Submit your post

Follow Us

भारत पर नेपाल का आरोप- सेना के दम पर ज़मीन हड़पी, फर्ज़ी मंदिर बनाकर विवाद खड़ा किया

भारत और नेपाल के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है. कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा क्षेत्र को लेकर विवाद चल रहा है. नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली भारत पर तीखे कमेंट करते जा रहे हैं. एक बार फिर उन्होंने गंभीर आरोप लगाए हैं. ये कि भारत ने अपनी सेना के दम पर नेपाल की ज़मीन पर कब्ज़ा किया है. ये बात ओली ने 10 जून (बुधवार) को नेपाल की पार्लियामेंट में कही.

और क्या कहा?

‘आज तक’ से जुड़े सुजीत झा ने इस पर ज्यादा जानकारी दी. बताया कि पार्लियामेंट में सांसदों को संबोधित करते हुए केपी शर्मा ओली ने कहा,

‘हम अपनी ज़मीन लेकर रहेंगे. कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा अभी विवादित भूमि हैं, जिसका पूरा भूगोल ही भारत के कब्ज़े में है. भारतीय सेना ने कालापानी में रहकर लिपुलेख और लिंपियाधुरा पर कब्जा कर लिया है. सेना रखकर हमसे हमारी ज़मीन छीनी गई. जब वहां भारतीय सेना नहीं थी, वो ज़मीन हमारे पास थी. सेना के कारण हम उधर नहीं जा सकते, एक तरह से कहा जाए तो ये कब्ज़ा है.’

इसके आगे नेपाल के पीएम ने कहा कि वो अपने मित्रराष्ट्र भारत से बार-बार कह रहे हैं कि ज़मीन वापस कर दें. उनके मुताबिक, इस समस्या का हल तभी होगा, जब भारत ज़मीन देगा. वो कहते हैं,

‘प्रमाण के आधार पर, ऐतिहासिक तथ्यों के आधार पर हमारी जमीन वापस करनी होगी. हम कूटनीतिक संवाद के ज़रिए हल चाहते हैं, और ये तभी होगा, जब भारत ज़मीन वापस देगा. वो हमारी ज़मीन है, यही सत्य है और इसकी जीत होगी. हम वापस लेकर रहेंगे.’

फर्जी सीमा रेखा बनाने का आरोप

केपी शर्मा ओली बोलते गए. ये भी बोल दिया कि फर्ज़ी सीमा रेखा बनाई गई है. कहा,

‘सेना के दम पर कब्ज़ा किया, फर्ज़ी सीमा रेखा बना दी. एक नकली काली नदी बनाई, एक फर्ज़ी काली मंदिर बना दिया. इस तरह हड़पा गया और हमारे नक्शे से बाहर किया गया.’

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ पर भी कमेंट कर दिया

कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक इंटरव्यू दिया था, जिसमें कहा था कि नेपाल को बहकावे में नहीं चलना चाहिए, नहीं तो तिब्बत जैसा हाल हो जाएगा. सीएम योगी की इसी बात पर नेपाल के पीएम ने अब कहा है कि इस तरह की बातें जायज नहीं हैं. उन्होंने कहा,

‘अगर उन्होंने (योगी) नेपाल को धमकी दी है, तो वो उचित नहीं है. वो केन्द्र सरकार की निर्णायक भूमिका में नहीं हैं. एक प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं. सीएम के हिसाब से भी उनको ऐसी बातें नहीं करनी चाहिए थी. उन्होंने जो कहा, वो दुखद और निन्दनीय है. उनके बयान को नेपाल अपमान के तौर पर लेता है. मैं योगी जी को ये बताना चाहता हूं कि नेपाल किसी की धमकी से डरने वाला नहीं है.’

दरअसल, नेपाल ने हाल ही में नया नक्शा जारी किया था. इसमें कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा इलाके को अपनी सीमा के अंदर रखा था, जो कि भारत की सीमा के अंदर आते हैं. इसी के बाद विवाद बढ़ गया. अभी इस नक्शे को कानूनी मान्यता दिलवाने के लिए नेपाल की संसद के अंदर बहस चल रही है. नेपाल की संसद की ज्यादा जानकारी पाने के लिए यहां क्लिक करें.


वीडियो देखें: नेपाल की सरकार नए मैप पर बिल क्यों नहीं पास करा सकी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

WHO ने कोरोना पर राहत देने वाली बात की तो दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने कहा, “अरी मोरी मईया!”

पलटकर WHO से ही सबूत मांग रहे हैं लोग.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां को हुआ कोरोना इंफेक्शन, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

बीते कुछ दिनों से दोनों की तबीयत खराब थी.

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.