Submit your post

Follow Us

'मुक्काबाज़' एक्टर विनीत कुमार की नई फिल्म ने ये इंटरनेशनल अवॉर्ड जीता है

कोरोना लॉकडाउन के बीच कुछ अच्छी खबर आई है. एक इंडियन फिल्म ने एक इंटरनेशनल अवॉर्ड  जीता है. फिल्म का नाम है ‘ट्रिस्ट विद डैस्टिनी’. अवॉर्ड जीता है ट्राइबेका फिल्म फेस्टिवल में. ज्यूरी मेंबर्स ने घर बैठे हुए फिल्मों को ऑनलाइन देखा, और वोट किया. 29 अप्रैल को सभी अवॉर्ड विजेता अनाउंस किए गए. अंतरराष्ट्रीय फीचर फिल्म श्रेणी में ‘ट्रिस्ट विद डैस्टिनी’ की पटकथा को सर्वश्रेष्ठ घोषित किया गया. फिल्म को प्रोड्यूस करने वाली कंपनी ने ट्वीट करते हुए अपनी ख़ुशी ज़ाहिर की:

“हम जीत गए!! दिल से बनाई हुई हमारी फिल्म ‘ट्रिस्ट विद डैस्टिनी’ को प्रतिष्ठित ट्राइबेका फेस्टिवल में ‘बेस्ट स्क्रीनप्ले इन ऐन इंटरनेशनल नरेटिव फीचर फिल्म’ अवॉर्ड मिला है.”

किस बारे में है ये फिल्म?

फिल्म के नाम में रेफरेंस है इंडिया के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के भाषण का. 15 अगस्त 1947 को जब हमारा देश आज़ाद हुआ, तब उन्होंने आधी रात को यह स्पीच दी थी. इसी स्पीच में ये शब्द आए थे – ट्रिस्ट विद डैस्टिनी, यानी नियति से मुलाकात. इसमें आज़ादी पाने की ख़ुशी थी, और देश के आगे बढ़ने की सुनहरी उम्मीदें.

इतने सालों में देश ने तरक्की तो की, लेकिन यह सोचने वाली बात है कि इस तरक्की में किसे कितना हिस्सा मिला. अमीर और गरीब के बीच की खाई बढ़ती जा रही है. आदमी और औरत को अभी तक समाज में बराबरी के अधिकार नहीं मिले हैं. जाति व्यवस्था ऐसी है कि इतने दशकों बाद भी जाती नहीं है. इस एंथोलॉजी फिल्म में ये सामाजिक असमानताएं दिखाई गई हैं. फिल्म में तीन कहानियां हैं:

1. एक बिलियनेयर को समझ आता है कि कुछ चीज़ें ऐसी भी हैं जिन्हें रुपए से नहीं खरीदा जा सकता.
2. एक ‘तथाकथित नीची जाति’ के पति-पत्नी अपने परिवार के लिए नई ज़िंदगी बनाने की कोशिश में लगे हैं.
3. एक पुलिस वाला अपने पार्टनर की ख्वाहिशों को पूरी करने के लिए भ्रष्ट होता जा रहा है.

‘ट्रिस्ट विद डैस्टिनी’ के लोग

फिल्म की कास्ट अच्छी खासी है. इसमें विनीत कुमार, कनी कुसरुति, आशीष विद्यार्थी, सुहासिनी मणिरत्नम, जयदीप अहलावत और पालोमी घोष जैसे नाम शामिल हैं. विनीत कुमार अनुराग कश्यप की फिल्म ‘मुक्काबाज़’ में बॉक्सर के रोल में दिखे थे. इस रोल के लिए उनकी बहुत सराहना हुई थी. उन्होंने भी फिल्म की जीत पर ख़ुशी प्रकट की:

“हमें गर्व महसूस हो रहा है कि डैनी बोयेल और डेमीयन बशीर जैसे एकेडमी अवॉर्ड जीतने वाले विख़्यात ज्यूरी मेंबर्स ने ‘ट्रिस्ट विद डैस्टिनी’ को “समझदारी से सोची गई और ख़ूबसूरती से बनाई गई फिल्म” कहा है.”       

इसे डायरेक्ट किया है प्रशांत नायर ने, जिन्होंने फिल्म को लिखा भी है. इससे पहले प्रशांत 2015 में ‘अमरीका’ फिल्म बना चुके हैं. इस फिल्म ने भी पाम स्प्रिंग्स, कायरो और सनडांस फिल्म फेस्टिवल में अवॉर्ड जीते थे. प्रशांत ने प्राइम वीडियो की पॉपुलर वेबसीरीज़ ‘मेड इन हैवन’ के कुछ एपिसोड भी डायरेक्ट किए हैं. ‘ट्रिस्ट विद डैस्टिनी’ फिल्म के डायलॉग लिखे हैं नीरज पांडे और अवनी देशपांडे ने.

फिल्म को प्रोड्यूस किया मनीष मूंदड़ा की ‘दृश्यम फिल्मस’ ने. जो इससे पहले ‘मसान’, ‘अमरीका’, ‘धनक’, ‘न्यूटन’ जैसी बढ़िया फिल्में प्रोड्यूस कर चुके हैं. जो आम लोगों की कहानियां कहती हैं, और फिल्म फेस्टिवल में अवॉर्ड जीतती हैं. अब तो मनीष मुंद्रा की नज़र ऑस्कर पर है. ‘ट्रिस्ट विद डैस्टिनी’ पर एक ट्वीट में बोले:

” जब तक ऑस्कर नहीं मिल जाता, तब तक हम रुकने नहीं वाले”


वीडियो देखें – इंडिया का वो ऐक्टर, जिसे देखकर इरफ़ान ख़ान और नवाज़ुद्दीन भी नर्वस हो जाएं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इन राज्यों में शराब की होम डिलीवरी कैसे होगी, क्या हैं नियम और तरीके?

शराबियों ने सोशल डिस्टेंसिंग तोड़ी, तो सरकार ने यह तरीका निकाला है.

हॉस्पिटल ने कह दिया कि दाढ़ी कटवाओ, अब डॉक्टर प्रोटेस्ट कर रहे हैं

काम से हटाए जाने के बाद ये लोग विरोध कर रहे हैं.

क्या कोरोना मरीजों से प्राइवेट अस्पताल मोटी फीस वसूल रहे हैं?

मुंबई से ऐसे कई मामले आए हैं.

पूरी दुनिया में पेट्रोल-डीजल पर सबसे ज्यादा टैक्स भारत में लिया जा रहा है

इस मामले में भारत ने फ्रांस और जर्मनी को पीछे छोड़ दिया है.

इज़रायल का दावा, कोरोना की दवा मिल गयी!

बस बड़े लेवल पर निर्माण का इंतज़ार.

कोरोनावायरस : आंकड़े की जांच हुई तो पश्चिम बंगाल का सच सामने आ गया!

पश्चिम बंगाल का कोरोना से जुड़ी मौतों का आंकड़ा छिपा रहा है?

दिल्ली में शराब पर सरकार की ‘स्पेशल फीस’

..ताकि ‘रहें सलामत पीने वाले’.

लद्दाख BJP अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी, कहा- लद्दाख के लोगों के बारे में न पार्टी सुन रही, न प्रशासन

चेरिंग दोरजे दो महीने पहले ही अध्यक्ष बनाए गए थे.

सूरत में प्रवासी मज़दूरों का सब्र फिर जवाब दे गया है

इस बार भी बीच में पुलिस ही पिस रही है.

यूपी : CM योगी के मृत पिता के बहाने लॉकडाउन में बद्रीनाथ-केदारनाथ जा रहे थे विधायक, पुलिस ने धर लिया

नौतनवा के विधायक अमनमणि त्रिपाठी का है मामला.