Submit your post

Follow Us

कोरोना के डर के बीच कैसे हो रही है JEE की परीक्षा, तस्वीरों में देखिए

JEE (जॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन) मेन्स परीक्षा को लेकर जमकर बवाल हुआ, फिर भी इसकी तारीख आगे नहीं बढ़ाई गई. अब 1 सितंबर से एक्जाम्स शुरू हो गए हैं. स्टूडेंट्स एग्ज़ाम देने पहुंचे लगे हैं, कई तस्वीरें भी सामने आई हैं. कोरोना के डर को देखते हुए स्टूडेंट्स को कई सावधानियां बरतनी पड़ रही हैं. एंट्री से पहले उनका तापमान चेक किया जा रहा है, उन्हें सैनिटाइज़ किया जा रहा है. कई स्टूडेंट्स अपने साथ खुद का सैनिटाइज़र भी लेकर पहुंचे हैं.

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, दिल्ली के विवेक विहार के अर्वाचीन भारती भवन सीनियर सेकंडरी स्कूल JEE मेन का एग्ज़ाम सेंटर है. यहां एग्ज़ाम देने पहुंचे एक स्टूडेंट ने कहा,

“मेरे पास खुद का सैनिटाइज़र है और मैंने फुल बॉडी चेक-अप भी करवाया है.”

गोरखपुर के एग्ज़ाम सेंटर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को लेकर लगातार अनाउंसमेंट किया जा रहा है.

कोलकाता के सेंटर में भी बच्चों का तापमान चेक किया जा रहा है, और आस-पास के इलाके को भी सैनिटाइज़ किया जा रहा है.

अहमदाबाद के एग्ज़ाम सेंटर से भी कोविड-19 की सभी ज़रूरी सावधानियों का पालन करने की खबर आई है. तस्वीरें भी.

हालांकि पटना के एग्ज़ाम सेंटर में पहुंचे स्टूडेंट्स को सेंटर तक पहुंचने में दिक्कत हो रही है. एक स्टूडेंट ने कहा,

“यहां तक पहुंचने के लिए कोई ऑटो या बस की सुविधा नहीं थी.”

गोवा के पणजी के एग्ज़ाम सेंटर का वीडियो देखिए-

चेन्नई के एक स्टूडेंट के पिता का कहना है,

“परीक्षा की तारीख आगे बढ़ाने की वजह से मेरा बेटा तनाव में था. अच्छी बात है कि परीक्षा हो रही है, नहीं तो हमारे बच्चों का एक साल बर्बाद हो जाता. उसने कर्नाटक वाला टेस्ट ग्लव्स के साथ दिया था, तो उसे पता है कि कैसे मैनेज करना है.”

एक और बच्चे के पैरेंट्स ने कहा,

“हम एक साल बर्बाद नहीं कर सकते. बच्चे इतने समझदार तो हैं कि SOP को समझ सकें और उसका पालन करें. मैं उसे आज ग्लव्स देना भूल गया, लेकिन मुझे पता है कि अंदर उसे वो मिल जाएंगे.”

इसके साथ ही कई राज्यों ने जेईई परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए सड़क और रेल यातायात में छूट दी है. मुंबई में स्टूडेंट्स के लिए लोकल ट्रेन चलाए जा रहे हैं.


वीडियो देखें: NEET, JEE को आगे बढ़ाने की मांग कर रहे स्टूडेंट्स ने ये कारण बताएं हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अवमानना वाले मामले में सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण को क्या सज़ा दी है?

प्रशांत भूषण के दो ट्वीट का मुद्दा था.

अनलॉक-4 की गाइडलाइंस जारी, मेट्रो चलेगी, जानिए स्कूल खोलने को लेकर क्या कहा गया है

धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों को लेकर क्या छूट मिली है?

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त