Submit your post

Follow Us

प्याज फिर महंगा, मंत्री ने लोगों से पूछा -बताएं कैसे कम होगी कीमत?

एक बार फिर प्याज की कीमत बढ़ने लगी है. दिल्ली के मार्केट में प्याज 80-100 रुपए किलो बिक रहा है. प्याज की बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने के लिए केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने 6 नवंबर यानी बुधवार को सचिवों के साथ बैठक की. इस बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट कर कीमतों को कैसे कम किया जाए, इस पर लोगों के सुझाव मांगे.

केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट किया,

प्याज की बढ़ी कीमतों के कारण और इसे जल्द नियंत्रित करने के उपायों की समीक्षा के लिए आज सचिव, उपभोक्ता मामले और सचिव, खाद्य और सार्वजनिक वितरण के साथ बैठक की. बताया गया कि खरीफ की बुवाई में देरी के कारण प्याज की नई फसल बाजार में देर से पहुंच रही है. प्याज उत्पादक राज्यों, खासकर महाराष्ट्र और कर्नाटक में अधिक बारिश के कारण फसल को काफी नुकसान पहुंचा है. प्याज की ढुलाई में भी परेशानी आ रही है. सरकार अपने बफर स्टॉक से लगातार प्याज की आपूर्ति कर रही है. बाजार में प्याज की आपूर्ति बढ़ाने के लिए इजिप्ट, टर्की, ईरान और अफगानिस्तान से प्याज आयात करने की प्रक्रिया जारी है. विदेश और कृषि मंत्रालय से अनुरोध किया गया है कि इन देशों से बात कर निजी कंपनियों को प्याज के आयात की सुविधा उपलब्ध कराएं. प्याज की जमाखोरी पर कड़ी नजर रखी जा रही है. बहुत जल्द बाजार में नए और आयातित प्याज की आपूर्ति बड़ी तादाद में शुरू हो जाएगी, जिससे कीमतें तेजी से नीचे आएंगी. मीडिया और आमलोग भी, कीमतों को कैसे कम किया जाए, इसपर अपने सुझाव सोशल मीडिया या Consumer App के जरिए हमें दे सकते हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले एक हफ्ते में प्याज की कीमत में 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. दिल्ली में 31 अक्टूबर को प्याज की कीमत 55 रुपए प्रति किलो थी. 6 नवंबर को यह 80 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गई. अन्य शहरों में यह 50-80 रुपये प्रति किलो है. हालांकि अगस्त और सितंबर में भी प्याज के दाम 80 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गए थे. नवंबर में एक बार फिर कीमत बढ़ रही है.

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का कहना है कि हमने सभी राज्यों को प्याज की जरूरत के हिसाब से बफर स्टॉक से उन्हें प्याज दिया, लेकिन अब हमारे बफर स्टॉक में लगभग 1557  मीट्रिक टन प्याज है. दिल्ली ने अभी लिखा है कि केंद्र सरकार की तरफ से जो प्याज दिया जा रहा हैं उसमें कुछ सड़ गया है. बहुत लंबे समय प्याज को स्टॉक में रखने से उसमें खराबी आने लगती है. हमने प्याज़ को लेकर स्टॉक लिमिट लगा दी है. जो लिमिट से ज्यादा स्टॉक रखेगा उसके ख़िलाफ कार्रवाई की जाएगी.’ सरकार ने प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी थी. अब प्याज से बनने वाले प्रोडक्ट के निर्यात रोक लगा दी है.

दरअसल अक्टूबर और नवंबर में भारी बारिश की वजह से नासिक, अहमदनगर और पुणे में प्याज की फसल को नुकसान हुआ है. नया प्याज बारिश की वजह से खराब हो गया है. लिहाजा प्याज उत्पादक किसानों का कहना है कि प्याज के पुराने स्टॉक की कीमत अधिक होगी. वैसे भी पिछले साल प्याज का उत्पादन कम हुआ था. होलसेल मार्केट में पिछले 3 महीनों के दौरान प्याज की कीमतों में 4 गुना बढ़ोतरी दर्ज की गई है.


क्या आप जानते हैं हवा की गंदगी साफ करने वाले एयर प्यूरिफायर्स कैसे काम करते हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.