Submit your post

Follow Us

घर जाने के लिए बसें नहीं दिखीं, तो प्रवासी मजदूरों ने पत्थरबाज़ी कर दी

उत्तर प्रदेश, बिहार जैसे राज्यों के लिए कई जगहों से मजदूर घर लौट रहे हैं. ऐसे ही कई लोग महाराष्ट्र से लौट रहे थे. इन लोगों ने मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले के बिजासन घाट पर तब विरोध प्रदर्शन किया, जब उन्हें लगा कि उन्हें आगे ले जाने के लिए और बसें नहीं हैं. बिजासन घाट महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश का बॉर्डर है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट मुताबिक़ कुछ लोगों ने हताशा में पुलिसवालों पर पत्थर भी फेंके. अधिकारियों ने जानकारी दी कि किसी को चोट नहीं पहुंची. मामले को जल्द ही कंट्रोल कर लिया गया.

सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे एक विडियो क्लिप में देखा जा सकता है कि प्रवासी मजदूरों ने जब पत्थरबाजी की और नेशनल हाईवे को रोकने की कोशिश की, तो पुलिस ने बल प्रयोग किया.

प्रशासन ने क्या कहा?

बड़वानी जिले के डीएम अमित तोमर ने बताया तनाव ज्यादा देर तक नहीं रहा. जल्द ही मामला सुलझा लिया गया. उन्होंने बताया कि 14 मई को महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश आने वाले लोगों की संख्या 12-13 मई की तुलना में बहुत ज्यादा थी. इन दिनों 100 और 125 बसें आई थीं. इन सभी को इंदौर तक जाना था और उसके बाद बिहार और उत्तर प्रदेश के लिए. 14 मई को 200 बसों की जरूरत पड़ी. बसों को नज़दीकी जिलों से बुलाना पड़ा. इस कारण से वक्त लगा.

जब 100 से ज्यादा बसें बिजासन घाट से चली गईं तो लोगों को लगा कि अब और बसें नहीं आएंगी और वे लोग वहीं अटक जाएंगे. इसके बाद लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया.

महाराष्ट्र सरकार प्रवासी मजदूरों को धुले से बिजासन घाट तक पहुंचा रही हैं. इनमें से अधिकतर लोग नासिक, अहमदनगर और औरंगाबाद जैसे जिलों में काम करते थे. मध्य प्रदेश सरकार ने 14 मई को बताया कि पिछले तीन दिनों में बिजासन घाट से 15 हज़ार लोगों को देवास तक पहुंचाया गया है.


विडियो- प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए सरकार क्या योजना लाई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बंगाल में हफ्तेभर से क्या बवाल चल रहा है, जिसमें 129 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं

‘तुम कोरोना फैला रहे हो’ कहकर हमला किया, हिंसा भड़की.

लंबे वक्त तक क्रिकेट के नक्शे पर पाकिस्तान को जिंदा रखा था इस जोड़ी ने

वो दिन, जब मिस्बाह-उल-हक़ और यूनिस खान ने क्रिकेट को अलविदा कहा

कश्मीर : चेकप्वाइंट पर गाड़ी नहीं रोकी तो आम नागरिक को CRPF ने गोली मार दी?

क्या है घटना का सच?

रेलवे ने टिकट कटा चुके लोगों को बड़ा झटका दिया है

इसका श्रमिक और स्पेशल ट्रेनों पर क्या असर पड़ेगा?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से पहले दिन वित्त मंत्री ने क्या-क्या ऐलान किया?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की डिटेल दी.

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?

गुजरात: CM बदलने की संभावना पर खबर चलाई, पुलिस ने राजद्रोह का केस लिख लिया

इस मामले में गुजरात सरकार की किरकिरी हो रही है.

किसी को सही-सही पता ही नहीं कि दिल्ली में कोरोना से कितनी मौतें हुईं!

सरकार और नगर निगम के आंकड़े अलग-अलग.