Submit your post

Follow Us

क्यों इस 'जादुई' महुए के पेड़ से लोग लिपटे जा रहे हैं?

5
शेयर्स

मध्य प्रदेश का होशंगाबाद ज़िला. यहां सतपुड़ा टाइगर रिजर्व यानी सतपुड़ा नेशनल पार्क है. पिछले कुछ दिनों से यहां आने वाले लोगों की संख्या काफी ज्यादा बढ़ गई है. लोग दिन में तो क्या रात में भी आ रहे हैं. नहीं-नहीं, यहां पर किसी को जंगली जानवरों के दर्शन नहीं करने हैं. बल्कि महुए के एक पेड़ को देखना है. उससे लिपटना है. उसकी पूजा करनी है. बस इसी वजह से ढेर-ढेर सारे लोग सतपुड़ा टाइगर रिजर्व पहुंच रहे हैं. लोगों के मुताबिक महुए का वो पेड़ जादुई है.

अब भई अचानक से एक पेड़ जादुई कैसे हो गया?

सारा किया धरा सोशल मीडिया का है, वॉट्सऐप का है. दरअसल, होशंगाबाद के आस-पास के शहरों और गांवों में रहने वाले लोगों के बीच एक अफवाह उड़ी है. वॉट्सऐप मैसेज के जरिए. ये कि सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में लगा महुआ का पेड़ जादुई है. उसे छूने भर से आपका हर रोग ठीक हो जाएगा. आप पुरी तरह से स्वस्थ हो जाओगे.

बस फिर क्या, लोग पहुंचने लगे उस पेड़ के दर्शन करने के लिए. धीरे-धीरे संख्या बढ़ते चली गई. अब एक दिन में करीब 20 से 30 हज़ार लोग वहां पहुंच रहे हैं. लोग अगरबत्ती, नारियल, फूल-पत्ती यानी पूजा का सारा सामान लेकर जा रहे हैं. लंबी-लंबी लाइन लग रही है. जिसका नंबर आता है, वो पेड़ की पूजा करता है. उसको गले से लगाता है. हर किसी की बस एक ही कोशिश है कि किसी तरह पेड़ से लिपट जाए. इसके अलावा अब तो उस पेड़ की तस्वीरें भी बिकने लगी हैं.

लोगों का दावा है कि पेड़ के दर्शन करके, उससे लिपटकर उनकी बीमारी दूर हो रही है. एक बुजुर्ग व्यक्ति का कहना है कि उनके घुटने में दर्द रहता था. पेड़ के दर्शन करने के बाद दर्द ठीक हो गया. वहीं कुछ लोगों का कहना है कि उन्हें कोई भी फर्क महसूस नहीं हुआ है.

Police At Satpura Tiger Reserve
पेड़ के पास तैनात पुलिस.

अब एक और बात. सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के जिस इलाके में महुआ का ये पेड़ है. वो प्रतिबंधित इलाके में है. लेकिन लोग चाहते हैं कि उसे दर्शन के लिए खोल दिया जाए. प्रतिबंधित इलाके में लोगों के जाने से जंगल का कानून टूट रहा है. वन विभाग के अधिकारियों और पुलिस ने लोगों को रोकने की लाख कोशिश कर डाली, लेकिन कुछ नहीं हुआ.

पुलिस और अधिकारियों का कहना है कि अफवाह उड़ाई गई है. जबकि ऐसा कुछ नहीं है. पुलिस ने अफवाह फैलाने वाले एक आदमी की पहचान की है. उसका दावा है कि उसकी बीमारी ठीक हो गई है. पुलिस का कहना है कि सबसे पहले उस आदमी का मेडिकल टेस्ट कराया जाएगा. साथ ही लोगों की सुरक्षा के लिए पेड़ के पास पुलिस लगातार तैनाती कर रही है. रात में भी पुलिसकर्मी तैनात रहते हैं. अधिकारियों का कहना है कि वो कई बार समझा चुके हैं कि जादुई पेड़ जैसा कुछ नहीं है. सब अफवाह है. लेकिन कोई इसे मानने को तैयार ही नहीं है.

आपको बता दें कि इस तरह की अफवाहें पहले भी उड़ चुकी हैं. और लोग पहले भी विश्वास कर चुके हैं. मूर्ति को दूध पिलाने की अफवाह कुछ-कुछ साल के अंतर में उड़ती रहती हैं. 20 साल पहले भी ये अफवाह उड़ी थी कि भगवान गणेश की मूर्ति दूध पी रही है. तब भी लाखों लोग मंदिर पहुंच गए थे. साल 2018 में ये कहा जा रहा था कि भगवान कृष्ण की मूर्ति दूध पी रही है. तब भी मंदिरों में लोगों का जमावड़ा लग गया था. इस साल जुलाई में भी ये अफवाह उड़ी थी की पीलीभीत के बिलसंडा में शिव की मूर्ति दूध पी रही है. तब भी मंदिरों में कई-कई सारे लोग पहुंच गए थे.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.

US ने जारी किया विडियो, देखिए कैसे लादेन स्टाइल में किया गया बगदादी वाला ऑपरेशन

अमेरिका ने इस ऑपरेशन से जुड़े तीन विडियो जारी किए हैं.

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

अमेठी: पुलिस हिरासत में आरोपी की मौत, 15 पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज

मौत कैसे हुई? मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

PMC खाताधारकों ने बीजेपी नेता को घेरा, तो पुलिस ने उन्हें बचाकर निकाला

RBI के साथ मीटिंग करने पहुंचे थे.

इस विदेशी सांसद को कश्मीर आने का न्योता दिया फिर कैंसल कर दिया, वजह हैरान करने वाली है

सांसद ने ऐसी शर्त रख दी थी कि विदेशी डेलिगेशन का हिस्सा नहीं बन पाए.