Submit your post

Follow Us

लॉकडाउन के दौर में OCI कार्ड वाले भारतीय मूल के लोगों के लिए अच्छी खबर आई है!

विदेश में रहने वाले भारतीय मूल के लोगों के लिए गृह मंत्रालय ने भारत वापसी की यात्रा के नियमों में ढील दी है. जो लोग ओवरसीज़ सिटिज़ंस ऑफ इंडिया (OCI) कार्डहोल्डर हैं, उनमें कुछ कैटेगरी के लोग वापस आ सकेंगे. कोरोना वायरस के चलते भारतीय मूल के लोगों के OCI कार्ड सस्पेंड कर दिए गए थे.

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की ख़बर के मुताबिक, गृह मंत्रालय ने कार्डहोल्डर्स की कैटेगरी बताई है, जिन्हें यात्रा की इजाज़त दी गई है. इनमें:

1. विदेश में पैदा होने वाले भारतीय मूल के बच्चे, जिनके पास OCI कार्ड हो.

2. पारिवारिक आपात स्थिति हो, जैसे कि घर में किसी की मृत्यु.

3. जिस कपल में किसी एक के पास भी OCI कार्ड हो और दूसरा भारतीय नागरिक हो और भारत का स्थायी निवासी हो.

4. यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले स्टूडेंट (नाबालिग होना ज़रूरी नहीं), जिनके पास OCI कार्ड है, लेकिन जिनके माता-पिता भारतीय नागरिक हों और भारत में ही रह रहे हों.

नोटिफिकेशन में कहा गया है कि इन पर लगे यात्रा प्रतिबंधों पर पुनिर्विचार किया गया है.

OCI कार्ड क्या होता है

भारत में दोहरी नागरिकता का प्रावधान नहीं है. ओवरसीज़ सिटिजनशिप ऑफ इंडिया (OCI) का प्रावधान नागरिकता संशोधन कानून, 2005 के तहत जोड़ा गया था. इसमें OCI कार्ड उसे दिया जाता है, जो पहले भारत का नागरिक रहा हो या उसके माता-पिता भारतीय नागरिक रहे हों और अब उसके पास विदेश की नागरिकता है.

कार्डहोल्डर को भारत की नागरिकता नहीं मिलती, लेकिन वो आजीवन यहां आकर काम कर सकते हैं. आर्थिक लेन-देन कर सकते हैं. जिसके पास ये कार्ड होता है, उसे वीज़ा की ज़रूरत नहीं पड़ती और वो कभी भी भारत आ सकता है. उसके पास भारतीय नागरिकों जैसी सुविधाएं होती हैं, लेकिन कई अधिकार नहीं होते. जैसे- वो चुनाव नहीं लड़ सकते. वोट नहीं डाल सकते. सरकारी नौकरी या संवैधानिक पद पर नहीं हो सकते. खेती वाली ज़मीन नहीं खरीद सकते.

पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश, नेपाल, अफगानिस्तान और ईरान वैसे कुछ देश हैं, जहां के भारतीय मूल के लोगों को ये सुविधा नहीं है.


पड़ताल: ICMR की गाइडलाइन्स में दो साल के लिए विदेश न जाने जैसी बातें लिखी हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

केंद्र से अक्सर लड़ने वाली ममता बनर्जी की पीएम मोदी ने किस बात पर तारीफ की?

पश्चिम बंगाल दौरे पर पीएम मोदी ने 'अमपन' को लेकर एक हज़ार करोड़ रुपए की मदद का ऐलान किया.

रिज़र्व बैंक ने एक बार फिर रेपो रेट घटाया, EMI से तीन महीने और छुटकारा

मार्च और अप्रैल महीने में रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट घटाया था.

प्लेन और ट्रेन से जाने के लिए टिकट और किराए के नियम सरकार ने बताए हैं

जानिए, रेलवे के ऑफलाइन टिकट कहां से मिल सकते हैं.

क्या गुजरात में खराब वेंटीलेटर की वजह से 300 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गई?

कांग्रेस ने विजय रूपाणी सरकार पर वेंटीलेटर घोटाले का आरोप लगाया है.

अब इस तारीख से देश के अंदर फ्लाइट्स से यात्रा कर सकेंगे

इससे पहले 200 नॉन एसी ट्रेन चलने की सूचना दी गई थी.

'अम्फान' आ चुका है, पश्चिम बंगाल में दो की मौत, कई घरों को नुकसान

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में अपना असर दिखा रहा है.

प्रियंका गांधी ने जो गाड़ियां यूपी भेजी हैं, उनमें कितनी बसें हैं, कितने ऑटो?

छह सूचियों में कुल 1049 गाड़ियों की डिटेल्स भेजी गई है.

देशभर में 200 और ट्रेनें चलने की तारीख़ आ गई है

इस बार ख़ुद रेल मंत्री ने बताया है.

लॉकडाउन 4: दफ़्तरों के लिए क्या गाइडलाइंस हैं?

इस लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी गई हैं.

प्रियंका गांधी वाड्रा की 1000 बसों में कुछ नंबर ऑटो और कार के कैसे निकल गए?

हालांकि संबित पात्रा ने भी जिस बस को स्कूटर बताया, वहां एक पेच है.