Submit your post

Follow Us

भारत बोला- चीन की इन हरकतों से सीमा पर तनाव और गलवान घाटी में हिंसक झड़प हुई

भारत और चीन के बीच तनाव जारी है. इस बीच 25 जून को भारत ने कहा कि पूर्वी लद्दाख सीमा पर दोनों देशों की सेनाओं के बीच जारी तनाव और गलवान घाटी की हिंसक झड़प के लिए चीन जिम्मेदार है. विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन ने सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए दोनों देशों के बीच हुए समझौतों का पालन नहीं किया. खासकर 1993 के समझौते का. यही वजह है कि सीमा पर दोनों देशों की सेनाओं के बीच तनातनी है.

मई से ही चीन ने सेना तैनात की

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि मई की शुरुआत से चीन एलएसी पर बड़ी संख्या में सैनिकों की तैनाती कर रहा है. साथ ही उसने सीमा के पास हथियारों का जमावड़ा भी लगा रखा है. चीनी सेना ने मई की शुरुआत में गलवान घाटी इलाके में भारतीय सेना की गश्त में बाधा डाली, लेकिन इसे ग्राउंड कमांडरों ने सुलझा लिया था. इसके बाद मई के मध्य में चीन के सैनिकों ने एलएसी पर यथास्थिति बदलने की कोशिश की, जिसका भारत ने सैन्य और कूटनीतिक तरीके से विरोध किया.

चीन समझौते का पालन नहीं कर रहा है?

विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि 6 जून को कोर कमांडरों की बैठक में दोनों सेनाओं के बीच एलएसी पर मौजूदा स्थिति से पीछे हटने पर सहमति बनी थी. लेकिन चीन ने गलवान घाटी में ढांचा खड़ा करने की कोशिश की, जिससे 15 जून को दोनों सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई. इसके बाद से दोनों पक्षों ने वहां बड़ी संख्या में अपने सैनिकों को तैनात कर रखा है. साथ ही तनाव खत्म करने के लिए सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर बातचीत जारी है.

प्रवक्ता ने कहा कि चीन की हरकतें सीमा पर शांति कायम रखने के लिए दोनों देशों के बीच हुए अलग-अलग समझौतों के अनुरूप नहीं हैं. खासकर 1993 के समझौते में साफ कहा गया है कि दोनों पक्ष एलएसी पर न्यूनतम सैन्य बल रखेंगे, लेकिन चीन ने ऐसा नहीं किया. मजबूरन भारत को भी सीमा पर अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ानी पड़ी है.

चीन की वजह से तनाव बढ़ा

प्रवक्ता ने कहा कि एलएसी पर चीन के अवैध दावों से भी तनाव बढ़ा है. गलवान घाटी में चीन की पोजिशन में बदलाव इसका प्रमाण है. भारत कहना है कि दोनों देशों के बीच संबंधों का आधार सीमा पर शांति है. इसलिए जरूरी है कि मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए स्थापित व्यवस्थाओं का इस्तेमाल किया जाए.

विदेश मंत्रालय का कहना है कि एलएसी पर जो मौजूदा स्थिति है, उसकी वजह से आगे भी माहौल खराब होगा. भारत ने एलएसी पर कभी भी स्थितियों से छेड़छाड़ नहीं की. ऐसी कोशिशें चीनी पक्ष की ओर से की गईं. इससे पहले भी अनुराग श्रीवास्‍तव ने कहा था कि भारत एलएसी पर यथास्थिति बरकरार रखे हुए है. गलवान वैली को लेकर चीन बढ़ा-चढ़ाकर, बेबुनियाद दावे कर रहा है, जो उसके पहले के रुख से उलट है. भारत यह स्‍वीकार नहीं करेगा.

क्या कहना है चीन का?

हालांकि चीन ने भरोसा दिया है कि सीमा पर जारी गतिरोध को खत्‍म करने के लिए वह भारत के साथ काम करने को तैयार है. राजधानी दिल्‍ली में चीन के राजदूत सुन वेईदोंग ने कहा कि भारत और चीन, दोनों ही अपने सीमा-विवाद सुलझाने में सक्षम हैं. चीन इस मसले पर किसी तीसरे पक्ष की मौजूदगी नहीं चाहता है. सीमा पर स्थिति नियंत्रण में और स्थिर है. चीनी राजदूत ने कहा कि हमें उम्‍मीद है कि भारतीय पक्ष भी सीमा पर शांति बनाए रखने की कोशिश करेगा. भारत कोई भी ऐसी कार्रवाई नहीं करेगा, जिससे सीमा पर स्थितियां और खराब हों.


गलवान वैली में हुई झड़प बाद चीन अब नई मुसीबत खड़ी कर रहा है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पैंगोंग और गलवान के बाद लद्दाख के इन इलाकों में चीन नई मुसीबत खड़ी कर रहा है

भारत और चीन के बीच तनाव बढ़ता ही जा रहा है.

राजस्थान में महाराणा प्रताप को लेकर फिर से हंगामा क्यों हो रहा है?

फिर से राजस्थान बोर्ड का सिलेबस चर्चा में है.

पतंजलि ने खांसी-सर्दी की दवा के लाइसेंस पर 'कोरोना की दवा' बना दी!

जारी हो गया है नोटिस

जिस वीडियो में भारत-चीन के सैनिक एक-दूसरे पर मुक्के बरसा रहे हैं, उसका सच क्या है?

वीडियो कब का है, कहां का है?

इंग्लैंड टूर से पहले पाकिस्तान के तीन क्रिकेटर कोविड पॉज़िटिव

अहम टूर से पहले पाकिस्तान को लगा झटका.

पटना के बैंक में दिन-दहाड़े 52 लाख रुपए की डकैती

अपराधियों ने बैंक में लगे CCTV की हार्ड डिस्क तोड़ दी.

अब लद्दाख की पैंगोंग झील के पास चीन की हरकत, भारतीय क्षेत्र में बना रहा है बंकर

सैटेलाइट इमेज एक्सपर्ट की बातें यही इशारा कर रही हैं.

भारतीय सेना के पूर्व अधिकारियों ने किस बात पर आपस में भयानक झगड़ा फ़ान लिया?

गौरव आर्या ने भीड़ से पिट जाने की बात कह डाली.

रेलवे की नौकरी के भरोसे न बैठें, रेलवे की जेबें खाली हैं!

कोरोना लॉकडाउन ने रेलवे का हाल खस्ता कर दिया है.

गलवान घाटी में भारत से लड़ाई पर चीन के लोग किस-किस तरह के सवाल उठा रहे हैं?

चीनी टि्वटर 'वीबो' पर कई पोस्ट लिखी गई हैं.