Submit your post

Follow Us

प्याज फिर महंगा, मंत्री ने लोगों से पूछा -बताएं कैसे कम होगी कीमत?

5
शेयर्स

एक बार फिर प्याज की कीमत बढ़ने लगी है. दिल्ली के मार्केट में प्याज 80-100 रुपए किलो बिक रहा है. प्याज की बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने के लिए केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने 6 नवंबर यानी बुधवार को सचिवों के साथ बैठक की. इस बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट कर कीमतों को कैसे कम किया जाए, इस पर लोगों के सुझाव मांगे.

केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट किया,

प्याज की बढ़ी कीमतों के कारण और इसे जल्द नियंत्रित करने के उपायों की समीक्षा के लिए आज सचिव, उपभोक्ता मामले और सचिव, खाद्य और सार्वजनिक वितरण के साथ बैठक की. बताया गया कि खरीफ की बुवाई में देरी के कारण प्याज की नई फसल बाजार में देर से पहुंच रही है. प्याज उत्पादक राज्यों, खासकर महाराष्ट्र और कर्नाटक में अधिक बारिश के कारण फसल को काफी नुकसान पहुंचा है. प्याज की ढुलाई में भी परेशानी आ रही है. सरकार अपने बफर स्टॉक से लगातार प्याज की आपूर्ति कर रही है. बाजार में प्याज की आपूर्ति बढ़ाने के लिए इजिप्ट, टर्की, ईरान और अफगानिस्तान से प्याज आयात करने की प्रक्रिया जारी है. विदेश और कृषि मंत्रालय से अनुरोध किया गया है कि इन देशों से बात कर निजी कंपनियों को प्याज के आयात की सुविधा उपलब्ध कराएं. प्याज की जमाखोरी पर कड़ी नजर रखी जा रही है. बहुत जल्द बाजार में नए और आयातित प्याज की आपूर्ति बड़ी तादाद में शुरू हो जाएगी, जिससे कीमतें तेजी से नीचे आएंगी. मीडिया और आमलोग भी, कीमतों को कैसे कम किया जाए, इसपर अपने सुझाव सोशल मीडिया या Consumer App के जरिए हमें दे सकते हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले एक हफ्ते में प्याज की कीमत में 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. दिल्ली में 31 अक्टूबर को प्याज की कीमत 55 रुपए प्रति किलो थी. 6 नवंबर को यह 80 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गई. अन्य शहरों में यह 50-80 रुपये प्रति किलो है. हालांकि अगस्त और सितंबर में भी प्याज के दाम 80 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गए थे. नवंबर में एक बार फिर कीमत बढ़ रही है.

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का कहना है कि हमने सभी राज्यों को प्याज की जरूरत के हिसाब से बफर स्टॉक से उन्हें प्याज दिया, लेकिन अब हमारे बफर स्टॉक में लगभग 1557  मीट्रिक टन प्याज है. दिल्ली ने अभी लिखा है कि केंद्र सरकार की तरफ से जो प्याज दिया जा रहा हैं उसमें कुछ सड़ गया है. बहुत लंबे समय प्याज को स्टॉक में रखने से उसमें खराबी आने लगती है. हमने प्याज़ को लेकर स्टॉक लिमिट लगा दी है. जो लिमिट से ज्यादा स्टॉक रखेगा उसके ख़िलाफ कार्रवाई की जाएगी.’ सरकार ने प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी थी. अब प्याज से बनने वाले प्रोडक्ट के निर्यात रोक लगा दी है.

दरअसल अक्टूबर और नवंबर में भारी बारिश की वजह से नासिक, अहमदनगर और पुणे में प्याज की फसल को नुकसान हुआ है. नया प्याज बारिश की वजह से खराब हो गया है. लिहाजा प्याज उत्पादक किसानों का कहना है कि प्याज के पुराने स्टॉक की कीमत अधिक होगी. वैसे भी पिछले साल प्याज का उत्पादन कम हुआ था. होलसेल मार्केट में पिछले 3 महीनों के दौरान प्याज की कीमतों में 4 गुना बढ़ोतरी दर्ज की गई है.


क्या आप जानते हैं हवा की गंदगी साफ करने वाले एयर प्यूरिफायर्स कैसे काम करते हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.

US ने जारी किया विडियो, देखिए कैसे लादेन स्टाइल में किया गया बगदादी वाला ऑपरेशन

अमेरिका ने इस ऑपरेशन से जुड़े तीन विडियो जारी किए हैं.

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

अमेठी: पुलिस हिरासत में आरोपी की मौत, 15 पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज

मौत कैसे हुई? मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

PMC खाताधारकों ने बीजेपी नेता को घेरा, तो पुलिस ने उन्हें बचाकर निकाला

RBI के साथ मीटिंग करने पहुंचे थे.

इस विदेशी सांसद को कश्मीर आने का न्योता दिया फिर कैंसल कर दिया, वजह हैरान करने वाली है

सांसद ने ऐसी शर्त रख दी थी कि विदेशी डेलिगेशन का हिस्सा नहीं बन पाए.