Submit your post

Follow Us

इस होटल ने कमरा लेने गई लड़की के साथ जो किया, शर्मनाक है

अकेले जाकर क्या करोगी? अच्छा किसी दोस्त को साथ ले लो… कहां रुकोगी, कैसे मैनेज करोगी?

किसी लड़की का अकेले घूमना, जीएसटी से भी बड़ी गुत्थी है यहां. और अगर लड़की ने झोला उठा भी लिया तो यहां की ‘पॉलिसी’ उन्हें कहीं झोला रखने नहीं देंगी. कुछ ऐसा ही हुआ जब एक इंजीनियर नुपुर सारस्वत हैदराबाद घूमने आईं. Goibibo से ऑनलाइन बुकिंग कन्फर्म होने के बाद भी होटल ने नुपुर को रूम देने से इनकार कर दिया.

इसके बाद 23 साल की नुपुर ने फेसबुक-टि्वटर पर पूरी बात लिखी. और उनकी पोस्ट को खूब शेयर किया गया. उन्होंने लिखा,

‘मैं हैदराबाद के एक होटल के बाहर खड़ी हूं. ऑनलाइन बुकिंग कन्फर्म होने के बाद भी मुझे रूम नहीं दिया जा रहा. क्योंकि मैं अकेली लड़की हूं. मेरे हाथ में भारी-भरकम बैग है और सफर से थक चुकी हूं. इन लोगों को लगता है कि मैं होटल से ज्यादा सड़कों पर सुरक्षित रहूंंगी.’

‘ये भेदभाव का मेरा पहला अनुभव है. ये आपके साथ भी हो सकता है, किसी और शहर, किसी और होटल में. हो सकता है आप 11 बजे होटल पहुंचो और आपको रूम देने से मना कर दिया जाए. इसलिए मैं ये पोस्ट लिख रही हूं. Goibibo को सुनाओ. उन्हें बताओ कि अब लड़कियां अकेले घूमती हैं, हम ‘अपनी सुरक्षा के लिए’ घर के अंदर नहीं रहेंगे. वो हमारा जेंडर क्यों पूछते हैं?’

नुपुर ने #HyderabadSaga हैशटैग से पोस्ट लिखे. पोस्ट वायरल होने के बाद होटल ने अपनी वाहियात पॉलिसी का हवाला दिया. इसके मुताबिक सिंगल वुमन और अनमैरिड कपल को कमरे नहीं मिलते. इतने रायतों के बाद होटल वालों की ‘गुड मॉर्निंग’ हुई.

होटल ने बयान दिया,

‘हम अकेली महिला के खिलाफ नहीं हैं. लेकिन ये जगह अकेली महिला के लिए सही नहीं है.’

इसके बाद Goibibo की पीआर टीम ने नुपुर से माफी मांगी. सारस्वत के पैसे वापस करने का वादा किया और दूसरे होटल में रूम भी दिलाया. टीम ने अपनी पॉलिसी की जांच करने की भी बात की.

nupur2
नुपुर ने अपने समर्थकों के लिए एक पोस्ट और लिखी.

‘मैं इस झंझट में इसलिए हूं क्योंकि मैं सेटल होने को तैयार नहीं हूं. मैं अपनी सुरक्षा के लिए डर-डर के जीने को तैयार नहीं हूं. मैं घूमने के लिए एक आदमी को ढूंढने को तैयार नहीं हूं. मैं चौकीदार बनने को तैयार नहीं हूं.’

हमारे यहां लड़कियों को पहले तो घूमने की जरूरत ही नहीं है. और अगर घूमना ही है तो साथ में एक ‘पहरेदार’ होना चाहिए. अगर आप किसी टूरिस्ट स्पॉट पर अकेली खड़ी मिल जाएं, तो गार्ड पूछता है, ‘आपके जेंट्स कहां हैं?’ ट्रेन में अपना सामान लादें, तो हर उम्र का पुरुष आपसे पूछता है, ‘हेल्प कर दूं.’ कितनी कमाल की बात है न?

और सबसे ज्यादा कमाल की बात तो ये है, कि होटल को खुद की सिक्योरिटी पर ही भरोसा नहीं है. कह रहे हैं लड़कियों के लिए जगह सेफ नहीं है. तो भैया आपने होटल खोला ही क्यों है? या खोलते ही ‘पुरुष ओनली’ का साइन क्यों नहीं लगा लिया, जो पेशाबघर के बाहर लगा रहता है?


ये भी पढ़ें:

पब में काम करने वाली औरतों ने सड़क पर छेड़ने वालों को चप्पलों से पीटा

लल्लनटॉप लेकर आ रहा है, भारत के राष्ट्रपति चुनाव पर एक ब्रांड न्यू सीरीज:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?