइडिया सोचा. उन्होंने साड़ी का पल्लू बाएं कंधे पर डालने का आइडिया निकाला, पल्लू को दाएं से बाएं कंधे पर लिया. मुझे सही-सही तो नहीं पता लेकिन कहते हैं कि बाएं कंधे पर साड़ी का पल्लू उन्हीं की देन है.

स्टूडेंट्स को दिया टास्क

भाषण के दौरान पीएम मोदी ने रविंद्रनाथ टैगोर की लिखी कई बांग्ला पंक्तियां भी सुनाईं. मोदी ने बंगाल की संस्कृति और गुरुदेव से जुड़ी कई बातें बताईं. साथ ही, विश्वभारती के स्टूडेंट्स को टास्क भी दिया. उन्होंने कहा कि हर साल होने वाला पौष मेला, जो इस बार नहीं हो पाया, उसके लिए आप लोग प्रयास करें. जिन हैंडीक्राफ्ट्स वर्कर्स को इस मेले से फायदा होता था, उनकी लिस्ट निकालकर उनसे संपर्क करें. उन्हें ऑनलाइन या सोशल मीडिया पर लाकर उनके सामान को बिकवाने में मदद करें.

पीएम मोदी के इस कार्यक्रम के दौरान पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल भी मौजूद रहे.

Sale(704)
विश्वभारती यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में भाषण देते हुए पीएम मोदी ने स्टूडेंट्स को हैडीक्राफ्ट्स के कलाकारों को ऑनलाइन लाने का टास्क भी दिया.

1921 में हुई थी स्थापना

विश्व भारती यूनिवर्सिटी की स्थापना 1921 में गुरुदेव रविंद्रनाथ टैगोर ने की थी. यह देश की सबसे पुरानी सेंट्रल यूनिवर्सिटी है. इसे मई 1951 में केंद्रीय विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय महत्व के संस्थान का दर्जा मिला था.


विडियो – AMU के कार्यक्रम में PM मोदी ने जो कहा, उससे CAA से आशंकित देश के मुसलमानों में भरोसा लौटेगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

हाथरस के मंदिर में रात को 3 लोग आए, 5 बार हाथ जोड़े और वॉशिंग मशीन, दानपेटी उठा ले गए

पुलिस का दावा है कि मामला चोरी का नहीं है

UP की फैक्ट्री में बड़ा हादसा, दो लोगों की मौत हो गई और 15 लोग घायल हैं

अमोनिया गैस लीक होने के चलते हुए हादसा.

कभी कृषि कानूनों की पक्षधर रहीं पार्टियों ने अब यूटर्न क्यों ले लिया है?

जानिए पहले क्या था इन राजनीतिक दलों का स्टैंड

क्या बढ़िया फ्रिज न होने के कारण इंडिया में कोरोना वैक्सीन लगने में और लेट हो सकती है?

कोल्ड चेन का पूरा तिया पांचा यहां समझिए.

साल 2015 के बाद गुजरात, केरल, बंगाल, महाराष्ट्र और बिहार के बच्चों में बढ़ा कुपोषण

सर्वे का दावा, बच्चों की लम्बाई और वज़न ख़तरनाक तरीक़े से घट रहे

क्या कोरोना की नई वैक्सीन लगवाने के बाद लोगों को लकवा मार जा रहा है?

वैक्सीन लगवाने पर कुछ लोगों में एलर्जी की समस्या भी सामने आई है.

किसान आंदोलन के समर्थन में वैज्ञानिक ने केंद्रीय मंत्री के हाथ से अवॉर्ड लेने से मना कर दिया

पत्र में कहा, 'ये मेरी अंतरात्मा के खिलाफ़ है'

350 करोड़ का स्कैम उजागर करने वाले RTI एक्टिविस्ट की मौत पर पुलिस और फ़ैमिली अलग कहानी क्यों बता रहे?

पुलिस ने कहा कि दुर्घटना में मौत हुई, परिवार हत्या का आरोप लगा रहा

एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज ने कहा, 'ऐसा ही चलता रहा तो कोई भी शिकार बन सकता है'

हैदराबाद के ICFAI लॉ स्कूल में रूल ऑफ लॉ पर लेक्चर दे रहे थे जस्टिस चेलमेश्वर.

कोरोना का ट्रायल वैक्सीन लेने वाले हरियाणा के मंत्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए

कोरोना की वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के दौरान टीका लगाया गया था.