Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

ये राजपूत पद्मावत के लिए अपनी औरतें जलाने को तैयार हैं

1.76 K
शेयर्स

पिछले कुछ महीनों से पद्मावती (सॉरी, अब नाम पद्मावत हो गया है) का नाम इतनी बार सुन लिया कि अब कोई फर्क ही नहीं पड़ रहा है. हर रोज कुछ ना कुछ. कभी इसके विरोधी लट्ठ लेकर सड़क पर उतर आ रहे हैं, तो कभी इसके समर्थन में बॉलीवुड उमड़ पड़ता है. कभी नाक काटने की धमकी, कभी गला काटने की और कभी थियेटरों को आग लगाने की धमकी. हर रोज आदमी कितना सुनता और सहता. फिर ये आइडिया भी इतना घिस-पिट चुका है कि काम ही नहीं करता. इस विरोध ने बस इतना ही किया कि फिल्म के ओरिजिनल नाम पद्मावती को बदलकर पद्मावत कर दिया गया. सेंसर बोर्ड ने भी पास कर दिया और कहा कि 26 जनवरी को फिल्म रिलीज कर ली जाए.

अब जब सेंसर ने भी पास कर दिया, तो रोकने की हिम्मत किसी में नहीं थी. फिल्म से जुड़े लोग तैयारी में लग गए कि चलो अब तो रिलीज हो ही जाएगी. लेकिन नहीं, अभी तो विरोध सरकार को भी करना बाकी ही था. तो राजस्थान सरकार ने तय किया कि वहां पर फिल्म नहीं रिलीज होने दी जाएगी. इसका मतलब ये था कि देश के बाकी जगह पर फिल्म दिखाई जाएगी.

पद्मावत फिल्म को सेंसर बोर्ड ने पास कर दिया है.

अभी फिल्म को रिलीज होने में दो हफ्ते का वक्त बचा ही था कि एक बार फिर राजस्थान से ही विरोध शुरू हो गया. और इस बार तो हद ही हो गई. करणी सेना के विरोध और राजस्थान सरकार के फिल्म न दिखाए जाने के फैसले के बाद भी जब फिल्म की रिलीज पर कोई असर नहीं पड़ा, तो राजपूत समाज के कुछ लोगों ने अपनी महिलाओं को आगे कर दिया. इस बार राजपूत समाज के लोगों ने और किसी को मारने-काटने की धमकी नहीं दी है, बल्कि उन्होंने कहा है कि उनकी महिलाएं अब जौहर करेंगी. वही जौहर जिसके बारे में कहा जाता है कि इसी वजह से रानी पद्मिमी पद्मावती हो गईं और देवी की तरह उन्हें पूजा जाने लगा.

करणी सेना के प्रवक्ता वीरेंद्र सिंह (बाएं) और संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी ने कहा है कि उनकी महिलाएं अब जौहर करेंगी.

इसके लिए राजस्थान के चित्तौड़गढ़ के क्षत्रिय समाज ने 1 जनवरी को एक बैठक बुलाई और तय किया कि फिल्म के रिलीज का विरोध किया जाएगा. इस बैठक में करीब 500 लोग शामिल थे, जिनमें 100 महिलाएं भी शामिल थीं. बैठक करने वाले लोगों में शहर के ”बड़े लोग” शामिल थे. इस दौरान तय किया गया कि 17 जनवरी को चित्तौड़गढ़ के नेशनल हाईवे और रेलवे ट्रैक को रोक दिया जाएगा. राजपूत करणी सेना के प्रवक्ता वीरेंद्र सिंह ने कहा-

रेलवे ट्रैक और रोड जाम करने के बाद भी अगर फिल्म की रिलीज नहीं रोकी जाती है तो अंजाम बुरा होगा. 24 जनवरी को क्षत्रिय समाज की महिलाएं जौहर कर लेंगी. रानी पद्मावती ने भी 24 जनवरी को ही जौहर किया था.

करणी सेना ने चित्तौड़गढ़ में बैठक की थी, जिसमें तय हुआ कि महिलाएं जौहर करेंगी.

करणी सेना ने तो कह दिया कि उनकी महिलाएं जौहर करेंगी, लेकिन अगर फिल्म रोकनी ही है तो फिर राजपूतों की महिलाएं ही क्यों. उनके पुरुषों ने अब तक क्या किया सिवाय धमकी देने के. कुछ करना है तो विरोध करने वाले खुद ही कुछ क्यों नहीं कर रहे हैं. क्यों वो कह रहे हैं कि उनकी महिलाएं जौहर करेंगी, वो खुद भी तो कुछ कर सकते थे. लेकिन नहीं. बलि का बकरा तो महिलाओं को ही बनना है. ये हमेशा से होते आया है. इस बार भी कुछ ठेकेदार चाहते हैं कि महिलाएं ही बली का बकरा बनें और वो भी एक फिल्म के लिए. उस फिल्म के लिए जिसका इतिहास से कोई सरोकार ही नहीं है. वो फिल्म जिसे सारे इतिहासकार एक मिथक करार दे चुके हैं.

padmawati 1

अगर ये मिथक नहीं हकीकत है और रानी पद्मिनी ने जौहर किया था तो इसके पीछे की भी कहानी थी. सारे राजपूत सिपाहियों ने जंग लड़ी थी. उस जंग में वो शहीद हुए थे. उनकी शहादत के बाद रानी पद्मिनी को जौहर करना पड़ा था. यहां तो स्थिति ही उलट है. पुरुष समाज सिर्फ धमकी दे रहा है और कुछ करने की बात आई है तो एक बार फिर महिलाओं को आगे कर रहा है. ऐसा तो राजपूताने के इतिहास में कभी नहीं हुआ है.

पीएम मोदी से भी मुलाकात करेगा क्षत्रिय समाज

rajnath
क्षत्रिय समाज गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात करने जा रहा है. 16 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बाड़मेर में दौरा प्रस्तावित है. वहां पीएम एक रिफाइनरी का लोकार्पण करने जा रहे हैं. क्षत्रिय समाज के प्रतिनिधि उसी दिन बाड़मेर में पीएम मोदी से मिलेगें और फिल्म की रिलीज को रोकने के लिए कहेंगे. अगर इतना सब करने के बाद भी फिल्म रिलीज होती है, तो क्षत्रिय महिलाएं उसी जगह पर जौहर कर लेंगी, जहां रानी पद्मिनी ने जौहर किया था.


क्यों ‘पद्मावती/पद्मावत’ सब बैन के बावजूद बहुत ज्यादा देखी जाएगी?

‘पद्मावती’ से पहले इन तीन फिल्मों के नाम भी सेंसर बोर्ड ने ज़बरदस्ती बदलवाए हैं

‘बाहुबली-2’ के डायरेक्टर ने ‘पद्मावती’ विवाद पर सबसे पावरफुल बात बोली है

‘पद्मावती’ तो लटक गई पर रणवीर सिंह की ये फिल्म पूरा मजा देगी

Padmavati के जौहर और विलेन खिलजी की कहानी सुनी होगी, अब ये सुनिए-देखिए

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Padmavat Issue : Karni sena has now announced that if film releases their women will be performed Jauhar on 24 January on the same place where queen Padmini performed Jauhar before

टॉप खबर

रफाएल डील पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

फैसले से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है.

क्या कोर्ट में मामला होने पर सरकार कानून से बनाएगी राम मंदिर?

कल से शुरू होने वाले शीतकालीन सत्र में मोदी सरकार क्या करने वाली है?

इस तरह जेल में भी घर का खाना खाएंगे विजय माल्या

इन 12 बातों में जानें भारत में माल्या को क्या ट्रीटमेंट मिलेगा. लंदन की कोर्ट के सामने भारतीय एजेंसियों ने वादा किया है.

बुलंदशहर: एडीजी इंटेलिजेंस की रिपोर्ट में पुलिस की लापरवाही सामने आई

गुरुवार को ये रिपोर्ट सौंप दी गई.

बुलंदशहर: खेत में जिस गाय के अवशेष मिले, वो कब काटी गई?

योगेश राज ने FIR में लिखवाया कि उसने कटते देखा, लेकिन ये सच नहीं माना जा रहा है...

बार-बार बयान बदल रहा है बुलंदशहर का मुख्य आरोपी योगेश राज

योगेश राज सच बोल रहा है या उसके घरवाले?

फ़ेक न्यूज़ फैक्ट्री सुरेश चव्हाणके के खिलाफ एक्शन लेने में क्यों कांपता है सिस्टम?

बुलंदशहर मामले में झूठी खबर फैलाने वाले सुरेश चव्हाणके का फ़ेक न्यूज से पुराना रिश्ता है.

हत्यारी भीड़ के हाथों मारे गए SHO सुबोध के बेटे की बात सुनने के लिए हिम्मत चाहिए

हर मां बाप की तरह सुबोध कुमार सिंह का भी सपना था.

बुलंदशहर में SHO सुबोध कुमार सिंह के मारे जाने की पूरी कहानी

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में भीड़ ने कैसे एक दरोगा को मार डाला...

750 किलो प्याज की कमाई किसान ने पीएम को भेजी, ये गर्व की नहीं शर्म की बात है

यही किसान 2010 में ओबामा के सामने खेती की मिसाल देने के लिए पेश किया गया था.