Submit your post

Follow Us

MP: केंद्रीय कृषि मंत्री के काफिले की गाड़ी पर लोगों ने कीचड़ फेंका, इस बात से गुस्सा थे

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर शनिवार 7 अगस्त को मध्य प्रदेश के बाढ़ प्रभावित श्योपुर में थे. उन्हें यहां स्थानीय लोगों ने घेर लिया और उनके काफिले पर कीचड़ तक फेंका गया. यह शहर उत्तरी मध्य प्रदेश में मुरैना लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है, जहां से तोमर सांसद हैं. यहां इस सप्ताह की शुरुआत में भारी बारिश हुई थी.

तोमर जब बाढ़ पीड़ितों से मिलने शहर के कराटिया बाजार गए तो लोगों ने कहा कि वह बहुत देर से आए हैं. समाचार एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक वह अपनी कार से उतरे और रोती हुई महिलाओं समेत अन्य लोगों को सांत्वना दी. ये लोग काफी देर से उनके काफिले के पीछे आ रहे थे. चश्मदीदों ने कहा कि गुस्साए लोगों ने काफिले की गाड़ियों पर कीचड़ और लकड़ी के छोटे टुकड़े भी फेंके.

झेलना पड़ा भारी विरोध

दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक गुस्साए ग्रामीणों ने ना केवल उनकी कार का घेराव किया बल्कि उसके सामने लेट भी गए. सुरक्षाकर्मियों ने लोगों को रोकने की काफी कोशिशें कीं और आखिर में तोमर को गाड़ी से उतर कर लोगों की समस्याएं सुननी पड़ीं.

लोगों ने तोमर से शिकायत की कि उन्हें समय पर बाढ़ के बारे में सतर्क नहीं किया गया और यह बात जिला प्रशासन की विफलता थी. लोगों ने कहा कि बाढ़ के कारण बिजली काट दी गई और संचार की सेवाएं बंद कर दी गईं, लेकिन उन्हें इस बारे में कोई पूर्व सूचना तक नहीं दी गई. श्योपुर के पुलिस अधीक्षक संपत उपाध्याय ने कहा कि लोगों ने मंत्री से शिकायत की कि उन्हें देर से राहत पहुंचाई गई लेकिन मंत्री के काफिले का कोई वाहन क्षतिग्रस्त नहीं हुआ है.

मंत्री ने कही ये बात

केंद्रीय मंत्री ने बाद में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि स्थानीय प्रशासन ने लापरवाही बरती है. उन्होंने कहा कि एक बांध के टूटने की अफवाह ने भी काफी बड़ी समस्या पैदा कर दी थी. उन्होंने वादा किया कि जिले को हर तरीके की मदद उपलब्ध कराई जाएगी.

ANI की एक रिपोर्ट के मुताबिक तोमर ने कहा कि ग्वालियर और चंबल इलाके बाढ़ के कारण प्रभावित हुए हैं. मैंने लोगों और अधिकारियों से हाल जाना है. हम साफ पानी और खाने का इंतजाम कर रहे हैं. मैं लोगों से कहना चाहता हूं कि केंद्र और राज्य की सरकार, बीजेपी उनके साथ खड़ी है.

इस विरोध प्रदर्शन के बाद श्योपुर जिलाधिकारी राकेश श्रीवास्तव और एसपी संपत उपाध्याय का ट्रांसफर कर दिया गया है. आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के चंबल ग्वालियर इलाके में भारी बारिश के कारण 24 लोगों की मौत हुई जबकि हजारों प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया.


वीडियो- मध्य प्रदेश: डॉक्टर हरिसिंह गौर यूनिवर्सिटी को अंतरराष्ट्रीय वेबिनार क्यों रद्द करना पड़ा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.