Submit your post

Follow Us

कौन है न्यूयॉर्क टाइम्स, इसका ऑफिस गुरुग्राम में है क्या?

एक न्यूजपेपर है न्यूयॉर्क टाइम्स. जिसने अपनी खबर में लता मंगेशकर को ‘सो काल्ड’ यानी तथाकथित सिंगर कहा है. ये बात जब चतुरी चचा को पता चली. तो लल्लन से पूछने लगे न्यूयॉर्क टाइम्स में केजरीवाल के ऑड-इवन का परचार छपता है? जब उनको बताए अरे बड़ा अखबार है चचा, विदेशी. तो कहने लगे, कुछ भी हो एक दिन बाद तो बच्चों के पछाड़े पोंछने के ही काम आता होगा? ठीक से ब्रेड पकौड़े का तेल सोख लेता है कि नहीं? पकौड़े पर करिया तो नहीं छोड़ता?

दरअसल मामला ये है कि न्यूयॉर्क टाइम्स ने तन्मय भट्ट के वीडियो के बाद से शुरू हुई कंट्रोवर्सी पर खबर की है. इसमें सचिन को भारत का मशहूर खिलाड़ी बताया गया है. पर लता मंगेशकर को तथाकथित गायिका बताया गया है. पहले भी न्यूयॉर्क टाइम्स ऐसी खबरें करता रहा है.

cartoon_1449731288
भारत के मार्स मिशन पर न्यूयॉर्क टाइम्स का कार्टून

इसके पहले इंडिया के मार्स मिशन का मजाक उड़ाते हुए न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक कार्टून छापा  था. जिसमें भारत को पगड़ी बांधे हुए एक किसान के रूप में दिखाया गया था. इस तरह से सबसे कम बजट के स्पेस मिशन का मजाक उड़ाया गया था. इलीट स्पेस क्लब के दरवाजे खटखटाते हुए दिखाया गया था. इनको बताए कोई, भारत ही पहला देश है जिसने पहली बारी में मार्स तक पहुंच कर दिखाया.

cartoonparisinside_1449731226
पेरिस समिट पर न्यूयॉर्क टाइम्स का कार्टून

ऐसेई पेरिस क्लाइमेट समिट के वक्त भी भारतीयों को नीचा दिखाने की कोशिश की थी इनने. भारत को पेरिस समिट की ट्रेन के ट्रैक पर बैठा हाथी बताया गया था.

तथाकथित न्यूयॉर्क टाइम्स तो खुद को फेमस अखबार मानता होगा. तो जिम्मेदारी निभाते हुए जरा फैक्ट चेक करना भी सीख ले-

विकिपीडिया की माने तो लता मंगेशकर ने 1000 से ज्यादा भाषाओं में गाने गए हैं. वो भी 37 भाषाओं मे. दूसरे आंकड़े कहते हैं, लता ने अब तक 50000 से ज्यादा गाने रिकॉर्ड किए हैं.

इससे पता चलता है कि क्यों न्यूयॉर्क टाइम्स को लगता है कि लता ‘सो कॉल्ड  सिंगर’ हैं. ये उनका फ्रस्ट्रेशन है. हीन भावना का नतीजा है. क्योंकि कोई भी अमेरिकी सिंगर इसके आस-पास नहीं भटकता.
अगर इसे आप ‘सो कॉल्ड’ कहते हैं श्रीमान. तो मुझे आपसे कहना है- जाओ पाहिले पत्रकारिता सीख के आओ बउवा.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

Exclusive: गलवान घाटी में 15 जून को तीन बार हुई लड़ाई में क्या-क्या हुआ था, विस्तार से जानिए

तीसरी लड़ाई के बाद भारत ने 16 चीनी सैनिकों के शव सौंपे थे.

राज्यसभा की 18 सीटों में से कांग्रेस और बीजेपी ने कितनी जीतीं?

एक और पार्टी है जिसने कांग्रेस जितनी सीटें जीती हैं.

दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ऑक्सीजन सपोर्ट पर, दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किए गए

कुछ दिन पहले कोरोना पॉज़िटिव आए थे, अब प्लाज़मा थेरेपी दी जाएगी.

चीनी सेना की यूनिट 61398, जिससे पूरी दुनिया के डेटाबाज़ डरते हैं

बड़ी चालाकी से काम करती है ये यूनिट.

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.